उत्तर प्रदेश में विश्वविद्यालय और कॉलेजों की परीक्षाएँ स्थगित हुई-जल्द घोषित होगी नई परीक्षा तिथि |

By | April 17, 2021

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने भी सभी विश्वविद्यालय और कॉलेजों की परीक्षाएँ स्थगित करने का निर्णय लिया है, राज्य सरकार द्वारा जल्द ही नई परीक्षा घोषित करने की संभावना है, सभी परीक्षार्थी घर पर रहे और परीक्षा की तैयारी करे |

कोरोनावायरस की स्थिति से भारत में बच्चा-बच्चा वाकिफ है कि कोरोनावायरस के कारण किस प्रकार लोगों की जान जा रही है। पहले तो कोरोनावायरस सें इतने ज्यादा लोग संक्रमित नहीं हुए। परंतु अब कोरोनावायरस की दूसरी लहर आई है। तो इस बार तो कोरोनावायरस से पहले से भी 10 गुना ज्यादा लोग संक्रमित हो रहे हैं और एक ही दिन में 1000 से भी ज्यादा लोग देश में कोरोनावायरस के कारण मर रहे हैं।

अब ऐसे में सरकार के द्वारा धीरे-धीरे करके सभी कामों को थोड़े और समय तक रोका जा रहा है ताकि लोगों को कोरोनावायरस की चपेट में आने से बचाया जा सके। अब बच्चों के भी अच्छे भविष्य को देखते हुए सरकार ने यह फैसला लिया है कि बच्चों की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया जाए ताकि बच्चे कोरोनावायरस की चपेट में आने से बच सकें।

इसीलिए उत्तर प्रदेश में 10वीं कक्षा की परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया था और 12वीं कक्षा की परीक्षाओं को कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया गया है। अब इस बात पर भी चर्चा चल रही है की स्टेट यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं को भी स्थगित कर दिया जाए। तो आगे हम आपको बताएंगे कि उत्तर प्रदेश में परीक्षाओं को लेकर क्या बड़े फैसले लिए जाएंगे।

उत्तर प्रदेश के बोर्ड एग्जाम हुए रद्द तथा कुछ की बढी़ तारीखें

  • भारत में उत्तर प्रदेश राज्य में दसवीं कक्षा की परीक्षाएं तो पहले ही रद्द की जा चुकी थी अब 12वीं कक्षा की परीक्षाओं को भी कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया गया है। इसके साथ साथ स्टेट यूनिवर्सिटी की सभी परीक्षाओं को भी 15 मई 2021 तक स्थगित कर दिया गया है। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने यह भी सूचना दी है कि देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के चलते शिक्षा मंत्रालय ने सीबीएसई बोर्ड की दसवीं की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं और 12वीं कक्षा की परीक्षाओं को फिलहाल थोड़े समय के लिए टाल दिया गया है। पहले यूपी बोर्ड की 10वीं तथा 12वीं की परीक्षाएं 8 मई से शुरू होनी थी।
UP State All Exam Postponed News
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने भी यह कह दिया है की मई में भी परीक्षाओं की तारीख को पर विचार किया जाएगा। मतलब की अगर मई में कोरोनावायरस के चलते हालात थोड़े सही हो जाते हैं तो उस समय परीक्षा के बारे में सोचा जाएगा। यदि मई के महीने तक भी कोरोनावायरस की वजह से स्थिति में कोई भी बदलाव नही हुआ। और अगर इसी प्रकार कोरोनावायरस का कहर टूटता रहा। तो फिर इन परीक्षाओं की तारीखों को आगे बढ़ाया जाएगा। फिलहाल 12वीं कक्षा की परीक्षाओं को 20 मई 2021 तक स्थगित किया गया है।

15 अप्रैल 2021 को हुई बैठक

15 अप्रैल 2021 को न्यूज़ चैनल team11 के साथ मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की एक समीक्षा बैठक ( review meeting )  हुई थी। जिसमें उन्होंने यह बताया है कि जब तक हालात नहीं सुधरेंगे तब तक परीक्षाओं की अगली तारीख को पर विचार नहीं किया जाएगा। इसके साथ-साथ आदित्यनाथ योगी ने 15 मई तक कक्षा 1 से 12वीं तक के स्कूल तथा अन्य कॉलेज भी बंद रखने का आदेश दे दिया है। ताकि कोई भी बच्चा कोरोनावायरस की चपेट में ना आ सके। आदित्यनाथ योगी ने यह भी कहा कि वह कुछ ऐसा फैसला नहीं लेना चाहते। जिसकी वजह से बच्चों का भविष्य खतरे में आ जाए या फिर बच्चों को कुछ नुकसान पहुंचे। इसीलिए जब तक हालात नहीं सुधरेंगे तब तक परीक्षाएं नहीं करवाई जाएंगी।

केंद्र सरकार ने सीबीएसई हाई स्कूल परीक्षाएं तो रद्द की है और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है। केंद्र सरकार के फैसले के पश्चात डिप्टी मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने भी उत्तर प्रदेश बोर्ड की परीक्षाओं को स्थगित करने के संकेत दिए हैं उनका कहना यह भी है कि उत्तर प्रदेश के बारे में निर्णय लेना आसान नहीं है। उन्होंने बताया की उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ( Uttar Pradesh Secondary Education Council ) का प्रयागराज बोर्ड दुनिया का सबसे बड़ा सीबीएसई बोर्ड है। जिसमें 10वीं तथा 12वीं के लगभग 56 से 57 लाख विद्यार्थी प्रतिवर्ष परीक्षाएं देते हैं।

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *