“12th Fail Book”- ट्वेल्थ फेल उपन्यास -IPS मनोज शर्मा की प्रेरणादायक कहानी

By | June 3, 2020

आईपीएस मनोज शर्मा पर आधारित “12th Fail Book”- ट्वेल्थ फेल उपन्यास” में पढ़ने को मिलेगा कि कैसे एक 12 वी फ़ैल पुलिस सेवा में आईपीएस अधिकारी बना |IPS Manoj Sharma की प्रेरणादायक कहानी

जब हम छोटे होते हैं, तबसे ही हमसे Doctor, Engineer और Pilot बनने की उम्मीद की जाने लगती है। और हमारे घर के सभी लोग हमारे बड़े और समृद्ध इंसान होने की कामना करने लगते हैं।

यही बात हमारे mind में भी बैठ जाती है। और हम भी बड़े होकर Doctor, Engineer, Pilot, या collector बनने का इरादा कर लेते हैं। और बड़ा आदमी बनने के सपने मन मे  बना लेते  हैं। और जैसे-जैसे हम बड़े होते जाते हैं। हमारे सपनो का सफर कठिन होता जाता है। (ये भी पढ़े रॉबर्ट टी. कियोसाकी द्वारा लिखी गई पुस्तक Rich Dad Poor Dad)

ऐसे ही संघर्ष की कहानी हम आपको आज बताने जा रहे हैं। यह कहानी मध्यप्रदेश के मुरैना जिले के IPS मनोज शर्मा की है। वर्तमान में मनोज शर्मा मुंबई पुलिस में एडिशनल कमिश्नर के पद पर कार्यरत हैं।

Twelfth Fail || 12th Fail  – IPS Manoj Sharma Inspirational Story

उनके जीवन के संघर्ष पर एक उपन्यास लिखा गया है। जिसका नाम ट्वेल्थ फैल रखा गया है। यह उपन्यास प्रकाशित हो चूका है । और ये उपन्यास अमेज़न की हिंदी बुक्स में बेस्ट सेलर है | इस लेख में हम आपको मनोज शर्मा के जीवन संघर्ष की कहानी का एक सार के रूप में बता रहें हैं। कि कैसे वह मनोज शर्मा से IPS मनोज शर्मा बनें।(सोचिये और अमीर बनिये Book Summary in Hindi)

ट्वेल्थ फेल -हारा वही जो लड़ा नहीं Book on IPS Manoj Sharma

अनुराग अनुराग पाठक द्वारा लिखी गई यह उपन्यास ट्वेल्थ फेल -हारा वही जो लड़ा नहीं अमेजॉन का बेस्टसेलर उपन्यास है और इस उपन्यास पर बॉलीवुड क्रिकेट राजनीति और सामाजिक संस्थाओं से जुड़े सेलिब्रिटीज ने भी इस पर Testimonial दिया है जैसे कि सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, राजू  हीरानी,  रजत शर्मा, आनंद कुमार, मनोज Vaajpeyi, अनुराग कश्यप,ओपी रावत, आदि |

Twelfth Fail Novel Testimonials

Amazon पर देखे इसकी बेस्ट प्राइस

IPS Manoj Sharma का जन्मस्थान तथा पढ़ाई – 

मनोज शर्मा का जन्म मध्यप्रदेश के मुरैना जिले की जौरा तहसील के बिलगांव में हुआ था। वह शुरुआत से ही पढ़ाई में कमजोर थे। जिसकारण उनकी life में संघर्षो का दौर बहुत ही जल्दी शुरू हो गया। (एनसीईआरटी बुक्स पीडीऍफ़ फ्री)

जब मनोज शर्मा ने 9th और 10th class की परीक्षा दी तो वह दोनों ही परीक्षाओ में बड़ी मुश्किल से third division में पास हो पाए थे। इतना होने के वाबजूद उन्हीने 12th class में math subject का चुनाव किया।

IPS Manoj Sharma - 12th Fail आईपीएस
IPS Manoj Sharma – 12th Fail आईपीएस

और वह 12th की परीक्षा में केवल हिंदी सब्जेक्ट में ही पास हो पाए। बाकी सभी subject में फैल हो गए। इसके बाद मनोज का मन काफी ज्यादा हतास हो गया था। फिर भी उन्होंने संघर्ष जारी रखा। मनोज की life के इसी संघर्ष की पूरी कहानी आपको ट्वेल्थ फैल में पढ़ने को मिलेगी।

मनोज शर्मा के संघर्ष की कहानी – 

मनोज को मिलने वाली हर असफलता ने उनका संघर्ष और बढ़ा दिया था। पर उन्होने कभी भी हार नही मानी। मनोज के परिवार के सदस्य चाहते थे। कि वह एक cleark बनें। पर मनोज को यह मंजूर नही था। जब वह गांव में भैंस चराने जाते थे, तो अक्सर वह उपन्यास पढ़ते रहते थे। जिसके कारण गांव के लोग उन्हें पढ़ाकू समझने लगे थे। पर इस बात से मनोज को बेज्जती महसूस होती थी।

बचपन के दोस्त का साथ –  

इस संघर्ष के बीच में मनोज को बचपन के दोस्त राकेश का साथ मिल गया। राकेश ने मनोज के टूटते हुए हौसले को संभाला और उसे कुछ बनने की प्रेरणा दी। उसने मनोज से कहा कि वह life में बहुत बड़ा इंसान बन सकता है, इसके लिए उसे संघर्ष जारी रखना होगा तभी वह सपने पूरे कर सकता है।

मनोज राकेश से प्रेरित हो गया और इस बार उसने 12th class की परीक्षा में 70% marks प्राप्त किये। और इसके बाद से ही मनोज collage की पढ़ाई में भी टॉपर्स की लिस्ट में शामिल हो गया। इस सफलता से मनोज का confidence बढ़ा और वह सफलता के लिए आगे अग्रसर हो गया।

मनोज शर्मा के जुनून ने बनाया IPS –   

अब मनोज के सर पर UPSC  की परीक्षा पास करने का जुनून सवार हो चुका था। इसलिए उन्होंने वर्षो तक ग्वालियर में रहकर UPSC की तैयारी की। और उसके बाद तैयारी के लिए दिल्ली चले गए। इस बीच उन्होंने तीन बार UPSC की परीक्षा दी। पर सफलता उनके हाथ नही लगी।

अब अपने जुनून को और अधिक मजबूत करके मनोज और अधिक पढ़ाई करने लगे। वह घंटो तक लगातार पढ़ते रहते, जिससे उनकी आंखों पर असर हुआ और उन्हें चश्मा लग गया। उनके जानने वाले तथा परिवार वाले उन्हें कहने लगे थे, कि UPSC उनके बस की बात नही है, इसलिए उन्हें अब घर आ जाना चाहिए।

पर मनोज का UPSC परीक्षा पास करने का जुनून मानो पहले से ज्यादा बढ़ गया था। वह अब सफलता प्राप्त किये बिना घर नही आना चाहते थे। और कुछ समय बाद उन्होंने परीक्षा पास करके अपना जुनून पूरा किया और सपने साकार कर लिए।

ट्वेल्थ फैल उपन्यास में मनोज शर्मा के इस सफलता ले पीछे के संघर्ष को विस्तार से बताया गया है। मनोज ने अपनी सफलता के द्वारा सबके दिल मे अपनी जगह बना ली और अपने गांव का नाम भी रोशन किया। आज कई सारे students मनोज के संघर्ष से motivate होते है। कि किस प्रकार मनोज ने एक जिद से अपने सपने पूरे किए। और मुम्बई कमिश्नर का पद प्राप्त किया।

UPSC का मनोज शर्मा का इंटरव्यू –  

मनोज ने बताया कि जब तीन बार असफलता के बाद चौथी बार प्री और मैंन्स की परीक्षा पास करने के बाद जब interview लिया गया। तो चयन समिति के offisers ने मनोज से पहला सवाल किया कि हमारे यहां परीक्षा पास करके इंटरव्यू में IIT और IIM qualified candidates आये है, तो हम आपका selection क्यो करें।

तो मनोज ने इस सवाल का बड़ा ही सहज जवाब देते हुए कहा कि में 12th class fail होने के बाद यहाँ तक पहुँचा हूँ, तो में समझता हूं मेरे अंदर कोई तो quality है। मनोज के इस जवाब ने चयन समिति के offisers का दिल जीत लिया और वह चयनित हो गए। इसके बाद मनोज का selection महाराष्ट्र कैडर में IPS के लिए हुआ।

तो दोस्तो IPS मनोज के जीवन संघर्ष को लेखक अनुराग पाठक ने अपने उपन्यास ट्वेल्थ फैल के द्वारा उन लोगो तक पहुँचाने की कोशिश है। जो परीक्षा में फैल होने के बाद अपने सपनो को पूरा करने की उम्मीद छोड देते हैं। यह उपन्यास ऐसे लोगो को प्रेरणा देगा। और वह आगे अपने सपने पूरे करने के लिए संघर्ष कर पाएंगे। 

follow us for social updates

2 thoughts on ““12th Fail Book”- ट्वेल्थ फेल उपन्यास -IPS मनोज शर्मा की प्रेरणादायक कहानी

  1. Abhishek Dubey

    Very very impressive and most motivated story I love this and i really feel that this is for me only I salute honrable manoj sharma ji

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *