परीक्षा दिलाने के लिए बाप ने साइकिल पर किया 105 किलोमीटर का सफर तय- रो दोगे आप यह दृश्य देखकर ।

परीक्षा दिलाने के लिए बाप ने साइकिल पर किया 105 किलोमीटर का सफर तय, देश में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, लेकिन दूसरी और एक बाप अपने बेटे को परीक्षा दिलाने के लिए करीब 105 किलोमीटर का सफर साईकिल से तय करता है, देश के मध्य प्रदेश राज्य से आया चौंकाने का वाला मामला सामने, आप भी इसकी कहानी सुनेंगे तो रो देंगे |

आए दिन हम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अनेकों खबरें पढ़ते रहते हैं । जहां एक तरफ भारत आजादी की 75 वीं वर्षगांठ मना रहा है, वहीं दूसरी ओर हाल ही में ही एक ऐसा दृश्य देखने को मिला है जिसे देखने के बाद यह महसूस हो रहा है कि अभी भी बहुत लोग ऐसे हैं, जो स्वतंत्र भारत में आज भी कहीं ना कहीं हर रोज बहुत मुश्किले सह रहे हैं l हाल ही में ही एक खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है l आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको उसी खबर के बारे में विस्तार से जानकारी देने वाले हैं l

दरअसल यह खबर मध्य प्रदेश की है और यह मध्य प्रदेश की एक न्यूज़ पेपर में छपी हुई है l हाल ही में ही यह खबर सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल हो रही है l चलिए आज हम आपको इस खबर के बारे में पूरी जानकारी देते हैं और इस खबर को पढ़ने के बाद आप कमेंट सेक्शन में हमें कमेंट करके जरूर बताना कि क्या वाकई में ही भारत पूरी तरीके से विकसित हो पाया है या फिर नहीं l

मध्य प्रदेश से आया चौंकाने वाला मामला

हाल ही में ही मध्य प्रदेश से एक चौंकाने वाली खबर आई है l खबर के अनुसार मध्य प्रदेश सरकार ने रुक जाना नहीं योजना के तहत दसवीं कक्षा और बारहवीं कक्षा के अभ्यर्थियों के लिए एक अच्छी मुहिम शुरू की है 
 रुक जाना नहीं योजना के तहत ऐसे अभ्यर्थी जो मध्य प्रदेश शिक्षा बोर्ड की दसवीं कक्षा और बारहवीं कक्षा में फेल हो चुके हैं, उन्हें सरकार की ओर से पास होने का एक और मौका दिया जा रहा है l

To get the exam, the father traveled 105 km on a bicycle

जो भी छात्र दसवीं कक्षा, 12वीं कक्षा में फेल हो गया है वह इस योजना के तहत दोबारा से परीक्षा देकर अपनी कक्षा में पास हो सकता है l ऐसा करने से उनका 1 साल बर्बाद भी नहीं होगा l इसी योजना के तहत हाल ही में ही मध्य प्रदेश के मांडू स्थित मनावर तहसील के शोभाराम को भी अपने बेटे को परीक्षा दिलवाने के लिए दूर 105 किलोमीटर स्थित धार में जाना था l

Notes & Job Update के लिए फॉर्म भरे

    बस बंद होने के कारण, साइकिल पर ही तय किया 105 किलोमीटर का सफ़र।

    जानकारी के लिए बता दें कि मध्य प्रदेश के मांडू स्थित मनावर तहसील के शोभाराम को अपने बेटे को परीक्षा दिलवाने के लिए 105 किलोमीटर स्थित धार परीक्षा केंद्र में जाना था l लेकिन उनके सामने मुसीबत यह थी कि बस बंद थी l बस बंद होने के कारण उनके पास जाने का कोई साधन नहीं था l

    इसलिए उन्होंने साइकिल से 105 किलोमीटर का सफर तय करने का फैसला किया l वह रात्रि एक दिन पहले परीक्षा केंद्र पर पहुंचने के लिए साइकिल पर अपने बेटे को पीछे बिठाकर निकले और वह अगले दिन सुबह 7:30 बजे परीक्षा केंद्र पर पहुंच गए l आपको जानकर हैरानी होगी कि लगातार इन्होंने 105 किलोमीटर तक साइकिल चलाकर परीक्षा केंद्र तक पहुंचने का सफर तय किया l बस सरकार की ओर से बंद ना की जाती, तो शोभाराम को पूरी रात साइकिल चलानी ना पड़ती l

    3 दिन का राशन भी लेकर आए हैं साथ में

    शोभाराम ने बताया कि उनके पुत्र की तीन परीक्षाएं होंगी l इसीलिए 3 दिन परीक्षा चलेगी l जिसके कारण वह 3 दिन का राशन भी साथ में ही लेकर आए हैं l अब इस दृश्य को देखकर आप ही बताइए कि यह तो हमने आपको एक ही कहानी बताई है l ना जाने रोज ऐसी कितनी कहानी होती है जो सरकार तक पहुंचने में नाकामयाब रहती है l

    शिमला के रोहड़ू की रेणुका ने कॉमनवेल्थ गेम में मचाई धमाल

    Drishti IAS के संस्थापक ने बताया उन्होंने कैसे की थी UPSC की तैयारी

    आज जहां देश एक तरफ भारत आजाद होने की 75 वीं वर्षगांठ और विकास का जश्न मना रहा है, वहां दूसरी तरफ यह दृश्य सब को परेशान कर सकता है कि भारत जैसे विकासशील देश में आज भी हजारों लाखों लोग ऐसे हैं जो किसी ना किसी कमी की वजह से काफी मुश्किल सहन कर रहे हैं l

     हम सरकार से यही उम्मीद करते हैं कि सरकार का ध्यान जल्द से जल्द ऐसे मामलों पर जाएगा और आम जनता के लिए सरकार बेहतर से बेहतर सुविधाएं प्रदान करेगी ताकि भारत का और भी ज्यादा विकास हो l

    Leave a Comment