3 दोस्तों ने ठग्गू के समोसे के नाम से शुरू किया व्यवसाय और बन गए करोड़पति-जानिए ठग्गू के समोसे इतने प्रसिद्ध कैसे हुए |

3 दोस्तों ने ठग्गू के समोसे के नाम से शुरू किया व्यवसाय और बन गए करोड़पति, जयपुर के 3 दोस्तों ने मात्र 3 लाख रूपये लोन लिया और बन गए करोड़पति, ठग्गू के समोसे के नाम से 14 तरह के बिकते है |

आपने अब से पहले बहुत से लोगों की मेहनत की कहानी सुनी होगी। इस बात को हम सभी जानते हैं कि जिस व्यक्ति को मेहनत करनी आती है तो वह जिंदगी में कभी भी असफल नहीं हो सकते हैं। ऐसी ही एक कहानी राजस्थान के तीन युवकों की भी है जोकि एक छोटी सी नौकरी करते थे।

उस छोटी सी नौकरी के साथ-साथ उन्होंने समोसे बेचना शुरू किया और आज वह तीनों दोस्त मिलकर सालाना दो करोड़ रुपए से भी अधिक कमा रहे हैं। आप सभी को जानकर काफी हैरानी हो रही होगी कि, कोई व्यक्ति समोसे बेच कर इतने अधिक पैसे कैसे कमा सकता हैं।

हम आपको बता दें कि इनके समोसे है ही इतनी अलग कि जो भी इन्हें खाता है तो वह अगली बार अपने साथ 5-6 लोगों को समोसे खिलाने के लिए जरूर लेकर आता हैं। आज के समय में इनकी राजस्थान में अलग-अलग जगह ब्रांच भी है जिनमें अलग-अलग तरह के समोसे बेचे जा रहे हैं। आगे हम आपको इन तीनों दोस्तों की सफलता की कहानी बताते हैं कि, किस प्रकार इन्होंने अपनी मेहनत के दम पर इस मुकाम को हासिल किया हैं।

Notes & Job Update के लिए फॉर्म भरे

    “ठग्गू के समोसे” के नाम से बिकते हैं, 14 तरह के समोसे

    • जिन 3 दोस्तों के समोसो की हम बात कर रहे हैं उनके समोसे “ठग्गू के समोसे” के नाम से बिकते हैं। लोगों का मानना यह है कि जो भी इनके बनाए हुए अलग-अलग तरह के समोसे खाता है तो, इनके समोसो का स्वाद उस व्यक्ति को ठग लेता हैं। इसीलिए इनके समोसो को “ठग्गू के समोसे” कहा जाता है।

    • आपको जानकर हैरानी होगी कि इनके पास एक दो नहीं बल्कि पूरे 14 तरह के समोसे मिलते हैं जिन्हें खाने के लिए ग्राहक दूर-दूर से आते हैं। इन तीनों दोस्तों ने अपनी कड़ी मेहनत से इस व्यवसाय को शुरू किया था जिसके बाद आज राजस्थान ही नहीं बल्कि पूरे देश में इनके समोसे प्रसिद्ध हैं।

    इस प्रकार शुरू किया, समोसे बेचना

    • जिन तीन दोस्तों की बात हम कर रहे हैं उनका नाम Mukesh Golia, Vicky तथा Pavs Nagpal है। यह तीनों ही दोस्त पढ़ाई पूरी करने के बाद मार्केटिंग की नौकरी करते थे और वहीं पर इनका मिलना जुलना होता रहता था।

    • एक दिन जब नौकरी के बाद यह तीनों ही एक चाय की दुकान पर बैठकर चाय पी रहे थे तो उस समय इन तीनों के ही दिमाग में आया कि यदि हम समोसे में आलू की जगह कुछ और ट्राई करें तो, इस प्रकार के समोसे लोगों को बहुत ही ज्यादा पसंद आएंगे साथ ही यह काफी ज्यादा बिकेंगे।

    • ऐसा सोचने के बाद इन्होंने Market में Research किया और फिर तीनों ही दोस्तों ने मिलकर अपने घर पर 12 Variety के 60 से 70 समोसे तैयार कीए। फिर 1 जनवरी 2015 के दिन नए साल पर इन तीनों ही दोस्तों में सड़क पर समोसे बेचना शुरू किया।

    • आपको जानकर हैरानी होगी कि जब यह 7 से 70 समोसे लेकर सड़क पर खड़े हुए थे तो, उस समय केवल 10 मिनट में ही इनके सभी समोसे बिक गए थे। जिन लोगों ने इनके समोसे खाए तो उन सभी ने इनके समोसो की काफी तारीफ भी की थी। साथ ही सबने यह भी कहा कि हमने आज तक इतने स्वादिष्ट समोसे नहीं खाए हैं।

    नौकरी छोड़ कर 3 लाख रुपए का लोन लेकर शुरू किया, खुद का व्यवसाय

    • जब इन तीनों ही दोस्तों ने यह देखा कि लोग इनके द्वारा बनाए गए समोसे में काफी ज्यादा दिलचस्पी दिखा रहे हैं तो, इन्होंने अपने इस व्यवसाय को बड़े स्तर पर बढ़ाने का सोच लिया। व्यवसाय को जब बड़े स्तर पर बढ़ाने का सोचा जाता है तो, उस समय सबसे पहले जरूरत पैसों की ही पड़ती हैं।

    • इसीलिए इन तीनों ही दोस्तों ने अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए 3 दोस्तों में से 2 ने तो नौकरी छोड़ दी। नौकरी छोड़ने के बाद इन्होंने अपनी सेविंग के साथ-साथ बैंक से 3 लाख रुपए का लोन लेकर अपना सेटअप तैयार किया और वहीं पर शुरुआत में 12 वैरायटी के समोसे बेचने शुरू किए।

    • आपको जानकर हैरानी होगी कि जब इन्होंने नौकरी छोड़ी तो उस समय इनका सालाना पैकेज 8 लाख रुपए था। फिर भी इन्होंने अपना खुद का व्यवसाय खोलने के लिए रिस्क लेना उचित समझा उसी का नतीजा है कि आज यह सालाना करोड़ों रुपए कमा रहे हैं।

    आज 4 ब्रांच पर बिक रहे हैं, 14 तरह के समोसे

    • वर्तमान समय में इन तीनों ही दोस्तों की मेहनत के बलबूते पर इन्होंने “ठग्गू के समोसे” के नाम से जयपुर में 4 ब्रांच खोल ली हैं। इन चारों ही ब्रांच की सबसे खास बात यह है कि, इन पर 14 वैरायटी के समोसे मिलते हैं जो कि हमारे देश में कहीं पर भी नहीं मिल सकते हैं।

    • आज Thagu Ke Samose नाम एक बहुत ही बड़ा ब्रांड बन चुका है जो कि जयपुर में वैशाली नगर, मानसरोवर, भांकरोटा तथा मालवीय नगर में मौजूद है। इनकी सभी ब्रांचो का किचन केवल वैशाली नगर में ही हैं। वैशाली नगर में ही इनके समोसे का मसाला तैयार होता है और फिर यहीं से यह अलग-अलग आउटलेट पर जाता है।

    तीनों ही दोस्तों ने, 25 बेरोजगारों को दिया रोजगार

    आपको जानकर हैरानी होगी कि जो तीन दोस्त खुद ही मार्केटिंग की नौकरी करते थे तो, वह आज के समय में लगभग 25 लोगों को रोजगार दे रहे हैं। इन तीनों की वजह से इन 25 लोगों के घर का खर्चा चल रहा है। इन काम करने वाले कर्मचारियों में लड़कों के साथ-साथ लड़कियां भी शामिल हैं।

    इस प्रकार करते हैं, सालाना 2 करोड का व्यवसाय

    • इनकी दुकान पर एक समोसे की कीमत लगभग 20 रुपए से शुरू होती है और रोजाना इनकी एक ब्रांच से लगभग 3,000 समोसे की बिक्री होती हैं।

    • यदि हम 1 साल का हिसाब लगाएं तो यह 1 साल में लगभग दो करोड़ रुपए का बिजनेस करते हैं। यह भी बताया जा रहा है कि, यह तीनों ही दोस्त मिलकर अब लखनऊ, अजमेर के साथ-साथ अन्य शहरों में भी जल्द ही “ठग्गू के समोसे” की ब्रांच खोलने वाले हैं।

    1 thought on “3 दोस्तों ने ठग्गू के समोसे के नाम से शुरू किया व्यवसाय और बन गए करोड़पति-जानिए ठग्गू के समोसे इतने प्रसिद्ध कैसे हुए |”

    Leave a Comment