सुप्रीम कोर्ट ने बारहवीं कक्षा के फार्मूले पर लगाई मुहर-जल्द जारी होगा परिणाम |

By | June 19, 2021

सुप्रीम कोर्ट ने बारहवीं कक्षा के फार्मूले पर लगाई मुहर, CBSE द्वारा जल्द ही कक्षा 12th का रिजल्ट जारी करने की संभावना है, जून या जुलाई माह में कक्षा 10वीं और 12वीं का परिणाम जारी हो सकता है, नए फार्मूला के आधार पर ही रिजल्ट जारी होगा |

जैसे ही हम सभी जानते ही हैं कि कोरोनावायरस के दौरान भारत के मुख्यता सभी राज्यों में बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी| कुछ राज्य ऐसे हैं जिन्होंने बोर्ड की परीक्षाएं करवा ली थी| अब ऐसे में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के सामने यह मुश्किलें खड़ी हो गई थी की बारहवीं कक्षा के परीक्षाओं के बिना ही बच्चों को 12वीं कक्षा में पास कैसे किया जाए|

मुश्किल के चलते केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने एक फार्मूला बनाया है| जिस फार्मूले के आधार पर ही सभी विद्यार्थियों को नंबर दिए जाएंगेl आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई के द्वारा बनाए गए फार्मूले को अप्लाई करने के लिए मंजूरी भी दे दी है| वहीं दूसरी ओर असम, त्रिपुरा , पंजाब, आंध्र प्रदेश कि राज्य सरकार 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा रद्द करने की मांग उठा रही है|

CBSE 12th Result Formula News

सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई अब 21 जून 2021 को होगी|केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अनुसार बारहवीं कक्षा के फाइनल नतीजे तैयार करने के लिए 30 : 30: 40 का फार्मूला अपनाया जाएगा| इस फार्मूले को बनाने के लिए 13 सदस्यों की एक समिति बनाई गई थी| आइए जानते हैं कि यह फार्मूला कैसे काम करेगा|

12वीं कक्षा के नतीजे इस फार्मूले के आधार पर घोषित किए जाएंगे|

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा यह फैसला लिया गया है कि विधार्थी की दसवीं कक्षा के 30% अंक एवं 11वीं कक्षा के 30% अंक के साथ-साथ 12वीं कक्षा के प्री बोर्ड में जो परीक्षा हुई थी उनका 40% अंक लेकर इन तीनों को मिलाकर जो भी अंक आएंगे वहीं बच्चों के बारहवीं कक्षा के फाइनल अंक होंगे| दसवीं कक्षा के जो 30% अंक दिए जाएंगे वह 30% अंक टॉप तीन विषय के लिए जाएंगे| वही 11वीं कक्षा के 30% अंक फाइनल परीक्षा में प्राप्त किए गए अंकों का औसत होगा|

बारहवीं कक्षा की प्री बोर्ड परीक्षा जिसमें यूनिट टेस्ट और मिड टर्म परीक्षा आदि शामिल है इन सभी के आधार पर 40% अंक लिए जाएंगे|

सभी की जानकारी के लिए बता दें कि यह अंक केवल थ्योरी विषय के अंकों के आधार पर ही लिए जाएंगे| सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखने वाले अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने यह भी बताया है कि बारहवीं कक्षा के नतीजे 31 जुलाई 2021 तक जारी कर दिए जाएंगे| इसी प्रक्रिया में सभी स्कूलों को यह आदेश दिया जाएगा कि वह 28 जून 2021 तक सभी विद्यार्थियों के अंक अपलोड कर दें| ताकि बारहवीं कक्षा के अंतिम परिणाम घोषित करने में किसी भी प्रकार की अनदेखी ना हो|

बारहवीं कक्षा के नतीजों से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न

बारहवीं कक्षा के फाइनल नतीजे किस आधार पर तैयार किए जाएंगे और इनमें थ्योरी विषय की गणना किस प्रकार की जाएगी ?

बारहवीं कक्षा के फाइनल नतीजे केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा बनाए गए फार्मूले के आधार पर ही घोषित किए जाएंगे| इस फार्मूले में 10वीं एवं 11वीं कक्षा के फाइनल अंक एवं 12वीं कक्षा की प्री बोर्ड परीक्षाओं में आए अंकों के आधार पर अंको की गणना की जाएगी I अंको की गणना सिर्फ उन्हीं विषय के अंकों के आधार पर की जाएगी जो विद्यार्थी के थ्योरी विषय में आए होंगे| प्रैक्टिकल के अंक इस फार्मूले में इस्तेमाल नहीं किए जाएंगे|

ऐसे छात्र जो सरकार के इस निर्णय से खुश नहीं हैं और वे यह चाहते हैं, कि उनके अंतिम परिणाम इस फार्मूले पर आधारित ना हो, तो उनके लिए क्या सुविधा दी जाएगी ?

यदि कोई ऐसे छात्र हैं जो इस फार्मूले से बिल्कुल भी संतुष्ट नहीं है और वह यह मानते हैं कि इस फार्मूले से उनके नतीजे अच्छे नहीं आएंगे तो वह कोरोनावायरस के सही होने तक इंतजार कर सकते हैं| केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा उन्हें बाद में लिखित परीक्षा देने की अनुमति होगी| लिखित परीक्षा में जितने भी अंक विद्यार्थी के आएंगे वही अंक उस विद्यार्थी के फाइनल अंक माने जाएंगे| वैसे तो अभी अंको की गणना करने के लिए बनाए गए इस फार्मूले पर किसी भी विद्यार्थी ने असंतुष्टि नहीं दर्शाई है|

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *