IIT & NIT के बाद IIIT मे एडमिशन लेना चाहते है छात्र, GFTI जैसे सरकारी संस्थानों मे प्रवेश के लिए रूचि काफ़ी कम।

JEE Advanced Result 2022 आने के बाद प्रतियोगी छात्रों मे अपनी रैंक के अनुसार अच्छे कॉलेज लेने की होड़ लगी हुई है। जिसमे अच्छी रैंक वाले ज्यादातर छात्र IIT, NIT  जैसे देश के प्रतिष्ठित संस्थानों मे जाते है। लेकिन जिनको IIT, NIT मे एडमिशन नहीं मिलता है। वे अभ्यार्थी केंद्र अथवा राज्यों के अच्छे सरकारी कॉलेज मे एडमिशन लेते है। जिसमे government funded technical institution (GFTI )जैसे संस्थान शामिल है।

लेकिन इस बार छात्रों की रूचि बदली हुई लग रही है।IIT तथा NIT मे एडमिशन को लेकर चल रही तीसरे राउंड की कॉउंसलिंग मे देखा गया है कि छात्र सरकारी कॉलेज की तरफ कम रुझान ले रहे है।क्योंकि गवर्नमेंट फंडेड टेक्निकल इंस्टिट्यूशन (GFIT) की opening व Closing rank दूसरे संस्थानों से काफी अधिक है। आइए पोस्ट के माध्यम से जानते हैं, कि छात्रों का ऐसा रवैया क्यों हो रहा है।

Government funded technical institution (GFTI ) मे कम रूचि क्यों ले रहे है छात्र,

 आईआईटी, एनआईटी की सीटों को भरने के लिए third round की काउंसलिंग पूरी हो चुकी है। तीसरे राउंड की काउंसलिंग में यह देखा गया है, कि छात्र आईआईटी, एनआईटी के बाद ट्रिपल आईटी मे एड्मिशन ले रहे हैं। जबकि government funded technical institution (GFIT) मे एडमिशन ट्रिपल आईटी के बाद यानी चौथे नंबर पर ले रहे हैं।

IIT NIT Admission Jossa counselling

जानकारों के अनुसार, छात्रों द्वारा सरकारी कॉलेज में एडमिशन इसलिए नहीं लिया जा रहा है, क्योंकि गवर्नमेंट फंडेड टेक्निकल इंस्टीट्यूशन की ब्रांडिंग नहीं हुई है। जबकि अच्छे private college एडमिशन लेने के लिए अपने कॉलेज की अच्छी ब्रांडिंग करते हैं। जिस वजह से छात्रों का झुकाव आईआईटी, एनआईटी के बाद ट्रिपल आईटी की तरफ गया है।

Govt Job Update & Exam Notes के लिए फॉर्म भरे

सेंट्रल यूनिवर्सिटी किशनगढ़,अजमेर की क्लोजिंग रैंक भी रही ज्यादा

 सेंट्रल यूनिवर्सिटी किशनगढ़,अजमेर मे computer science branch की ओपनिंग रैंक 33,623 और क्लोजिंग रैंक 39,183 रही है। यानी तीसरे राउंड की काउंसलिंग में जो भी उम्मीदवार कंप्यूटर साइंस ब्रांच लेना चाहते थे, उनकी रैंक 33,623 से 39,183 के बीच होनी चाहिए थी। इसका साफ-साफ मतलब यह है, कि काउंसलिंग में प्रतिभाग करने वाले उम्मीदवार सरकारी कॉलेज से मुंह मोड़ रहे हैं। जबकि सबको पता है, कि सेंट्रल यूनिवर्सिटी किशनगढ़,अजमेर government funded technical institution (GFIT) है।

 क्योंकि उम्मीदवारों के लिए सबसे अच्छी ब्रांच computer science है।लेकिन जब उम्मीदवारों को अच्छा कॉलेज नहीं मिल पा रहा है, तो उन्होंने तीसरे राउंड की काउंसलिंग में computer science branch को छोड़कर NIT Silchar, NIT Sikkim, NIT meghalay, NIT Nagaland और NIT Arunachal Pradesh मे इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल  और सिविल इंजीनियरिंग ब्रांच को लेना पसंद किया है। यानी उम्मीदवारों के लिए ब्रांच से ज्यादा कॉलेज महत्वपूर्ण है।

काउंसलिंग में उम्मीदवार ब्रांच की अपेक्षा कॉलेज को ज्यादा महत्व दे रहे हैं  

एजुकेशन एक्सपर्ट देव शर्मा, ने यह बताया है, कि काउंसलिंग में सबसे पहले उम्मीदवार computer science branch को देख रहे हैं। अगर यह ब्रांच उनको अच्छे कॉलेज जैसे IIT, NIT से मिलती है , तो उम्मीदवार उसका चयन कर रहे हैं। लेकिन कंप्यूटर साइंस ब्रांच अच्छे कॉलेज से नहीं मिल रही है, तो उमीदवारों द्वारा फिर branch कोई मायने नहीं रखती है। उनके द्वारा फिर अच्छे कॉलेज को ही प्राथमिकता दी जा रही है। चाहे कॉलेज कितनी भी दूर क्यों ना हो।

इसके अलावा देव शर्मा ने यह भी बताया,कि अच्छे प्राइवेट संस्थान, advertisement के जरिए, अपनी अच्छी ब्रांडिंग कर रहे हैं। जिससे छात्र गवर्नमेंट फंडेड टेक्निकल इंस्टीट्यूशंस (GFIT) की तरफ नहीं जा रहे हैं। गवर्नमेंट फंडेड टेक्निकल इंस्टीट्यूशंस (GFIT) को कॉलेज चयन में चौथी प्राथमिकता दे रहे हैं।

IIIT मे एड्मिशन की तरफ ज्यादा जा रहे है छात्र

 Indian Institute of Information Technology(IITs), जो कि अपने आप में autonomous institution  है, जो सूचना प्रौद्योगिकी तथा कम्युनिकेशन के लिए उच्च शिक्षा प्रदान करता है। पूरे भारत में 25 IIIT हैं। जोकि  पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप(पी पी पी ) मॉडल पर चलते हैं।  IIT और NIT मे एडमिशन के लिए चल रही counselling में छात्रों की तीसरी प्राथमिकता ट्रिपल आईटी है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि एक तो इनकी अच्छी ब्रांडिंग है। दूसरा छात्रों का ज्यादातर रुझान कंप्यूटर साइंस की तरफ भी है।

इसलिए अगर उम्मीदवारों को आईआईटी और एनआईटी मे computer science branchनहीं मिलती है,तो वे ट्रिपल आईआईटी मे एडमिशन ले रहे हैं।हमारे देश में total 25 IIIT है, जिनमें से पांच गवर्नमेंट फंडेड है, बाकी 20 IIIT पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल पर आधारित है। आइए देखते हैं, कौन-कौन से  IIIT हमारे देश में मौजूद हैं।

  •  Atal Bihari Vajpayee Indian Institute of Information Technology and Management,Gwalior
  • Indian Institute of Information Technology,Allahabad
  •  Indian Institute of Information Technology design and manufacturing Jabalpur
  •  Indian Institute of Information Technology design and manufacturing Kurnool
  •  Indian Institute of Information Technology design and manufacturing Kanchipuram
  •  Indian Institute of Information Technology Chittoor
  •  Indian Institute of Information Technology Guwahati
  •  Indian Institute of Information Technology Kalyani
  •  Indian Institute of information Technology Una
  •  Indian Institute of Information Technology Vadodara
  •  Indian Institute of Information Technology Kota
  •  Indian Institute of Information Technology tiruchipalli
  •  Indian Institute of Information Technology Sonipat
  •  Indian Institute of Information Technology Manipur
  •  Indian Institute of Information Technology Lucknow
  •  Indian Institute of Information Technology Kottayam
  •  Indian Institute of Information Technology Dharwad
  •  Indian Institute of Information Technology Pune
  •  Indian Institute of Information Technology Bhopal
  •  Indian Institute of Information Technology Agartala
  •  Indian Institute open formation Technology Nagpur
  •  Indian Institute of Information Technology Ranchi
  •  Indian Institute of Information Technology Surat
  •  Indian Institute of Information Technology Bhagalpur.

जोसा काउंसलिंग अब अंतिम चरण में

 Joint seat allocation authority (JoSAA) को भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा स्थापित किया गया है। जिसमें भारत के top 114 Institute मे एकेडमिक सीटों को भरा जाएगा। जिसमें 23 आईआईटी, 31 एनआईटी, 25 lllT तथा 33 government fund date Technical Institute (GFIT) शामिल है। जोसा के द्वारा academic year 2022- 2023 के लिए काउंसलिंग का कार्यक्रम चल रहा है।

अभी तीसरे राउंड की काउंसलिंग पूरी हो चुकी है। अब कल से चौथे राउंड की काउंसलिंग शुरू हो जाएगी। यानी अब अंतिम चरण में ही जोसा काउंसलिंग चल रही है। काउंसलिंग के समाप्त होने के बाद IIT, NIT और अन्य जीएफआईटी का फर्स्ट ईयर सेशन शुरू होगा। पिछली बार की तरह इस बार भी काउंसलिंग में टॉपर की पहली पसंद computer science branch ही रही है।

जोसा 2022 मे कुछ प्रतिष्ठित संस्थानों की परफॉर्मेंस को देखते हैं

 जोसा 2022 मे चल रही काउंसलिंग में आइए कुछ प्रतिष्ठित संस्थानों की ओपनिंग तथा क्लोजिंग रैंक के आधार पर परफॉर्मेंस को देखते हैं।

  •  गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय हरिद्वार मे computer science branch की ओपनिंग रैंक 33,136 और क्लोजिंग रैंक 58,612 रही है। जो कि अपने आप में बहुत ज्यादा है। क्योंकि यह गवर्नमेंट फंडेड टेक्निकल इंस्टिट्यूट है।
  •  इसके अलावा गुरु घासीदास विश्वविद्यालय बिलासपुर की ओपनिंग रैंक 30,701 तथा क्लोजिंग रैंक 49,692 है। जिसका सीधा सीधा मतलब यह है, कि उम्मीदवारों का रुझान सरकारी कॉलेज की तरफ नहीं है।

इस बार फिर से आईआईटी में चलेगा ऑफलाइन सेशन

Covid 19 से पहले जिस प्रकार आईआईटी में ऑफलाइन सेशन चलता था, उसी प्रकार इस बार से ऑफलाइन सेशन ही चलेगा। क्योंकि कोरोनावायरस वाले 2 साल में आईआईटी में छात्रों की पढ़ाई online ही चलती थी। जिसकी वजह से उनको प्रैक्टिकल एक्स्पोज़र पर कम काम ही मिल पाता था। इससे उम्मीदवारों की practical knowledge नहीं हो पाती थी।

आईआईटी के साथ अन्य संस्थानों में भी ऑनलाइन मोड में ही एजुकेशन दी जा रही थी। लेकिन करोना लहर खत्म होते ही दोबारा से offline classes फिर से शुरू हो जाएंगी। इस संबंध में सभी IITs द्वारा तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। अब नए सेशन में छात्र अच्छी तरह पढ़ाई कर सकेंगे।

Leave a Comment