सचिन ने 31 लाख का पैकेज छोड़ा-UPSC में 7वीं रैंक मिली, पिता के सपने को साकार किया |

By | August 3, 2021

सचिन ने 31 लाख का पैकेज छोड़ा, लखनऊ के सचिन ने UPSC परीक्षा में सातवीं रैंक प्राप्त कर पिता के सपने को पूरा किया, सचिन के पिता श्री संजय सिंह ने बताया कि UPSC परीक्षा के लिए बेटे ने दिल्ली जाकर तैयारी करी,

एक अच्छी नौकरी करने का सपना तो हर कोई छात्र देखता ही है और जब अच्छी नौकरी मिल जाती है, तो कोई भी उस नौकरी को नहीं छोड़ना चाहता |  आज के समय में नौकरी मिलना काफी मुश्किल हो गई हैं | अब ऐसे में अगर किसी व्यक्ति को नौकरी की शुरुआत में ही 31 लाख का पैकेज मिल जाए तो क्या वह नौकरी छोड़ सकता है |

आप यही सोच रहे होंगे, कि इतनी सैलरी सालाना मिलने पर तो कोई भी नौकरी कैसे छोड़ना चाहेगा | लेकिन हम आपको बता दें कि भारत के एक शख्स ऐसे हैं, जिन्हें एक प्राइवेट नौकरी में सालाना 31 लाख रुपए का पैकेज मिल रहा था, लेकिन फिर भी उन्होंने अपने पिता का सपना पूरा करने के लिए इस नौकरी को ठुकरा दिया क्योंकि उनके पिता कुछ और ही चाहते थें, अपने जीवन में सफल होने का सपना तो हर कोई देखता है, लेकिन इतने बड़े मुकाम पर आकर फिर से वापस जाना बहुत ही कम लोग सोचते हैं |

प्रशासनिक सेवा की तैयारी के लिए छोड़ी नौकरी

  • उत्तर प्रदेश राज्य में जौनपुर जिले में रहने वाले सचिन ने अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए 31 लाख सालाना पैकेज की नौकरी को ठुकरा दिया | उनके पिता नहीं चाहते थे कि उनका बेटा एक Private Company में नौकरी करें | उनके पिता यह चाहते थे कि, उनका बेटा Administrative Services की तैयारी करके सफलता प्राप्त करें और देश की सेवा करें |
Sachin Singh UPSC 7th Rank
  • सचिन के पिता श्री संजय सिंह Primary School में Principal हैं | वह आर्थिक तौर पर ज्यादा अमीर तो नहीं है, लेकिन सचिन के पिता ने अपने बेटे की पढ़ाई में कोई भी कसर नहीं छोड़ी | सचिन ने अपनी 10वीं तक की पढ़ाई तो गांव के स्कूल में ही की थी, लेकिन गांव में अच्छे स्कूल ना होने के कारण सचिन लखनऊ शहर में आ गए थे और फिर उन्होंने वहीं से 12वीं कक्षा पास की |
  • सचिन पढ़ाई लिखाई में बहुत ही अच्छे थे, इसीलिए उन्होंने 12वीं कक्षा के पश्चात IIT की तैयारी करना शुरू कर दिया | फिर उनका आईआईटी में सिलेक्शन भी हो गया IIT में Selection होने के बाद सचिन ने IIT से Computer Science की Trade से B.Tech की पढ़ाई की |

कैंपस प्लेसमेंट के माध्यम से लगी नौकरी

  • जब सचिन ने IIT से B.Tech की पढ़ाई पूरी की तो फिर Campus Placement के माध्यम से उनकी नौकरी साल 2017 में Goldman Sachs Company के बेंगलुरु ऑफिस में लग गई | इसी नौकरी में सचिन को 31 लाख रुपए का सालाना पैकेज मिल रहा था | अपनी इस कामयाबी को लेकर सचिन बहुत ही उत्साहित थे, कि उन्हें इतनी बड़ी कामयाबी मिली है, लेकिन उन्हें इतनी बड़ी कामयाबी मिलने के पश्चात भी उनके पिता बिल्कुल भी खुश नहीं थें, क्योंकि वह अपने बेटे को Private Job करते नहीं देखना चाहते थे वह सिर्फ यही चाहते थे कि उनका बेटा Administration Officer बनकर अपने पिता का नाम रोशन करें |
  • सचिन के पिता ने सचिन को बताया कि मेरी यह इच्छा है, कि तुम Administrative Services की तैयारी करके देश के लोगों के बीच में रहकर उनकी सेवा करो | वैसे तो सचिन को Civil Services की परीक्षा के बारे में बिल्कुल भी ज्ञान नहीं था, लेकिन फिर भी उन्होंने अपने पिता के इस सपने को पूरा करने के लिए अपनी नौकरी को छोड़ दिया |

दिल्ली जाकर की परीक्षा की तैयारी

  • जब सचिन ने अपनी नौकरी को छोड़ दिया तो उसके पश्चात वह अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए दिल्ली चले गए | दिल्ली में सचिन ने Civil Services की तैयारी करने के लिए Coaching भी प्राप्त की | फिर उन्होंने जब पहली बार Civil Services की Examination दी तो वह कामयाब नहीं हो पाए, लेकिन दूसरी बार सचिन ने अपनी परीक्षा पास करने के लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत की और जब दूसरी बार परीक्षा हुई तो सचिन ने UPPCS की परीक्षा में सफलता तो हासिल की ही, इसी के साथ-साथ उन्होंने इस परीक्षा में 7वां रैंक हासिल किया |
  • इसी वजह से उन्होंने अपने पिता का नाम  रोशन किया, इसी के साथ-साथ अपने पिता का सिर भी गर्व से ऊंचा कर दिया |
  • एक Interview के दौरान सचिन ने यह भी बताया था, कि उनकी Administrative Services में कोई भी रुचि नहीं थी, लेकिन फिर भी उन्होंने अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए दिन रात मेहनत करके इस मुकाम को हासिल किया |
follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *