सीटेट के बाद रीट के प्रमाण-पत्र की वैधता का इंतजार,यहाँ से जाने क्या होगा राजस्थान सरकार का फैसला

By | October 24, 2020

राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् ने शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) के प्रमाण-पत्र की वैधता सात साल से बढ़ाकर आजीवन कर दिया है, राजस्थान में रीट के प्रमाण-पत्र की वैधता पर इंतजार, रीट प्रमाण-पत्र की वैधता पर निर्णय से दस लाख बेरोजगारों पर पड़ेगा असर|

नई सूचना-24 अक्टूबर 2020-:एनसीटीई के निर्णय ने बेरोजगारों में जगाई नौकरी की आस, अब रीट व सीटेट परीक्षा के प्रमाण-पत्रों की वैधता आजीवन रहेगी | अब हर साल रीट व सीटेट परीक्षा देना जरुरी नहीं होगी, लेकिन अंक सुधार के लिए परीक्षा देने पर पाबंदी नहीं होगी |

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में रीट परीक्षा के प्रमाण-पत्र की वैधता के बारे में सम्पूर्ण जानकारी बताएगी | राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् (एनसीटीई) ने अपनी बैठक में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) के प्रमाण-पत्र की वैधता को बढ़ाने का निर्णय किया था |सीटेट प्रमाण-पत्र की वैधता आजीवन-NCTE का बड़ा फैसला|

इससे पहले सीटेट परीक्षा के प्रमाण-पत्र की वैधता सात साल के लिए रहती थी | लेकिन अब इसको बढ़ाकर आजीवन कर दिया गया है | इससे बेरोजगारों को अब केवल सीटेट परीक्षा एक बार ही उत्तीर्ण करनी पड़ेगी | राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् (एनसीटीई) के इस फैसले के बाद से राज्यों में भी हलचल होने लगी है | राजस्थान राज्य की बात की जाये तो यहाँ टेट परीक्षा की बजाय रीट परीक्षा आयोजित करवाई जाती है |

Rajasthan REET Notification 2020राजस्थान रीट की सुचना
REET Online Form 2020REET Notification 2020 Level 1 & 2 

रीट परीक्षा के प्राप्तांको के आधार पर ही तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती की सूची तैयार की जाती है | अब देखना यह है कि राजस्थान सरकार रीट के प्रमाण-पत्र को लेकर क्या निर्णय लेती है | अधिक जानकारी के लिए आप इस पेज को आखिर तक जरूर पढ़े |

एनसीटीई के फैसले के बाद राजस्थान में निर्णय का इंतजार

राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् (एनसीटीई) ने शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटेट) के प्रमाण-पत्र की वैधता अवधि को सात साल से बढ़ाकर आजीवन कर दिया है | राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् (एनसीटीई) की सितम्बर माह में हुई 50वीं आम सभा में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया था |

3 महीने में REET की तैयारी कैसे करे? Expert tips REET 2020 के लिएRajasthan REET Syllabus 2020 Download PDF
REET Teacher Recruitment 2020REET Study Material & Important Notes 

परिषद की और से जारी मिनट्स में कहा गया है कि आने वाली शिक्षक पात्रता परीक्षा के प्रमाण-पत्रों की वैधता अवधि अब आजीवन रहेगी | लेकिन अब तक हो चुकी टेट के प्रमाण-पत्रों की अवधि को लेकर कानूनी राय ली जाएगी | राजस्थान में बात की जाये तो यहाँ टेट की बजाय रीट परीक्षा के नाम से हो रही है |

रीट के प्रमाण-पत्रों की वैधता अवधि 3 साल के लिए मान्य है | राजस्थान में अगले माह में रीट परीक्षा के आवेदन शुरू होने की संभावना है | इसलिए राजस्थान सरकार को अब रीट की आवेदन प्रक्रिया शुरू होने से पहले यहाँ भी प्रमाण-पत्रों की वैधता अवधि को लेकर निर्णय लेना चाहिए |

एक प्रमाण-पत्र से एक बार ही सरकारी नौकरी लगनी चाहिए-

शिक्षाविद डॉ. संजीव सिंघल के मुताबिक टेट के प्रमाण-पत्रों की वैधता अवधि आजीवन करने से बेरोजगारों को बार-बार यह परीक्षा नहीं देनी होगी | इससे उन पर आर्थिक भार भी नहीं पड़ेगा | इसके अलावा वे अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी पर भी ध्यान केंद्रित कर सकेंगे | लेकिन राजस्थान में स्थिति कुछ अलग है | यहाँ टेट नहीं रीट परीक्षा होती है |

REET Admit Card 2020 संस्कृत शिक्षा विभाग में 3124 पद खाली-रिक्त पदों को लेकर अधिकारियों को दोहरा रवैया|
माध्यमिक शिक्षा में 62000 पद खाली-स्कूल व्याख्याता के 12000 पद रिक्त|राजस्थान में सीएचओ के 7810 पदों पर भर्ती होगी-सीएम की मंजूरी मिली|

इसके अलावा यहाँ तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती रीट के अंको के आधार पर होती है | इस कारण से एक ही प्रमाणपत्र से बार-बार नौकरी लगने की स्थिति बनती है | इससे प्रदेश के बेरोजगारों को नुकसान भी उठाना पड़ता है | मेरी राय के अनुसार सरकार को रीट परीक्षा के एक प्रमाण-पत्र से एक बार ही सरकारी नौकरी का नियम लागु करना चाहिए |

नोट-दोस्तों अगर आपको रीट परीक्षा के प्रमाण-पत्र की वैधता या अन्य किसी भी प्रकार की जानकारी पूछनी हो तो, आप कमेंट कर हमारी टीम से सहायता ले सकते हो-धन्यवाद

follow us for social updates

One thought on “सीटेट के बाद रीट के प्रमाण-पत्र की वैधता का इंतजार,यहाँ से जाने क्या होगा राजस्थान सरकार का फैसला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *