REET परीक्षा रद्द करने की याचिका पर High Court ने दिया जवाब-SOG ने सांसद किरोड़ीलाल मीणा के पत्र का भी जवाब दिया |

By | October 22, 2021

REET परीक्षा रद्द करने की याचिका पर High Court ने दिया जवाब, Judge Govardhan Baddar & Manoj Kumar Vyas ने याचिका को निस्तारित किया, राजस्थान प्रदेश के बेरोजगारों ने REET Exam को cancel करवाने के लिए याचिका दायर की थी, SOG ने भी सांसद किरोड़ीलाल मीणा के पत्र का भी जवाब दे दिया है |

राजस्थान राज्य में आयोजित हुई अध्यापक पात्रता परीक्षा में नकल के कई मामले सामने आए और पुलिस प्रशासन के द्वारा भी इस बात की पुष्टि की गई की रीट की परीक्षा में बड़े स्तर पर गड़बड़ी हुई हैं | इसी के चलते उम्मीदवारों ने रीट की परीक्षा को रद्द करवाने के लिए हाईकोर्ट में भी याचिका दर्ज करवाई थी, क्योंकि उम्मीदवार नहीं चाहते कि उनकी मेहनत बेकार जाए |

अध्यापक पात्रता परीक्षा को लेकर उम्मीदवारों ने कई सालों तक कड़ी मेहनत की है और उसके बावजूद भी अगर गड़बड़ी की वजह से उन्हें सरकारी नौकरी नहीं मिल पाती, तो इसकी वजह से REET की परीक्षा में शामिल हुए उम्मीदवारों का काफी नुकसान होगा | इसीलिए उम्मीदवारों ने REET की परीक्षा को रद्द करने की मांग की है |

REET Exam cancel News

लेकिन हाई कोर्ट परीक्षा को रद्द करने की मांग पर कुछ खास रुचि नहीं दिखा रहा है और इसीलिए हाई कोर्ट के द्वारा यह फैसला लिया गया कि रीट की परीक्षा में केवल कुछ ही नकल के मामलों के चलते इस परीक्षा को रद्द नहीं किया जा सकता | क्योंकि REET की परीक्षा को रद्द करने की वजह से भी उम्मीदवारों का काफी नुकसान हो सकता है |

न्यायधीश तथा मनोज कुमार व्यास ने निस्तारित की याचिका

  • 18 अक्टूबर 2021 को रीट की परीक्षा को लेकर दर्ज हुई याचिका के तहत फैसला सुनाया जाना था l इस पर Judge Govardhan Baddar तथा Judge Manoj Kumar Vyas के द्वारा REET की परीक्षा में शामिल उम्मीदवारों की याचिका को निस्तारित करने का आदेश दिया गया। राज्य सरकार के Advocate General MS Singhvi के द्वारा भी है कहा गया कि केवल कुछ ही नकल के मामलों की वजह से REET की परीक्षा को रद्द नहीं किया जा सकता | इसी के साथ-साथ Board of Secondary Education, Ajmer के Advocate के द्वारा भी यह कहा गया कि इसमें कोई जनहित का मामला शामिल नहीं हैं। इसीलिए उम्मीदवारों के द्वारा दर्ज कराई गई याचिका को निस्तारित कर दिया गया |
  • कोर्ट में याचिकाकर्ता पक्ष के द्वारा यह भी कहा गया कि , REET की परीक्षा के तहत सुनवाई पूरी होने तक इस परीक्षा के परिणामों को जारी करने पर रोक लगाई जाए और सरकार के द्वारा Central Investigative Agencies से इस परीक्षा में हुई गड़बड़ी की जांच भी करवानी चाहिए।

SOG के द्वारा राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा के पत्र का जवाब दिया गया

राज्यसभा सांसद Kirori Lal Meena के द्वारा SOG को पत्र लिखा गया था l जिसमें उन्होंने यह लिखा था कि REET की परीक्षा के तहत निष्पक्ष जांच करवाई जानी चाहिए ताकि जिन उम्मीदवारों ने इस परीक्षा को लेकर काफी मेहनत की है तो उनका नुकसान ना हो। इसी के जवाब में SOG ने आश्वासन दिया है कि रीट की परीक्षा में नकल के मामलों को लेकर निष्पक्ष जांच की जाएगी और जो भी आरोपी सामने आते हैं तो उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही भी की जाएगी।

परीक्षा शुरू होने से पहले ही प्रश्न पत्र पहुंच चुका था , भजनलाल सहित अन्य आरोपियों के पास

 रीट की परीक्षा के दिन सुबह 5:00 बजे से लेकर परीक्षा खत्म होने तक इंटरनेट की सुविधाएं बंद की गई थी। इसी के चलते यह बात सामने आई कि रीट की परीक्षा के प्रश्न पत्र सुबह 3:45 पर ही Whatsapp के माध्यम से Bhajanlal Bishnoi तथा अन्य आरोपि Battilal Meena के पास पहुंच चुके थे l

जिन्होंने रीट के प्रश्न पत्रों को आगे 3 लाख रुपए से लेकर 15 लाख रुपए में बेचा था। सवाई माधोपुर पुलिस प्रशासन के द्वारा बत्तीलाल गिरोह से जुड़े 21 लोगों के साथ-साथ 6 परीक्षार्थियों को तो गिरफ्तार भी किया जा चुका है जिन्होंने प्रश्न पत्र खरीदे थें l मगर अभी भी ऐसे 13 परीक्षार्थियों की तलाश की जा रही है उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *