“बेरोजगारों पर फिर मार” REET 2021 भर्ती परीक्षा की गाइड लाइन को कोर्ट में दी चुनौती

By | January 20, 2021

REET परीक्षा 2021 का नोटिफिकेशन रदद् करने की गुहार, रीट भर्ती 2021 से पहले ही हाईकोर्ट में चुनौती दी गई, बीएड धारकों को लेवल 1 में शामिल नहीं करने पर दी चुनौती | बेरोजगार इस बात से परेशान है कि कही REET की भर्ती अटक ना जाये |

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में REET भर्ती परीक्षा 2021 की Guideline को लेकर हाईकोर्ट में दी गई चुनौती के बारे में सम्पूर्ण जानकारी बताएगी | राजस्थान सरकार के आदेश के बाद माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान,अजमेर द्वारा रीट 2021 के लिए विज्ञापन जारी कर आवेदन मांग लिए गए थे |

लेकिन रीट 2021 के विज्ञापन में जारी Guideline से अभ्यर्थी संतुष्ट नजर नहीं आ रहे है | ऐसे में अभ्यर्थियों की और से High Court में रीट 2021 की गाइडलाइन को लेकर चुनौती दे दी गई है | उनके मुताबिक B.Ed. Degree धारकों को रीट लेवल 1 में शामिल किया जाये |

REET 2021 ke notification ko court me chunoti

लेकिन रीट की विज्ञप्ति में रीट लेवल 1 में केवल BSTC Diploma वाले अभ्यर्थी ही आवेदन के लिए पात्र है | अब देखना यह है कि High Court इस क्या फैसला सुनाता है | अधिक जानकारी के लिए आप इस पेज को आखिर तक जरूर पढ़े |

REET 2021 की गाइडलाइन बेरोजगारों पर फिर मार-

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान अजमेर द्वारा 11 जनवरी 2021 को रीट (राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा) 2021 का विज्ञापन जारी कर आवेदन मांग लिए गए है | लेकिन इससे बीएड डिग्री धारक अभ्यर्थी खुश नजर नहीं आ रहे है | क्योंकि उनका कहना है कि रीट लेवल 1 में केवल बीएसटीसी धारको को ही शामिल किया जा रहा है |

जबकि बीएड वालो के पास उच्च योग्यता होने के बावजूद भी उनको लेवल 1 में मौका नहीं दिया जा रहा है | 23 अगस्त 2010 की गाइडलाइन को भी हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है | इससे बेरोजगार अभ्यर्थियों पर फिर एक बार मार बढ़ सकती है | अगर नोटिफिकेशन को रदद किया जाता है तो रीट भर्ती 2021 की लिखित परीक्षा में भी देरी हो सकती है |

रीट 2021 का विज्ञापन रदद किया जाये-

अधिवक्ता कलीम अहमद खान और गीतेश जोशी ने बताया कि बीएड धारको को शमिल नहीं करना,जबकि उनसे कम योग्यता वाले बीएसटीसी धारको को लेवल 1 में शामिल किया जा रहा है | यह नियम तो शिक्षा के अधिकार कानून के खिलाफ है,क्योंकि कानून तो यह कहता है कि बच्चों को उच्च स्तरीय व गुणवत्ता युक्त शिक्षा से वंचित नहीं किया जा सकता है |

इसलिए रीट लेवल 1 में बीएड धारको को शामिल नहीं करना संविधान के प्रावधानों के अनुसार गलत है | NCTE की जारी गाइडलाइन असंवैधानिक घोषित की जानी चाहिए और उसके आधार पर जारी रीट 2021 के नोटिफिकेशन को भी रदद किया जाना चाहिए |

बीएड धारको के पास तो बहुत से अवसर है-

रीट 2021 की विज्ञप्ति जारी होने से पहले ही बीएड धारको को लेवल 1 में शामिल होने का मामला सामने आ चूका था | बीएड धारको का कहना है कि हमारे पास उच्च योग्यता है इसलिए हमें रीट लेवल 1 में भी शामिल किया जाना चाहिए | लेकिन बीएसटीसी धारकों का कहना है कि अगर बीएड धारकों को भी रीट लेवल 1 में शामिल किया जायेगा, तो फिर बीएसटीसी करने का क्या फायदा होगा |

इसके अलावा उनका कहना है कि बीएड डिग्री धारकों के पास तो बहुत से अवसर है वे तो वरिष्ठ अध्यापक, व्याख्याता आदि भर्तियों के लिए भी आवेदन कर सकते है,हमारे पास तो केवल तृतीय श्रेणी भर्ती है जिसके लिए हम पात्रता रखते है | इसके अलावा राजस्थान प्रदेश के शिक्षा मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने भी यह कहा था कि रीट लेवल 1 के लिए बीएसटीसी धारकों को ही पात्र माना जायेगा |

नोट-दोस्तों आप भी अपने विचार कमेंट के माध्यम से हमारी टीम के साथ साझा कर सकते है,क्या रीट लेवल 1 में केवल बीएसटीसी धारकों को ही शामिल किया जाये या फिर बीएड वालों को भी शामिल किया जाये |

follow us for social updates

314 thoughts on ““बेरोजगारों पर फिर मार” REET 2021 भर्ती परीक्षा की गाइड लाइन को कोर्ट में दी चुनौती

  1. Varsha Singh

    Level 1 me sirf BSTC walo ko hi samil Krna chahiye b.ed walo k pas to Orr bhi options h lekin BSTC walo k pas sirf ek hi option h agr usme bhi b.ed walo ko samil kr diya jayega to bstc krne ka kya fayda rah jayega level 1 me BSTC wale hi samil ho

    Reply
  2. Msnaaath

    Sarkaar ne jitne bhi BSTC karwane ke dhaabe khol rakhe he sabse pehle unko band karwa dena chahiye
    Naa rahega baans na bajegi baansuri

    Reply
  3. Dip

    बीएड धारी लेवल वन की योग्यता रखते हैं ।और योग्यता रखने वाले को भर्ती से बाहर करना असंवैधानिक है।
    शिक्षा की गुणवत्ता के साथ खिलवाड़ है ।
    अगर देश की सरकार और जनता , नहीं समझती तो शिक्षा के गुणवत्ता कभी नहीं सुधरेगी देश में।

    बीएड धारको को शमिल नहीं करना,जबकि उनसे कम योग्यता वाले बीएसटीसी धारको को लेवल 1 में शामिल किया जा रहा है | यह नियम तो शिक्षा के अधिकार कानून के खिलाफ है,क्योंकि कानून तो यह कहता है कि बच्चों को उच्च स्तरीय व गुणवत्ता युक्त शिक्षा से वंचित नहीं किया जा सकता

    इसलिए रीट लेवल 1 में बीएड धारको को शामिल नहीं करना संविधान के प्रावधानों के अनुसार गलत है | NCTE की जारी गाइडलाइन असंवैधानिक घोषित की जानी चाहिए

    Reply
    1. Admin Post author

      बीएड वाले भी रीट लेवल 1 के लिए आवेदन कर सकते है|

      Reply
  4. Hari ram jakhar

    B.ed walo ko bhi reet level 1 bhi shamil krna chahiy h
    Esa nhi kr skte to arkshan ko smapt kr do

    Reply
  5. devendra singh

    Bstc walo ko bhi samil kr do 1st grade me or krwa do brize course

    Reply
  6. देवेन्द्र सिंह

    अधिवक्ता कलीम अहमद खान और गीतेश जोशी ने बताया कि बीएड धारको को शमिल नहीं करना,जबकि उनसे कम योग्यता वाले बीएसटीसी धारको को लेवल 1 में शामिल किया जा रहा है | यह नियम तो शिक्षा के अधिकार कानून के खिलाफ है,क्योंकि कानून तो यह कहता है कि बच्चों को उच्च स्तरीय व गुणवत्ता युक्त शिक्षा से वंचित नहीं किया जा सकता है |

    फिर तो आरक्षण क्यों नहीं हटाया जा रहा है क्यो आरक्षण से ही बनते है गुणवत्ता युक्त शिक्षक

    Reply
  7. Dilip

    Bed वालों को 1st laval में शामिल नहीं किया जाए क्योंकि उनके पास 2st लेवल की सीट से फर्स्ट लेवल में तो बीएसटीसी वाले ही शामिल होंगे

    Reply
  8. Prem Kumar

    क्या सभी कॉलेज व्याख्याता क्लास एक या दो को पढ़ा सकते हैं
    नहीं
    क्यू

    Reply
  9. Sahdev Choudhary

    Bed वाले लङके हर तरह की योग्यता से भरपूर है तो शामिल तो होना चाहिए

    Reply
  10. Amrita kailani

    B.ed walo ke liye level 2nd he to fir unko level first ke from bharne ki kya jarurat he unke pass itne option he to fir wo ku first level ki mang kr rhe he is wajah se exam aage badh sakte he

    Reply
  11. ramraj Gurjar

    B.Ed वालों के पास थर्ड ग्रेड से लेकर के लेक्चरर तक के व्याख्याता कॉलेज तक के काफी ऑप्शन होते हैं लेकिन बीएसटीसी वालों के पास सिर्फ लेवल फर्स्ट का ऑप्शन है अगर इसमें भी B.Ed को शामिल किया जाता है तो बीएसटीसी वालों के साथ सरासर naइंसाफ होगा अगर हमें यह पहला पता होता तो हम भी B.Ed कर लेते ऐसा थोड़ी है कि बीएसटीसी वालों के पास योगिता की कोई कमी है बीएसटीसी वाले भी तो शिक्षित युवा है वह नहीं कर सकते क्या B.Ed इसलिए लेवल फर्स्ट में केवल बीएसटीसी वालों को शामिल किया जाए

    Reply
    1. Shimla meena

      Ha level 1 me b.ed walo ko samil nhi karna chahiye .agr level 1 me b.ed walo ko samil kr diya to bstc wale kya krenge unke pas to koi aur rasta hi nhi bacha

      Reply
  12. Nainita b.s.t.c.

    Nhi b,ed walo ko 1st level me lana shi nhi h kyoki unke pass to bhut sare options h wo to 2nd level or 2 grade ka exam bhi de skte h or b.s.t.c. walo k pass to ek hi options h or usme bhi b.ed walo ko shamil krna to hmare sath anyay h phir m.a. walo ko bhi shamil kr do wo to bhut jada hi smjdar or high quality wale h

    Reply
  13. Krishan Kumar Yadav

    B ed walo ko reet level first me shamil nahi karna chahiye kyoki unke pas or bhi bhut se chance h but stc walo ke pas or koi chance nahi h

    Reply
  14. Dinesh Kumar Balai

    B.Ed वालों के पास और भी अवसर है कहकर उन्हें लेवल फर्स्ट से वंचित नहीं किया जा सकता क्योंकि यह B.Ed वालों के अधिकारों का सीधा-सीधा हनन है बीएसटीसी वालों से अधिक योग्यता व गुणवत्ता होने पर भी उसे लेवल प्रथम के लिए आवेदन न करवाना बीएड धारी बेरोजगारों के मौलिक अधिकारों का हनन है बीएसटीसी के लिए अधिक पद आवंटित करना व बीएसटीसी पद धारियों का संख्या में कम होना बीएड योग्यता धारियों के लिए पद कम आवंटित करना व बेरोजगारी संख्या में अधिक होने के कारण बीएड धारियों को इस भर्ती प्रक्रिया में दोहरा नुकसान होता है

    Reply
  15. Ramlalakhan mehra

    Bed valo ko level 1st/2nd dono me samil krana chaiye or dono me betne ka moka milna chaiye

    Reply
  16. Ram singh

    किसी भी परीक्षा मे अभ्यर्थियो को तब बाहर किया जाता है जब वे उस परीक्षा के लिए योग्यता नहीं रखते है । उच्च योग्यता वालों को तो प्राथमिकता होती है । उच्च योग्यता व अधिक शैक्षणिक अनुभव होने के बावजूद भी परीक्षा मे शामिल नहीं करना 2nd लेवल के अभ्यर्थियों का बहुत बड़ा दुर्भाग्य है । इनके साथ हो रहे अन्याय पर एक बार पुन विचार कर अभ्यर्थियों को 1st leval की परीक्षा मे शामिल किया जावे । यह कम्पीटीशन का युग है । क्या bstc वाले तैयारी नहीं कर सकते, क्या 2nd leval वालों क़ो तैयारी के लिए extra time दिया जाता है । यह सरासर गलत है । अन्याय है ।

    Reply
  17. NAHAR SINGH GURJAR

    ” Reet level 1st only BSTC balo ka hi hak hai, ”
    Reet level 1 me kewal bstc walo ko hi saamil karna chahiye kyoki be.d walo ke paas yogyta hone ke karan unhe anek awsar milte hai aur bstc wale wanchit rah jate hai aur wo berojgaar rahte hai isliye level 1 me bstc walo ko awsar milna chahiye

    Reply
  18. NAHAR SINGH GURJAR

    रीट लेवल 1 मे केवल BSTC वालो को ही मोका मिलना चाहिए क्योंकि बीएसटीसी के लड़कों के पास इनके अलावा अन्य किसी परीक्षा में शामिल नही होते जबकि बीएड वाले तो 1st grade में,2nd grade वह रीट लेवल 2 में भी शामिल हो जाते है

    Reply
  19. SK star

    L1 me b.ed valo ko samil nhi karna chahiye kyonki unki yogyta ke anusar L2 bnaya gya hai
    To fir bed vale lalch kyo kar rahe hai
    Kyonki b.ed valo ki bhukh kabhi mitati nhi

    Reply
  20. Pradeepkumar

    Bstc walo ka ye khna shi nhi h ki bed walo ke pass option apke pass bhi option h ap bed kro or second and first exame do 2000 se phle bed walo ko 1 level me samil kiya jata tha

    Reply
  21. मनोहर मईङा

    Level 1 में be.d वालो को भी शामिल किया जाना चाहिये क्योंकि be.d or bstc में संख्या का बहुत बड़ा अनुपात हो चुका है एवं हमेशा ही bstc वालों को ज्यादा पद दिये जाते है साथ ही गई सरकार ने प्राईमरी स्कूलों को भी समावेशी
    6 to8 विद्यालय में शामिल कर दिया है तथा प्राईमरी स्कूलों की संख्या बिलकुल ही कम है। जिससे level 1st & level 2nd ka कोई मतलब नहीं रह जाता है। और कहें तो bstc वालों को पढाई करके( संघर्ष )करके नौकरी देनी चाहिए क्या वो be.d वालों का मुकाबला नहीं कर सकते हैं। हमेशा ही bstc वालों को बिना कोई संघर्ष के नौकरी दी जाती रही है।

    Reply
    1. Hukmaram Tard

      बीएड वालो को भी लेवल 1 में शामिल किया जाना चाहिए

      Reply
  22. Shalini

    Bed valo ko shamil karna chahiye level one me bstc vale yadi yogya honge to avashya hi apna sthan bna lenge or ye baccho ke bhavishya ki baat hai bed vale shikshak baccho ka jivan adhik ujjval kar skenge Jo shreshta hai vahi chuna jaae bed valo ko moka Diya jae

    Reply
  23. महेंद्र सिंह मीणा

    level-1 में केवल बीएसटीसी धारकों को भी शामिल किया जाना चाहिए क्योंकि b.ed योगिता वालों के पास और भी कई ऑप्शन है जैसे को वरिष्ठ अध्यापक व्याख्याता आदि कई परीक्षा में बैठ सकते हैं लेकिन वे बीएसटीसी वाले तो केवल तृतीय श्रेणी अध्यापक थे वह भी सिर्फ level 1 परीक्षा दे सकते हैं

    Reply
  24. Vinod salvi

    Sabhi ko reet level 1st ka bhi chance milna chaiye kyuki her vyakti ki apni ability hoti or desh ke liye acche adyapak banane ka avsar sabhi ko mile.

    Reply
    1. Ridhima

      Respected sir,bura mt maaniyega bt L-1 bstc k liye hi rehna chahiye…L-2 walo k paas to or bhi kai option hai apni yogyta sabit krne k liye….or rhi yogyta ki baat to iske liye sabse jyada jaruri reservation ko hataane ki maang kre….jaha general wala 75 percent lakar bhi job k kabil nhi or SC ST wale 40 percent per bhi selected…..ye kaisi yogyata hai….

      Reply
    2. Hari ram

      Reet level 1 me bhi b.ed walo ko bhi samil krna chahiy kyoki b.ed krne wale student jyada h or b.ed walo ke liye vacanci bhi kam nikalti h.kai ese bhi studend h jinki over age hone wali h.vese dekha jaye to aaj sare school uper primari ho gye h esliy mera manana h ki sarkar ko bhi b.ed walo ko level-1 me bhi samil krna chahiy

      Reply
      1. Rachana

        Level -1 me b.ed valo ko shamil nahin karna chahiye
        B ed valo ke pas bahut se moke hote hai
        Bstc vale keval ek hi pepar de shakte hai ar nahin pir bstc me b.ed vale shamil ho jayege ho bstc ka kya payda hoga

        Reply
  25. विनोद तीरगर गडा

    b.ed समकक्ष योग्यता वाले अभ्यर्थियों को रीट 2021 लेवल प्रथम वाले लेवलद्वितीय दोनों में प्रतियोगिता दिलवानी होगी ।

    Reply
  26. विनोद तिरगर

    b.ed और समकक्ष को लेवल प्रथम रीट 2021 राजस्थान में मौका मिलना चाहिए क्योंकि उच्चतम रक्षण के बाद भी 1500000 बीएड धारी बेरोजगार हैं

    Reply
    1. Adarsh

      B.Ed ko bhi shamil kiya jana chahiye tabhi shiksha ko uchch banaya ja sakega

      Reply
  27. Rahul singh sisodiya

    Reet level 1 me kewal bstc walo ko hi saamil karna chahiye kyoki be.d walo ke paas yogyta hone ke karan unhe anek awsar milte hai aur bstc wale wanchit rah jate hai aur wo berojgaar rahte hai isliye level 1 me bstc walo ko awsar milna chahiye

    Reply
    1. Abhay

      यानी stc वालों के पास bed वालों के बराबर योग्यता भी नहीं है

      Reply
  28. Sahdev singh

    Bstc walo ko hi mauks diya jana chahia varana bstc ki kya value rahegi

    Reply
    1. कमर अली

      अगर मेने ज्यादा पढ़ाई कर ली तो क्या गुनाह कर दिया। यह तो कोई मतलब नही हुआ अब क्या ldc की भर्ती में केवल 12 वी पास फॉर्म लगाएगा। ओर अगर किसी ने BA कर लिया तो क्या वो अयोग्य हो गया। ऐसा तो कोई नियम नही है। और अगर MA कर लिया तो वो IAS की परीक्षा नही दे सकता क्यों कि वो तो सिर्फ BA की योग्यता मांगता है। अतः बीएड धारी को प्रथम लेवल में बैठाया जाना चाहिए।

      Reply
  29. RAMESH KUMAR VERMA

    Bed वालो को Level 1St&2nd दोनों में बैठने का मोका मिलना चाहिए

    Reply
    1. Pushpanjali Verma

      B.ed walo ko bhi mauka milna chaiye, upper ki to vacancy niklti hi nhi hai jaldi

      Reply
  30. Bhagchand gurjar

    B.ed वाले छात्रों को भी शामिल किया जाए

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *