RBI द्वारा e-RUPI Digital Currency लांच की गई-यहाँ से जानिए e-RUPI का इस्तेमाल कैसे होगा |

RBI द्वारा e-RUPI Digital Currency लांच की गई, भारत की पहली Digital Currency लांच हुई, आरबीआई द्वारा अक्टूबर माह में Digital Currency की घोषणा की गई थी, यहाँ से जानिए की e-RUPI Digital Currency का इस्तेमाल कैसे किया जाएगा |

आरबीआई द्वारा देश की पहली डिजिटल करेंसी ई रूपी जारी कर दी गई है। जिसको भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा नियंत्रित किया जाएगा। e-RUPI को जारी करने के लिए आरबीआई द्वारा भारत के 9 बैंकों को शामिल किया गया है, जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक इत्यादि जैसे बैंक शामिल है।

E- Rupee क्या है? डिजिटल करेंसी को क्यों लाया गया है? तथा E- Rupee को आप कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं? इत्यादि से संबंधित पूरी जानकारी आइये पोस्ट के माध्यम से जानते हैं।

आरबीआई द्वारा अक्टूबर महीने में की गई थी घोषणा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI ) द्वारा पिछले महीने यानी अक्टूबर माह में Digital Currency को लाने की बात कही गई थी। इसके लिए उन्होंने E- Rupee प्रोजेक्ट को नवंबर माह में लाने की घोषणा की थी। हालांकि अभी यह पायलट प्रोजेक्ट के रूप में प्रयोग किया जा रहा है। जिसमें मुख्य रुप से होलसेल तथा क्रॉस बॉर्डर पेमेंट डिजिटल करेंसी से किया जाएगा।

Handwritten Notes के लिए फॉर्म भरे

UNHCR Educational Report 2022

Twitter के नए मालिक ने कहा Blue Tick के लिए हर महीने देने होंगे 8 डॉलर
RBI launched e-RUPI Digital Currency

डिजिटल करेंसी E- Rupee को क्यों लाया गया है?

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा डिजिटल करेंसी को इसलिए लाया गया है, ताकि रुपए करेंसी मे नए नए बदलाव लाए जा सके। डिजिटल करेंसी को वर्तमान करेंसी के पूरक के रूप में बनाया जा सके ताकि लोग Payment के रूप में एक नया विकल्प प्राप्त कर सके। क्योंकि डिजिटल करेंसी लाने से वर्तमान करेंसी पर इन्वेस्टमेंट का खर्चा कम होगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा 2022- 23 के बजट में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित डिजिटल करेंसी लाने की घोषणा की गई थी। E- Rupee के जरिए नागरिकों को पेमेंट करने की नई सुविधा मिलेगी। साथ ही इसका रखरखाव भी आसान होगा।

कैसे कर सकते हैं, e-RUPI का इस्तेमाल।

आपको बता दें कि आरबीआई द्वारा यह डिजिटल करेंसी एक लीगल टेंडर के रूप में जारी की गई है। जिसका प्रयोग आप वैसे ही कर सकते हैं जैसे कि आप नोट या सिक्कों का करते है। जब यह Digital Currency मार्केट में आ जाएगी, तो लोगों को कैश रखने की जरूरत नहीं होगी।

इसका उपयोग आप नोट या सिक्कों की तरह ही कर सकते हैं। इस digital currency के आ जाने से सरकार का कुछ हद तक नोट या सिक्के छापने पर खर्चा कम हो सकेगा।क्योंकि हर साल सरकार को नए नोट जारी करने पड़ते थे।

e-RUPI को रख सकेंगे अपने मोबाइल वालेट में।

क्या आप जानते हैं कि इस डिजिटल करेंसी को आप अपने मोबाइल वालेट में रख सकते हैं। जैसे आप आजकल गूगल पे, फोन पे चला रहे हैं, वैसे ही इस डिजिटल करेंसी का उपयोग आप आसानी से कर पाएंगे। RBI के अनुसार आप इस डिजिटल करेंसी को जब चाहे कैश में भी कन्वर्ट करा सकते हैं।

हालांकि digital currency का नियंत्रण आरबीआई के हाथ में ही रहेगा। डिजिटल करेंसी मार्केट में आने के बाद आरबीआई को पैसों का लेनदेन का पता रहेगा। क्योंकि डिजिटल करेंसी का पूरा सरकुलेशन आरबीआई की निगरानी में ही होगा। अब कोई भी काली कमाई को छुपा नहीं सकता है।

कौन-कौन से बैंक e- RUPI डिजिटल करेंसी का हिस्सा होंगे?

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा अभी देश के 9 बैंकों को डिजिटल करेंसी से जोड़ा गया है। जिससे यह सारे बैंक अपने ग्राहकों को डिजिटल करेंसी दे सकेंगे। इन बैंकों में देश के बड़े-बड़े बैंक शामिल है। जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक, HDFC Bank, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक तथा एचएसबीसी बैंक शामिल होंगे।

इन बैंकों के द्वारा अब अपने ग्राहकों को डिजिटल करेंसी की सुविधा दी जाएगी। जिससे इन बैंकों से जुड़े लोग Digital Currency का उपयोग आसानी से कर सकेंगे। बताया जा रहा है कि दुनिया के साथ केंद्रीय बैंकों ने भी RBI की इस पहल का स्वागत किया है। जिससे अब जो भी लोग बाहर विदेशों की यात्रा पर भी जाते थे, उनको भी बड़ी सुविधा होगी।

क्योंकि पहले भारतीय करेंसी को दूसरे देश में बदलवाने के लिए लाइनों में लगना पड़ता था। लेकिन अब डिजिटल करेंसी दुनिया के 60 देशों द्वारा जब मान्य होगी, तो लोग इसका उपयोग विदेशों में भी कर सकेंगे।

Tata की New SUV लांच होने से Hyundai Creta की बिक्री पर पड़ेगा बुरा असर 

स्वामी विवेकानंद की बताई हुई 7 आदतें युवाओं को प्रभावित करती है

बार-बार लोगों को करेंसी चेंज कराने की जरूरत नहीं पड़ेगी। कई बार लोगों को भारत में भी कैश न होने की वजह से दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। लेकिन अब डिजिटल करेंसी आ जाने से ये सारी समस्या दूर हो जाएंगी।

RBI लाने जा रहा है मोबाइल ऐप।

  • E-RUPI डिजिटल करेंसी का उपयोग आप अपने Smart Phone से कर सकते हैं। जिसका उपयोग करने के लिए जल्द ही भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा मोबाइल ऐप लाया जाएगा। इस मोबाइल ऐप के जरिए ही आप डिजिटल करेंसी का उपयोग कर पाएंगे।
  • बताया जा रहा है,कि इस मोबाइल ऐप को आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।
  • इस मोबाइल ऐप मे आप अपने बैंक खाते को जोड़ सकते हैं। जिसमें रुपए के ट्रांसफर से लेकर लेनदेन की सारी प्रक्रिया शामिल होगी। इस मोबाइल ऐप में आप अपने क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड इत्यादि को भी आसानी से जोड़ सकते हैं।
  • साथ ही अपनी मनमर्जी अनुसार आपने रुपयों को डिजिटल करेंसी या डिजिटल करेंसी को रुपयों में बदल सकते हैं।

किस वर्ग के लिए ज्यादा उपयोगी रहेगी डिजिटल करेंसी।

  • आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा अपने बयान में कहा गया है, कि डिजिटल करेंसी का ज्यादातर लाभ बड़े कारोबारियों को होगा। क्योंकि बड़े कारोबारियों को बड़ा लेनदेन होता है।
  • ऐसे में ज्यादा बड़ी मात्रा में नोट को देना होता है। ऐसे में यह Digital Currency आने से बड़ी रकम नकद रूप से ले जाने की जरूरत नहीं रहेगी।
  • बड़े व्यापारी या कारोबारी मोबाइल ऐप के माध्यम से आसानी से लेनदेन कर पाएंगे।
  • हालांकि digital currency का इस्तेमाल छोटी पेमेंट के रूप में भी किया जा सकता है। लेकिन इसका ज्यादातर बेहतर उपयोग बड़े कारोबारियों को ही होगा।

RBI का नोट छापने का खर्चा बचेगा

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा डिजिटल करेंसी लाने से अब नोट पर छापने वाला खर्चा काफी कम हो जाएगा। क्योंकि पहले सरकार को हर साल बड़ी मात्रा में नोट छापने पड़ते थे। क्योंकि नगद रुपया जल्दी ख़राब होता है। इसलिए digital currency आने से सरकार की लागत कम हो जाएगी।

Leave a Comment