बाहरी राज्यों के अभ्यर्थी ले रहे है सरकारी नौकरी-MP के बाद राजस्थान में भी उठी रोक की मांग

By | March 26, 2021

राजस्थान के युवाओं में भी आक्रोश बढ़ा की बाहरी राज्यों की प्राथमिकता खत्म हो, मध्य प्रदेश में बाहरी राज्यों के लिए सरकारी नौकरी में पाबंदी लगा दी गई है, बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों के लिए सरकारी नौकरी में 5.59% आरक्षण होता है, जाने किस भर्ती में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थी कितने नौकरी लगे |

सरकारी नौकरी में बाहरी राज्यों के लिए पाबंदी लगे-

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में सरकारी नौकरी में बाहरी राज्यों के लिए आरक्षित सीटों के बारे में सम्पूर्ण जानकारी बताएगी | सभी राज्यों में सरकारी नौकरी के लिए जब विज्ञापन जारी किया जाता है, तो उसमे बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों के लिए नियमानुसार कुछ सीट आरक्षित होती है |

लेकिन जब से मध्य प्रदेश सरकार ने सरकारी नौकरी में वहां के युवाओं को प्राथमिकता दिए जाने का एलान किया है,उसी के बाद राजस्थान में भी युवाओं में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों पर पाबंदी का मुद्दा गरमा गया है | उनका कहना है, कि जब मध्य प्रदेश सरकार की वहां के अभ्यर्थियों को अधिक प्राथमिकता दे रही है, तो राजस्थान सरकार भी सरकारी नौकरी में बाहरी अभ्यर्थियों पर पाबंदी लगाए |

Rajasthan Vidyut Vibhag 1540 RecruitmentBihar Police SI 2213 Recruitment
Delhi Police Constable 5846 Recruitment Revised-RSMSSB Stenographer 1211 Recruitment

जिससे यहाँ के युवा अधिक सरकारी नौकरी लग सके | आप अगर पुराने आकंड़ो पर नजर डालेंगे, तो पाएंगे कि 10 फीसदी अन्य राज्यों के युवाओं का चयन हुआ है | इस पिछले विगत वर्षो में निकली भर्तियों में कितने प्रतिशत बाहरी राज्यों के युवा नौकरी लगे थे, उनकी जानकारी के लिए आप इस पेज को आखिर तक पढ़े |

इन भर्तियों में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों का चयन हुआ-

यहाँ इस पैराग्राफ में हमारी टीम आपको कुछ भर्तियों के आकड़ो के बारे में जानकरी बता रही है | जिससे आप अनुमान लगा सकेंगे, कि राजस्थान प्रदेश में निकली सरकारी भर्तियों में बाहरी राज्यों के कितने प्रतिशत उम्मीदवारो का चयन हुआ था |

भर्ती का वर्षभर्ती का नामप्रतिशत (अनुमानित)
2016दन्त टेक्नीशियन11.54%
2016लाइब्रेरियन10.77%
2018शारीरिक शिक्षक4.58%
2016कनिष्ठ अभियंता (डिग्री)3.28%
2016कनिष्ठ अभियंता (डिप्लोमा)5.65%
2016लैब टेक्नीशियन2.36%
2019कनिष्ठ वैज्ञानिक3.57%

प्रशासनिक सेवा में बाहरी राज्यों से चयन-

सरकारी नौकरी में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों की बात करे तो प्रशासनिक सेवा में इनका आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है | यहाँ हमारी टीम आपको आरएएस भर्ती के तीन साल के आंकड़ों के बारे में अवगत करवा रही है | जिसको देखकर आप खुद अनुमान लगा सकोगे कि प्रशासनिक सेवा को लेकर बाहरी राज्यों के युवाओं का आंकड़ा कैसे बढ़ता जा रहा है |

RPSC RAS- Best BooksRPSC RAS Syllabus
Churu, Sri Ganganagar, Hanumangarh Army Rally BhartiCRPF 789 Paramedical Staff Recruitment

राजस्थान की भर्तियों में बाहरी राज्यों के बेरोजगारों पर कोई अंकुश नहीं होने के कारण से वे सामान्य श्रेणी के 36% में शामिल होते है | इसको लेकर राजस्थान के बेरोजगार युवाओं में भी आक्रोश देखने को मिला है | उनका कहना है, कि सरकार को इस और ध्यान देना चाहिए और बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियो पर सरकारी नौकरी में पाबन्दी लगानी चाहिए | यहाँ पर हमारी टीम कुछ आंकड़ों के बारे में बता रही है |

भर्ती वर्षपदों की संख्याबाहरी अभ्यर्थियों का चयनचयन का प्रतिशत (अनुमानित)
आरएएस 20122889 पद145 चयन4.78%
आरएएस 20132243 पद122 चयन5.16%
आरएएस 20161552 पद107 चयन6.45%

नोट-दोस्तों क्या राजस्थान में भी बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों पर सरकारी नौकरी में पाबंदी लगनी चाहिए या फिर नहीं, इसके बारे में आप भी अपनी राय/विचार कमेंट के माध्यम से दे सकते है-धन्यवाद

follow us for social updates

3 thoughts on “बाहरी राज्यों के अभ्यर्थी ले रहे है सरकारी नौकरी-MP के बाद राजस्थान में भी उठी रोक की मांग

  1. Satya Prakash Singh

    No it’s wrong message to nation. But it is very important demand of this type of State’s candidate , So this method allowed in every state.

    Reply
  2. Ashok Gothwal

    Bahri Rajyo Ki Prathmikta khatm honi chahiye madhya Pradesh Ki Tarah Rajasthan ke yuwa hi eligible ho har vacancy ke liye y decision c m gehlot sahab ko jaldi lena chahiye or aane wali or present vacancy par shakt pabndi lagani chahiye shivraj ji ki tarah jay Rajasthan jay bheem jay sanvidhan thanks to all brothers and sisters

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *