संस्कृत शिक्षा विभाग में 3124 पद खाली-रिक्त पदों को लेकर अधिकारियों को दोहरा रवैया|

By | March 24, 2021

राजस्थान संस्कृत शिक्षा विभाग में करीब 3124 पद रिक्त पड़े हुए है, खाली पदों को लेकर सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को दोहरा रवैया देखने को मिला, आरटीआई के तहत विभाग ने बताया खाली पदों के बारे में |

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में राजस्थान में संस्कृत शिक्षा विभाग में खाली पदों के बारे में सम्पूर्ण जानकारी बताएगी | हमारी टीम ने इससे पहले आपको माध्यमिक शिक्षा विभाग में स्कूल व्याख्याता सहित 62 हजार खाली पदों के बारे में बताया था |

राजस्थान प्रदेश में संस्कृत शिक्षा भी बेहाल है | एक और तो संस्कृत शिक्षा विभाग में करीब 29% से अधिक पद रिक्त पड़े है | इसके अलावा दूसरी तरफ से विभाग की और से 856 शिक्षक अधिशेष बताये जा रहे है | आपको बता दे कि संकसरित शिक्षा में करीब 10 हजार से अधिक पद स्वीकृत है | एक दिन पहले ही वरिष्ठ अध्यापकों के 588 पदों पर नियुक्ति से पहले विभाग में खाली पदों की कुल संख्या 3712 थी |

Rajasthan Sanskrit Teacher Recruitment Rajasthan Sanskrit University Recruitment
REET Syllabus Download RPSC Exam Calendar

लेकिन अब यह संख्या घटकर 3124 रह गई है | राजस्थान में 588 पदों की भर्ती भी करीब दो साल पहले निकली थी | अगर राजस्थान सरकार द्वारा संस्कृत शिक्षा विभाग में रिक्त पदों पर भर्ती कर भर दिया जाये तो इससे बेरोजगारों के साथ साथ स्कूलों में पढ़ने वाले विधार्थियों को भी फायदा मिल सकेगा | अधिक जानकारी के लिए आप इस पेज को आखिर तक जरूर पढ़े |

राजस्थान संस्कृत शिक्षा विभाग में खाली पदों की जानकारी देखे-

यहाँ इस पैराग्राफ में हमारी टीम आपको राजस्थान संस्कृत शिक्षा विभाग में रिक्त शिक्षकों के पदों के बारे में विस्तृत जानकारी एक सारणी के जरिये समझा रही है | जिससे आप आसानी से पदों के बारे में जान सकेंगे |

पद का नाम स्वीकृत पद कार्यरत कर्मचारी खाली पदों की संख्या
प्रधानाचार्य 143 पद96 पद47 पद
व्याख्याता 837 पद323 पद514 पद
वरिष्ठ अध्यापक 3097 पद1480 पद1617 पद
तृतीय श्रेणी शिक्षक 6584 पद5050 पद1534 पद
कुल पद 10661 पद6949 पद3712 पद

कोर्ट में बताया कि 856 शिक्षक अधिशेष है-

प्रदेश में संस्कृत स्कूलों में शिक्षकों के पद बड़ी संख्या में रिक्त होने के मामले से जुड़ी एक जनहित याचिका हाई कोर्ट में लंबित है | याचिका में कोर्ट में संस्कृत शिक्षा विभाग की और से पेश किया गए एक शपथ पत्र में पिछले दिनों जानकारी दी गई थी कि 5 प्रिंसिपल्स, 77 वरिष्ठ अध्यापक, तृतीय श्रेणी शिक्षक लेवल प्रथम के 238 एवं लेवल द्वितीय के 536 शिक्षक अधिशेष है और बिना पद स्वीकृत के लगे हुए है |

सीटेट प्रमाण-पत्र की वैधता आजीवन-NCTE का बड़ा फैसला|माध्यमिक शिक्षा में 62000 पद खाली-स्कूल व्याख्याता के 12000 पद रिक्त|

यह स्थिति तो तन है जब प्रदेश की स्कूलों में कई पदों पर शिक्षक ही नहीं है | इसके अलावा राजस्थान हाईकोर्ट के एडवोकेट संदीप कलवानिया ने बताया कि हाईकोर्ट ने कार्मिको को कार्यव्यवस्था में लगाने एवं प्रतिनियुक्ति पर भेजने को अनुचित माना है |

राज्य सरकार ने भी कार्मिकों को प्रतिनियुक्ति या कार्यव्यवस्था के आदेश दे रखे है | इसके बावजूद भी कई शिक्षक स्कूल छोड़कर कार्यालयों में काम कर रहे है | ऐसे शिक्षकों को डेपुटेशन का रद्द करके स्कूलों में भेजना चाहिए |

नोट-दोस्तों अगर आपको हमारी टीम द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो, आप इस सुचना को सोशल मिडिया (वाट्सअप, फेसबुक) पर जरूर शेयर करे-धन्यवाद

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *