राजस्थान पूर्वी पठार (हाड़ोती का पठार) – Rajasthan Regions Part 3

By | January 1, 2020

राजस्थान के दक्षिण पूर्वी पठार को हाड़ोती का पठार-Rajasthan South Eastern Plateau, Rajasthan Regions- South East Plateau, राजस्थान दक्षिण पूर्वी पठार नोट्स डाउनलोड करे PDF में

राजस्थान के प्रदेशो (Rajasthan Regions) के के बारे में चर्चा करते हुए आज हम इस पोस्ट के जरिये आपको राजस्थान के दक्षिण पूर्वी पठार या हाड़ोती के पठार (Rajasthan’s South East Plateau or Hadoti Plateau) से जुडी जानकारिया देंगे।

जैसा की हमने अपनी पहले की पोस्ट में आपको बताया है की हम आप सभी को राजस्थान के भौगौलिक एवं भौतिक प्रदेशो के बारे में जानकारी दे रहे है जो की एक महत्वपूर्ण टॉपिक है राजस्थान की सभी प्रतियोगी परीक्षाओ की दृष्टि से भी। हम उम्मीद करते है की इस पेज पर दी गयी सभी जानकारी आप की परीक्षाओं की तैयारी में मददगार रहेगी।

Rajasthan Plateau (South- Eastern)

राजस्थान के दक्षिण पूर्वी पठार को हाड़ोती का पठार नाम से भी जाना जाता है। यह प्रदेश अरावली पर्वतमाला एवं विंध्याचल पर्वत की पहाड़ियों के मध्य स्तिथ है। इसके बारे में विस्तृत जानकारी आप इस पोस्ट के माध्यम से प्राप्त कर सकते है। आपकी सुविधा के लिए यह दी गयी Rajasthan Regions की  समस्त जानकारी आप इस पेज के अंत में दी गयी लिंक से PDF में डाउनलोड भी कर सकते है।

दक्षिण पूर्वी पठार या हाड़ौती का पठार – (Rajasthan Regions)

Rajasthan Plateau
  • यह प्रदेश अरावली पर्वतमाला तथा विन्ध्यांचल की पहाड़ियों के बीच सक्रंमण पेटी है |
  • इस प्रदेश को स्थानीय भाषा में ‘पाथर’ एवं ‘ऊपरमाल’ कहते है |
  • इस प्रदेश में झालावाड़, प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़, बूंदी, बाँरा, कोटा जिले आते है |
  • यह राज्य के 6.7% भाग पर फैला हुआ है |
  • राज्य की 13% जनसँख्या निवास करती है |
  • इस पठारी भूमि की औसत ऊंचाई समुंद्रतल से 500 मीटर है |
  • चम्बल नदी इस प्रदेश में चोरासीगढ़ से कोटा तक 100 km की दुरी में एक लम्बा गार्ज बनाती है |

भौगोलिक रूप से यह प्रदेश दो भागों में बाँटा गया है (1) विन्ध्याचल कगार भूमि (2) दक्कन लावा का पठार

We shared here Rajasthan Eastern Plateau details on this page. If you have any query regarding this article, you can write to us in the comment box. We will try to solve your queries as soon as possible.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *