राजस्थान पूर्वी मैदानी प्रदेश जानकारी – Rajasthan Eastern Regions (Part-2)

By | January 1, 2020

राजस्थान पूर्वी मैदानी प्रदेश जानकारी के बारे में पूरी जानकारी- Rajasthan Eastern Regions,  राजस्थान बाणगंगा का मैदान, बनास का मैदान, चम्बल का मैदान, माही का मैदान के बारे में जानिए यहां, Rajasthan Regions Part-2 Notes in PDF to Download

राजस्थान मैदानी प्रदेश एक ऐसा टॉपिक है जिससे जुड़े प्रश्न राजस्थान की प्रतियोगी परीक्षाओ में पूछे जाते ही रहते है। इस चीज को मद्देनजर रखते हुए आज हम आपको जानकारी देंगे राजस्थान के पूर्वी मैदानी प्रदेश (Rajasthan Eastern Regions) के बारे में।

इस पोस्ट के माध्यम से आप जानेंगे की कौनसे प्रदेश राजस्थान के पूर्वी मैदानी क्षेत्र के अंतर्गत आते है। इसके अलावा माही का मैदान, बनास का मैदान, चम्बल का बेसिन आदि के बारे में जानकारी भी आपको प्राप्त हो सकेगी।

राजस्थान के पूर्वी प्रदेश (Rajasthan Regions- Eastern)

राजस्थान के मैदानी प्रदेशो की जानकारी इस पोस्ट में दी हुई है। यह जानकारी परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। अतः आप राजस्थान पूर्वी मैदानी प्रदेश (Eastern Plains Regions of Rajasthan) से जुडी समस्त जानकारी इस पेज के माध्यम से अब प्राप्त कर सकेंगे। इसके साथ ही आप यह जानकारी इस पेज के अंत में दी गयी लिंक से PDF में Download भी कर सकते है।

राजस्थान के पूर्वी मैदानी प्रदेश- Eastern Plains of Rajasthan

Rajasthan Eastern Regions
  • यह प्रदेश टेथिस सागर का भाग है |
  • यह प्रदेश – अलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली, जयपुर, टोंक, सवाई माधोपुर, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, उदयपुर, भीलवाड़ा, चित्तोड़गढ़, आदि जिलों में फैला हुआ है |
  • यह राज्य के 23% भाग पर फैला है |
  • इसमें राज्य की 39% जनसंख्या निवास करती है |
  • इस प्रदेश में 60cm से 80cm तक वर्षा होती है |
  • इस प्रदेश की मिटटी दोमट / जलोढ़ / काँप है |
  • इस प्रदेश का निर्माण नदियों ध्दारा लाई गई जलोढ़ मिटटी से हुआ है |
  • यह प्रदेश राज्य का सबसे उपजाऊ भाग है |
  • इस प्रदेश में सर्वाधिक जनघनत्व पाया जाता है|

इस प्रदेश को चार भागो में बांटा गया है –

(1.) बाणगंगा का मैदान (2) बनास का मैदान (3) चम्बल का मैदान (4) माही का मैदान

बाणगंगा का मैदान – यह मैदान भाग अरावली पर्वतमाला के पूर्व में स्थित है | यह गंगा, यमुना के मैदानी भाग से मिला हुआ है | इसका ढाल पूर्व की ओर है जिसके कारण इस भाग की नदियों का पानी यमुना, गंगा नदी में मिल जाता है इस कारण से इस इस भाग को बाणगंगा का मैदान कहते है क्योंकि बाणगंगा व उसकी सहायक नदियों का जल यमुना में मिलता है |

बनास का मैदान – बनास नदी खमनौर की पहाड़ियाँ ( राजसमंद ) से चित्तौगढ़, भीलवाड़ा, अजमेर, टोंक, व सवाई माधोपुर से होती हुई चम्बल नदी में मिल जाती है | नदी के इस पूरे भाग को बनास का मैदान कहा जाता है |

चम्बल बेसिन – चम्बल नदी ( मध्य प्रदेश ) जानापाव की पहाड़ियों से निकलकर राजस्थान में ( चोरासीगढ़ ) चित्तौडग़ढ़ में प्रवेश कोटा, बूंदी, सवाई माधोपुर, करौली, धौलपुर में बहती हुई ( यमुना उत्तर ) में मिल जाती है | चम्बल के इस भाग को चम्बल बेसिन के नाम से जाना जाता है |

माही का मैदान – यह नदी अमरोरु की पहाड़ियाँ ( मध्य पदेश ) से निकलकर खांद ( बांसवाड़ा ) में प्रवेश कर प्रतापगढ़ व डूंगरपुर में बहकर वापस गुजरात राज्य में जाकर खम्बात की खाड़ी अरबसागर में मिल जाती है | इस कारण से इस मैदानी भाग को माही का मैदान कहा जाता है |

Download Rajasthan Regions Part-2 Notes in PDF

We shared here all important information about the Rajasthan Eastern Regions (Plains). If you have any query regarding this article, you can write to us in the comment box. We will try to solve your queries as soon as possible.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *