राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021-जानिए इसकी पात्रता, लाभ तथा आवेदन कैसे करें?

By | April 25, 2021

राजस्थान सरकार द्वारा किसानों के लिए Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana शुरू की गई है, पात्रता रखने वाले किसान राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के लिए आवेदन कर सकेंगे, योजना से जुड़ी जानकारी जैसे-दस्तावेजों की सूची, योजना में मिलने वाली राशि,आवेदन प्रक्रिया आदि आप इस पेज में देख सकेंगे |

आपको पता ही है, कि जब भी किसान किसी मुसीबत में होते हैं सरकार के द्वारा किसानों की बहुत सहायता की जाती है l  सरकार किसानों को मुसीबत से बाहर निकालने के लिए योजना बना लेती है l ऐसे ही सरकार के द्वारा एक योजना की शुरुआत की गई है। जिसका नाम Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 है।

इस योजना के अंतर्गत किसानों को यदि खेती की गतिविधियों के दौरान किसी हादसे का सामना करना पड़ता है, तो उस समय किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। राजस्थान सरकार के द्वारा पहले भी बहुत सी योजनाएं किसानों के हित में लागू की गई है। आज हम आपको इसी योजना के बारे में विस्तार से बताएंगे की Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana Ke Fayde तथा How To Apply For Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana In Hindi 

Contents

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना क्या है?

  • इस योजना का आरंभ राजस्थान सरकार के द्वारा किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए किया गया है। इस योजना की घोषणा राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने 24 फरवरी 2021 को 2021-22 के बजट की घोषणा करते हुए की थी। इस योजना के अनुसार यदि कृषि करते समय मतलब कि कृषक गतिविधियों के दौरान किसानों की यदि मृत्यु हो जाती है या फिर उनको कोई शारीरिक हानि पहुंचती है या विकलांगता का सामना करना पड़ता है, तो इस प्रकार की स्थिति में सरकार के द्वारा उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत आर्थिक सहायता ₹5000 से लेकर ₹200000 तक की जा सकती है। 
Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021
  • पहले बहुत बार ऐसा होता था किसानों को कृषि करते समय काफी शारीरिक नुकसान पहुंचता था या फिर उनकी मृत्यु भी हो जाती थी और उनकी मृत्यु हो जाने के पश्चात उनके परिवार वालों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ता था। परंतु अब सरकार नें इन्हीं परिस्थितियों को देखकर इस योजना का आरंभ किया है l ताकि गरीब किसान यदि कृषक गतिविधियों के दौरान मृत्यु को प्राप्त हो जाता है तो उसको दी गई राशि से उसके परिवार वालों की आर्थिक मदद हो सके।
  • यदि राजस्थान में रहने वाला किसान इस योजना का लाभ उठाना चाहता है, तो उस किसान को ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से इस योजना के लिए आवेदन देना होगा l इस योजना के लिए किसान आसानी से ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर पाएगा। इसके लिए उन्हें किसी भी कार्यालय में चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। यदि कोई पढ़ा-लिखा किसान है तो घर बैठे भी राजस्थान सरकार के द्वारा जारी की गई इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 योजना के तहत राजस्थान सरकार ने 2000 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया है।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के प्रमुख फायदे क्या है?

  • इस योजना का सबसे बड़ा फायदा गरीब किसानों को मिलने वाला है। क्योंकि जब पहले कभी खेत में काम करते समय किसानों की मृत्यु हो जाती थी, तो किसान के परिवार वालों को काफी आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता था,क्योंकि किसानों के घर पर यदि एक ही व्यक्ति कृषि करता था और यदि उसके बच्चे छोटे हैं तो फिर आगे दिक्कत हो जाती थी l परंतु अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि यदि अब किसान की मृत्यु खेती करते समय किसी हादसे के दौरान होती है, तो उस किसान के परिवार वालों को ₹200000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी। यदि कृषक गतिविधियों के दौरान किसान की उंगलियां कट जाती है या फिर हाथ या पैर में फ्रैक्चर आ जाता है या फिर रीड की हड्डी टूट जाती है, विकलांगता आ जाती है तो इन परिस्थितियों में भी किसान को इस योजना के तहत राशि दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत किसानों को आर्थिक सहायता के रूप में ₹5000 से लेकर ₹200000 तक की राशि दी जाएगी। परंतु इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान आवेदक को या फिर किसान के परिवार वालों को 6 महीने से पहले दुर्घटना के बारे में सरकार को सूचित करना होगा।
  • इस योजना के तहत यदि किसान को कोई ऐसा नुकसान पहुंचता है जिसके कारण वह थोड़े दिन नहीं उठ पाएगा तो उस परिस्थिति में भी इस योजना के तहत इलाज के लिए कुछ राशि दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत 5 वर्ष से लेकर 70 वर्ष तक की आयु के व्यक्ति को फायदा मिलेगा।
  • इस योजना का फायदा किसान को मिलेगा जब कृषक गतिविधियों के दौरान किसान के साथ कोई हादसा होता है। यदि कोई किसान आत्महत्या करता है या फिर उसकी मौत प्राकृतिक तरीके से होती है तो उस किसान के परिवार वाले इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएगा।

Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana के तहत मिलने वाली राशि –

  • इस योजना के तहत यदि कृषक गतिविधियों (Farming Activities) के दौरान किसान की मृत्यु हो जाती है, तो मृत्यु होने पर किसान के परिवार वालों को ₹200000 की राशि इस योजना के तहत दी जाएगी। Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana का लाभ उठाने के लिए पहले रजिस्ट्रेशन कराना बहुत आवश्यक है तभी किसान इस योजना का लाभ उठा पाएगा।
  • यदि कृषक गतिविधियों के दौरान किसान के 2 अंगों में विकलांगता आती है या फिर दोनों हाथ या फिर दोनों पैर या दोनों आंख या फिर एक हाथ या एक पैर में विकलांगता आती है, तो इस परिस्थिति में उस किसान को ₹50000 की राशि सरकार के द्वारा दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत यदि कोई किसान अपने खेतों में काम कर रहा है और काम करते समय उसकी रीढ़ की हड्डी टूट जाती है या फिर उसके सिर पर चोट लगने की वजह से वह कोमा में चला जाता है, तो इस परिस्थिति में उस किसान के परिवार वालों को ₹50000 की राशि दी जाएगी।
  • यदि किसी पुरुष या महिला के सिर के पूरे हिस्से के बालों की डी स्कैल्पइंग (D-Scalping ) होती है तो इस परिस्थिति में भी ₹40000 की राशि दी जाएगी।
  • यदि कृषि करते समय किसी हादसे के दौरान पुरुष या महिला के सर के कुछ हिस्से के बालों की डी स्काल्पिंग ( D-Scalping ) हुई है, तो इस दौरान पीड़ित को ₹25000 की राशि दी जाएगी।
  • खेती करते समय अगर किसी हादसे की वजह से किसी किसान की 4 उंगलियां कट जाती हैं, तो इस परिस्थिति में इस योजना के तहत किसान को ₹20000 की राशि दी जाएगी। इसके अतिरिक्त यदि किसी किसान की 3 उंगलियां कटती है, तो उस किसान को ₹15000 की राशि दी जाएगी। यदि किसी किसान की खेती के दौरान किसी हादसे में 2 उंगलियां कट जाती है, तो उस किसान को ₹10000 की राशि इस योजना के तहत दी जाएगी। इसके अतिरिक्त यदि किसी किसान की हादसे में 1 उंगली कटती है, तो उस किसान को ₹5000 की राशि दी जाएगी।
  • अगर कोई किसान अपने खेतों में काम कर रहा है काम करते समय किसी हादसे की वजह से उस किसान के हाथ या पैर में फ्रैक्चर आ जाता है, तो फ्रैक्चर आने पर Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 के तहत किसान को ₹5000 की राशि दी जाएगी।

Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana के अनुसार लाभार्थी?

  • इस योजना के तहत यदि दुर्घटना के कारण लाभार्थी किसान की मृत्यु हो गई है या फिर वह विकलांग हो गया है, तो इस परिस्थिति में लाभार्थी किसान की पत्नी को यह राशि दी जाएगी।
  • यदि हादसे के बाद लाभार्थी व्यक्ति या उसकी पत्नी अनुपस्थित है, तो फिर यह राशि उनके बच्चों को भी दी जा सकती है।
  • इस योजना के तहत लाभार्थी किसान के माता-पिता को भी लाभ की राशि दी जा सकती है। परंतु लाभार्थी के माता-पिता को यह राशि तब दी जा सकती है जब लाभार्थी के बच्चे तथा पत्नी अनुपस्थित हो।
  • यदि कोई लाभार्थी अविवाहित है, तो उस लाभार्थी की बहन यदि उसके साथ रह रही है, तो उसकी बहन को भी यह राशि दी जा सकती हैं।
  • यदि किसी लाभार्थी की पत्नी बच्चे माता-पिता या पुत्र-पुत्री आदि नहीं है, तो इस परिस्थिति में जो उसका वारिस होगा उसे इस योजना की राशि दी जाएगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना का मुख्य उद्देश्य –

इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है, कि जब गरीब किसानों की कृषक गतिविधियों के दौरान दुर्घटना के कारण मृत्यु हो जाती है या किसानों को विकलांगता तथा किसी दूसरे हादसे का सामना करना पड़ता है, इस योजना की शुरुआत के पश्चात यदि किसानों के साथ ऐसा होता है तो किसानों को सरकार के द्वारा ₹5000 से लेकर ₹200000 तक की राशि दी जाएगी।

जिससे कि किसान के परिवार वालों तथा किसान को आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा। इस योजना के तहत मिलने वाली राशि से किसान अपना इलाज भी करवा सकेंगे। यदि किसान की मृत्यु हो जाती है, तो मृत्यु के पश्चात किसान के परिवार वालों को ₹200000 की राशि मिल जाएगी जिससे कि उन्हें आर्थिक संकट का सामना नहीं करना पड़ेगा। इस योजना की शुरुआत सरकार के द्वारा सिर्फ इसीलिए की गई है ताकि किसानों को आत्मनिर्भर बनाया जा सके और दुर्घटना के पश्चात किसानों को आर्थिक तंगी से भी लड़ने में मदद मिले।

Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana के तहत आवेदन देने के लिए जरूरी दस्तावेज –

इस योजना के अंतर्गत आवेदन देने के लिए पहले आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने आवश्यक है, तभी आप आवेदन दे सकते हैं जैसे कि :-

  • आधार कार्ड ( Aadhar Card )
  • पैन कार्ड ( Pan Card )
  • बैंक अकाउंट ( Bank Account )
  • आय प्रमाण पत्र ( Income Certificate )
  • निवास प्रमाण पत्र ( Redidence Certificate )
  • आयु प्रमाण पत्र ( Age Proof )
  • इस योजना के तहत आपकी आयु सिर्फ 5 वर्ष से लेकर 70 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • पासपोर्ट साइज फोटो

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि कैसे प्राप्त करें?

हमने आपको बताया ही है, कि यह योजना किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू की गई है। इस योजना के अंतर्गत यदि कृषि गतिविधियों के दौरान किसान की मृत्यु हो जाती है या फिर आंशिक तथा स्थाई रूप से वह विकलांग हो जाता है, तो इस परिस्थिति में सरकार के द्वारा किसान को या फिर किसान के परिवार वालों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के अनुसार यदि किसान की मृत्यु हो जाती है या फिर वह विकलांग हो जाता है, तो इस परिस्थिति में उसके परिवार वालों को तुरंत ही जरूरी दस्तावेजों के साथ संबंधित विभाग में जाना होता है l

वहां जाकर सभी जरूरी दस्तावेज जमा करवाने होते हैं। परंतु याद रहे, कि दुर्घटना होने के 6 महीने के अंदर अंदर आपको यह सभी जरूरी दस्तावेज संबंधित विभाग में जमा करवाने होंगे l तभी आपको इस योजना के तहत आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यदि 6 महीने के बाद आप सभी जरूरी दस्तावेजों के साथ संबंधित विभाग में जाते हैं, तो फिर आप को इस योजना के तहत आर्थिक सहायता नहीं मिलेगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के तहत आर्थिक राशि प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज?

इस योजना के तहत यदि किसी किसान के साथ कोई दुर्घटना घट जाती है और वह योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्रदान करना चाहता है तो उसके पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने चाहिए l तभी वह आर्थिक सहायता के लिए आवेदन दे सकता है जैसे कि :- 

  • दुर्घटना की एफ आई आर ( F.I.R ) तथा पुलिस पूछताछ की रिपोर्ट
  • मृत्यु की स्थिति में किसान की पोस्टमार्टम की रिपोर्ट ( Post Mortem Report ) तथा मृत्यु प्रमाण पत्र ( Death Certificate ) चाहिए होगा l
  • आयु प्रमाण पत्र ( Age Certificate )
  • सब डिविजनल मजिस्ट्रेट ( Sub. Divisional Magistrate )की केस स्वीकृत रिपोर्ट l ( Case Approved Report) 
  • विकलांग होने की स्थिति में सिविल सर्जन या मेडिकल बोर्ड के द्वारा विकलांगता का प्रमाण पत्र ( Certificate of Disability ) तथा विकलांगता की तस्वीरें l
  • क्षतिपूर्ति बोंड ( Compensation Bond )
  • डी स्काल्पिंग ( D – Scalping ) की स्थिति में हेयर डेंटल रिपोर्ट l ( Hair Dental Report )
  • इसके अतिरिक्त और भी कुछ दस्तावेज चाहिए होंगे जो कि विभाग के द्वारा आपको बता दिए जाएंगे।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021 के आवेदन कैसे करें –

  • यदि आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं , तो सबसे पहले आपको कृषि विभाग में जाना होगा। फिर कृषि विभाग से आपको इस योजना का आवेदन पत्र लेना होगा।
  • फिर आपको इस योजना के आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारियां भरनी है जैसे कि नाम, मोबाइल नंबर, एड्रेस आदि।
  • आवेदन पत्र को भरने के पश्चात इसके साथ सभी जरूरी दस्तावेजों को अटैच करें और फिर इसे कृषि विभाग में जमा करवा दें l फिर थोड़े दिनों तक आपके द्वारा जमा किए गए सभी दस्तावेजों की वेरिफिकेशन की जाएगी। इस प्रकार आवेदन किया जा सकता है।
  • हम आपको बता दें, कि यह हमने आपको ऑफलाइन तरीका बताया है यदि आप चाहते हैं, कि आप इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन दें , तो अभी इस योजना की कोई अधिकारिक वेबसाइट लॉन्च ( Official Website Launch ) नहीं की गई है। जल्द ही इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट राजस्थान सरकार के द्वारा लांच ( Launch ) की जाएगी उसके पश्चात आप ऑनलाइन आवेदन दे पाएंगे।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना संबंधित पूछे जाने वाले सवाल?

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के तहत किसे लाभ दिया जाएगा?

इस योजना के तहत राजस्थान के किसानों को लाभ दिया जाएगा। यदि कृषि गतिविधियों के दौरान किसानों को किसी हादसे के कारण जान गंवानी पड़ती है या फिर विकलांगता का सामना करना पड़ता है, तो इस परिस्थिति में किसानों को तथा उनके परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के तहत कितने रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी?

इस योजना के तहत कृषि गतिविधियों के दौरान यदि किसान किसी हादसे का शिकार हो जाता है, तो उसके परिवार वालों की ₹5000 से लेकर ₹200000 तक की मदद की जाएगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के तहत पंजीकरण कैसे करवाएं?

इस योजना के तहत यदि आप पंजीकरण करवाना चाहते हैं, तो फिलहाल आप ऑनलाइन आवेदन नहीं दे पाएंगे क्योंकि इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट अभी तक लांच नहीं की गई है। परंतु राजस्थान सरकार के द्वारा जल्द ही इस योजना की ऑफिशियल वेबसाइट लांच कर दी जाएगी। जिसके माध्यम से आप ऑनलाइन आवेदन दे पाएंगे |

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना की शुरुआत कब और किसने की?

इस योजना की घोषणा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 24 फरवरी 2021 को की है।

Conclusion – 

हम उम्मीद करते हैं, कि आपको Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 की सभी जानकारी मिल गई होगी। इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana Ke Fayde तथा Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana के मुख्य उद्देश्य बताए हैं।

इसी के साथ साथ हमने आपको Important Document For Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana In Hindi तथा How To Apply For Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Scheme In Hindi के बारे में भी बताया है। यदि अभी भी आपको Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 के बारे में कुछ भी जानकारी हमसे पूछनी है तो कमेंट सेक्शन में कमेंट करें। धन्यवाद

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *