Rajasthan में 2 अगस्त से खुलेंगे स्कूल एवं शैक्षणिक संस्थान-अभिभावक बोले बिना वैक्सीन बच्चों को कैसे भेजे |

By | July 25, 2021

Rajasthan में 2 अगस्त से खुलेंगे स्कूल एवं शैक्षणिक संस्थान, राजस्थान सरकार ने फैसला लिया कि 2 अगस्त से प्रदेश के सभी विद्यालय खुलेंगे, School खोलने के निर्णय के बाद बच्चों एवं अभिभावकों में मचा हड़कंप, कोरोना की तीसरी लहर में बच्चे कैसे जाएँगे school, शिक्षा विभाग ने कहा हमारी तैयारी पूरी है |

Latest Update-25 July 2021-:राजस्थान प्रदेश में 2 अगस्त से स्कूल खुलने के निर्णय पर पुनः विचार किया जाएगा | समाचार पत्र में प्रकाशित सूचना के अनुसार केंद्र सरकार से पूछकर ही स्कूल खोलने पर निर्णय किया जाएगा | इसके अलावा कॉलेज खोलने को लेकर निर्णय अगले 15 दिनों तक टाल दिया गया है |

हम यह बात अच्छे से जानते हैं, कि राजस्थान राज्य में Corona Virus के कारण परिस्थितियां कितनी खराब हो गई थी | अभी तक राज्य में लाखों लोग ऐसे हैं जिन्हें Corona Vaccine नहीं लग पाई है | क्योंकिCorona Vaccine की मांग ज्यादा है, परंतु इसकी उपलब्धता अभी कम है | इसी बीच सरकार के द्वारा बीते गुरुवार को मंत्रिमंडल की बैठक में एक अहम फैसला ले लिया है |

बैठक में सीएम अशोक गहलोत के साथ अन्य सभी बड़े मंत्री शामिल थे | मंत्रिमंडल की इस बैठक में सभी शैक्षणिक संस्थानों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए 2 अगस्त 2021 से खोलने का फैसला लिया गया है | बैठक के दौरान कुछ मंत्री ऐसे थे जो अभी शैक्षणिक संस्थान एवं स्कूल को खोलने के लिए सहमति नहीं दे रहे थे और कुछ मंत्री ऐसे थे जिन्होंने अपनी सहमति दे दी थी |

Rajasthan State School Open from 2 August 2021

इसीलिए अंत में सभी मुद्दों को ध्यान में रखते हुए सीएम गहलोत के द्वारा अंत में स्कूल खोलने का फैसला ले लिया है | सरकार के इस फैसले कि अभी कोई भी औपचारिक घोषणा नहीं की गई है, यदि स्कूल 2 अगस्त 2021 से खुलते हैं, तो सरकार के द्वारा अलग से एसओपी जारी कर के दिशा निर्देश दे दिए जाएंगे |

जब से अभिभावकों ने यह खबर सुनी है, कि राजस्थान में 2 अगस्त से शैक्षणिक संस्थान एवं स्कूल खुल रहे हैं, तभी से अभिभावकों में हड़कंप मच गया है | अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं है | आइए जानते हैं कि अभिभावकों की परेशानी की वजह क्या है और अभिभावकों के द्वारा सरकार के इस फैसले पर नाराजगी क्यों जताई जा रही है |

कुछ मुख्य कारण है जिस वजह से अभिभावक बच्चों को स्कूल भेजने के संबंध में है चिंतित

जब 2 अगस्त 2021 से स्कूल खोलने की घोषणा के बारे में अभिभावक संघ से पूछा गया तो अभिभावक संघ ने यह कहां है, कि सरकार के द्वारा स्कूल खोलने का लिया गया फैसला बहुत गलत है | अभिभावकों का यह कहना है, कि अभी तो स्कूल के स्टाफ के बहुत मेंबर ऐसे हैं, जिन्हेंCorona Vaccine नहीं लगी है, ऐसे में बच्चों को स्कूल में भेजना खतरे से खाली नहीं है |

अभिभावकों के अनुसार भारत सरकार के द्वारा अभी छोटे बच्चों के लिए कोविड-19 भी लॉन्च नहीं की गई है | ऐसे बच्चे जो 18 वर्ष से कम आयु के हैं, उन्हें बिना वैक्सीन लगाएं स्कूल में भेजना सही नहीं रहेगा | यदि सरकार के द्वारा छोटे बच्चों के लिए कोविड वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को यदि समय रहते पूरा करवा लिया जाता तो उन्हें अधिक समस्या नहीं होती |

राजस्थान में कोरोना की तीसरी लहर के आने के भी दिए जा रहे हैं संकेत

सरकार के द्वारा एक तरफ यह बयान दिया जा रहा है, कि कोरोना की तीसरी लहर जल्द ही राजस्थान में प्रवेश करने वाली है और कुछ जगह पर इसके मामले भी सामने आए हैं | यदि कोरोना कि तीसरी लहर बुरे तरीके से राज्य में फैल जाती है, तो छोटे बच्चों पर इसका प्रभाव सबसे अधिक पड़ेगा | ऐसे में सरकार स्कूल खोलने के बारे में सोच रही है इससे अभिभावक सहमत नहीं है |

राजस्थान में कुछ स्थान ऐसे हैं, जहां पर कोरोना वैक्सीन की बहुत ज्यादा किल्लत है | अभिभावकों के अनुसार अभी तो 18 वर्ष से अधिक विद्यार्थियों को भी कोरोना की दोनों खुराक नहीं लगी है, ऐसे में शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश बच्चों को काफी महंगा पड़ सकता है | हाल ही में ही पुडुचेरी में स्कूल खोल दिए गए थे, परंतु चार दिन के बाद ही सरकार को स्कूल बंद करने पड़े हैं |

इसका मुख्य कारण यह है कि 20 बच्चे ऐसे हैं, जो कोरोना संक्रमित पाए गए हैं | इसी से भयभीत होकर मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा भी फिलहाल स्कूल ना खोलने का फैसला लिया गया है | अभिभावकों का कहना है कि बच्चों की सेहत को मद्देनजर रखते हुए राज्य सरकार को इस फैसले को बदलना होगा |

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *