राजस्थान के बेरोजगारों को बी.पी.एड भर्ती का इंतजार-कैसे मिलेंगे अर्जुन और एकलव्य|

By | May 23, 2021

राजस्थान में पिछले सात साल से नहीं हुई बीपीएड भर्ती,राजस्थान प्रदेश में करीब पांच हजार शारीरिक शिक्षकों के पद रिक्त पड़े है,प्रदेश में नई भर्ती नहीं होने से कैसे मिलेंगे अर्जुन और एकलव्य,केंद्र की नई शिक्षा नीति में शारीरिक शिक्षा को अनिवार्य किया|

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में राजस्थान बीपीएड भर्ती प्रक्रिया के बारे में सम्पूर्ण जानकारी बताएगी | राजस्थान प्रदेश में बेरोजगारों को पिछले सात सालो से बीपीएड भर्ती का इंतजार है| बेरोजगारों का कहना है कि आखिर कब नई भर्ती होगी | राजस्थान प्रदेश में शारीरिक शिक्षकों के करीब पांच हजार से अधिक पद खाली है |

Rajasthan PTI Bharti
Rajasthan PTI Bharti

वर्ष 2018 में शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक ग्रेड (physical training instructor)-III के 4500 पदों पर भर्ती हुई थी | लेकिन शारीरिक शिक्षकों की भर्ती वर्ष 2013 में हुई थी | इससे प्रदेश के बेरोजगारों का कहना है कि भर्ती समय पर नहीं होने की वजह से हमारी उम्र बढ़ती जा रही है | इसलिए राजस्थान सरकार से उम्मीद है कि जल्द ही नई भर्ती निकालकर बेरोजगारों को राहत प्रदान करेगी| अधिक जानकारी के लिए आप इस पेज को आखिर तक जरूर पढ़े|

Contents

नई भर्ती नहीं होने से अर्जुन और एकलव्य के भविष्य पर संकट-

राजस्थान प्रदेश में शारीरिक शिक्षकों के करीब 5000 पद खाली पड़े है| द्वितीय श्रेणी शारीरिक शिक्षकों के लिए वर्ष 2013 में भर्ती निकाली गई थी | लेकिन सात साल बीतने के बाद भी प्रदेश में नई भर्ती नहीं निकाली गई है | केंद्र सरकार की नई शिक्षा नीति में physical training instructor (PTI) को अनिवार्य करने के बाद भी पद रिक्त पड़े हुए है |

ऐसी स्थिति में इसका सीधा असर भविष्य के प्रतिभावान खिलाड़ियों पर पड़ रहा है,जिससे आने वाले समय में हमारे प्रदेश और देश को अर्जुन और एकलव्य नहीं मिल सकेंगे | शिक्षा विभाग में करीब 35 हजार पदों को भरने के लिए घोषणा की गई है,लेकिन इसमें शारीरिक शिक्षकों के लिए एक भी पद नहीं रखा गया है| इससे स्कूलों में शारीरिक शिक्षकों के पद अभी भी खाली पड़े हुए है |

बच्चों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है-

प्रदेश में शारीरिक शिक्षकों के लिए भर्ती नियमित नहीं होने की वजह से सरकारी स्कूलों में काफी पद खाली पड़े हुए है| राजस्थान प्रदेश के सभी स्कूलों में physical training instructor के पद नहीं होने की वजह से बच्चों के स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है| इसके अलावा स्कूलों में शारीरिक शिक्षक नहीं होने से नए खिलाड़ी भी नहीं मिल पा रहे है|

बीपीएड धारकों ने बताया कि जिस प्रकार से सरकार ने रीट परीक्षा के लिए घोषणा कर प्रदेश के हजारों बेरोजगारों को तोहफा दिया है | हम बीपीएड धारी बेरोजगारों को भी उम्मीद है कि सरकार रिक्त पदों की अनुशंसा लेकर प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी शारीरिक शिक्षकों की भर्ती जल्द ही निकाले और बेरोजगारों को राहत देवे |

नोट-दोस्तों अगर आपको हमारी टीम द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो, आप इस सूचना को सोशल मीडिया (वाट्सअप,फेसबुक,टेलीग्राम) पर जरूर शेयर करे-धन्यवाद

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *