Rajasthan Computer Instructor भर्ती से पहले शुरू हुआ फर्जी डिप्लोमा-डिग्री खरीदने का खेल-घर बैठे सर्टिफिकेट देने की डील हुई |

By | August 14, 2021

Rajasthan Computer Instructor भर्ती से पहले शुरू हुआ फर्जी डिप्लोमा-डिग्री खरीदने का खेल, राजस्थान सरकार द्वारा जल्द ही कंप्यूटर अनुदेशक के 10453 पदों पर विज्ञापन जारी करने की संभावना है, Rajasthan Computer Instructor भर्ती विज्ञप्ति से पहले ही फर्जीवाड़ा शुरू हुआ, फर्जी गिरोह ने डिप्लोमा-डिग्री घर बैठे देने की बात कही, कंप्यूटर की डिग्री Back date में देने की भी हुई डील |

जब भी किसी भर्ती की घोषणा होती है, तो उस भर्ती को लेकर परीक्षा से पहले ही फर्जीवाड़ा भी शुरू हो जाता है | अगर थोड़े पैसे देकर नौकरी मिल रही है, तो  पैसे देना ज्यादा जरूरी समझते हैं | अब ऐसे में  ऐसे लोग भी मिल जाते हैं जो कि फर्जीवाड़ा में  साथ देते हैं | हाल ही में राजस्थान राज्य में Rajasthan Computer Instructor भर्ती की घोषणा हुई है |

इस घोषणा के होते ही राज्य की सभी Institutes में फर्जीवाड़ा भी शुरू हो चुका है, जो कि 1 साल में होने वाली डिग्री सिर्फ 1 महीने में ही करवा कर दे रहे हैं | Rajasthan Computer Instructor के पद खाली पड़े हुए हैं, अब राज्य में उन्हें पदों पर भर्तियां की जानी है, लेकिन इन पदों की भर्ती की सिर्फ घोषणा ही हुई है, और तभी राज्य में गंभीर रूप से फर्जीवाड़ा होना शुरू हो चुका हैं |

3 साल की डिग्री मिल रही है सिर्फ 3 महीने में

सरकार के द्वारा आप 22 जुलाई को Rajasthan Computer Instructor भर्ती का ऐलान किया गया था और जब इस भर्ती का ऐलान किया गया तो उसमें कंप्यूटर की डिग्रियां भी इंस्टीट्यूट के द्वारा बना बना कर बेची जाने लगी | वैसे तो इस भर्ती के तहत योग्यता निर्धारित नहीं की गई, लेकिन जो संस्थान फर्जी डिग्री डिप्लोमा में डील कर रहे हैं, तो उन्होंने पहले ही इस बात का दावा कर दिया है कि इस भर्ती के तहत PGDCA और BCA ही योग्यता रहेंगी |

Rajasthan computer instructor Fake Degree
Rajasthan computer instructor Fake Degree

इसी वजह से अब राज्य के सभी बेरोजगार युवा जो कि सरकारी नौकरी की तलाश में रहते हैं, इन्होंने अब Fake Degrees बनवाना शुरू कर दिया हैं | पीजीडीसीए डिप्लोमा का कोर्स 1 साल का है, लेकिन कंप्यूटर संस्थानों के द्वारा यह डिप्लोमा सिर्फ 1 महीने में ही करवाया जा रहा है | अगर किसी छात्र को बीसीए की डिग्री चाहिए तो बी सी ए का कोर्स 3 साल का होता है,

लेकिन फर्जीवाड़ा करने वाले संस्थान इस 3 साल की डिग्री को सिर्फ 3 महीने में ही करवा रहे है l यह काफी चिंता वाली बात है, क्योंकि इस प्रकार की Fake Degree लेकर अगर अध्यापक बच्चों को कंप्यूटर सिखाएंगे तो फिर तो बच्चों का पूरा भविष्य ही अंधकार में है | क्योंकि जब अध्यापकों को खुद ही कुछ नहीं आता होगा तो वह बच्चों को कैसे सिखा पाएंगें |

दोगुने पैसे लेकर मिल रही है Back Date Degree

ऐसा बताया जा रहा है कि Rajasthan Computer Instructor के तहत 2 साल पुरानी डिग्री चाहिए होगी, लेकिन जो छात्र अब इन भर्तियों के तहत आवेदन देना चाहते हैं तो उन्हें संस्थान दोगुने पैसे लेकर 2 साल पुरानी डिग्री बना कर दे रही हैं | जब यह फर्जीवाड़े का मामला सामने आया तो फिर भास्कर के दो रिपोर्टरों ने इस बात का पता लगाने के लिए राज्य में स्थित 40 इंस्टिट्यूट में संपर्क किया और उन 40 इंस्टिट्यूट में से 30 इंस्टीट्यूट ऐसे हैं जो कि फर्जीवाड़ा करने को तैयार हो गए |

अगर कोई व्यक्ति सामान्य रूप से PGDCA करता हैं, तो उसे ₹15000 फीस देनी पड़ती है | लेकिन अगर कोई व्यक्ति इन संस्थानों के माध्यम से 2 साल पुराना PGDCA certificate लेना चाहता है, तो उसे मात्र ₹30000 में PGDCA का 2 साल पुराना सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा | इसके अतिरिक्त जिन अभ्यर्थियों को BCA की डिग्री चाहिए तो उन अभ्यार्थियों को मात्र ₹50000 में BCA की डिग्री दे दी जाएगी |

हम आपको बता दें कि रिपोर्टरों के पास इस पूरे फर्जीवाड़े की रिकॉर्डिंग भी उपलब्ध है | ऐसा बताया जा रहा है, कि यह स्थिति तो केवल तब है जब सरकार ने Rajasthan Computer Instructor की सिर्फ घोषणा ही की हैं | सरकार के द्वारा अभी तक इस भर्ती की योग्यता निर्धारित नहीं की गई | लेकिन संस्थानों ने खुद ही इस बात का दावा कर दिया है, कि इन भर्तियों के तहत आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों से PGDCA और BCA की डिग्रियां ही मांगी जाएंगे | राज्य में यह बात फैलते ही राज्य के बेरोजगार युवा अलग-अलग संस्थानों पर संपर्क कर रहे हैं और फर्जी डिग्रियां हासिल कर रहे हैं |

घर बैठे दिया जाएगा सर्टिफिकेट

जब भास्कर के दो रिपोर्टरों ने फर्जी डिग्री देने वाले संस्थानों से बात की तो बातचीत के दौरान उन्हें यह कहा गया, कि आपको PGDCA या BCA जॉन सा भी कोर्स करना है, वह आपको करवा दिया जाएगा, लेकिन आपको पहले ऑफिस आना होगा | जब उन्होंने यूनिवर्सिटी के बारे में पूछा तो ऐसा कहा गया कि जयपुर में तो यूनिवर्सिटी बंद है, लेकिन सांगनेर में अपनी यूनिवर्सिटी है और उसके एग्जाम भी 21 अगस्त से चालू हो जाएंगे तो यहीं से आपको डिग्री करवा दी जाएगी |

जब भास्कर के रिपोर्टर ने उन्हें यह कहा कि उन्हें बैक डेट में डिग्री चाहिए, तो फिर संस्थानों के द्वारा यह कहा गया कि आपको दोगुने पैसे देने होंगे फिर आपको Back Date Degree मिल जाएगी | संस्थानों के द्वारा ऐसा भी कहा गया कि अगर आप जल्दी डिग्री लेना चाहते हैं, तो आपको University of Madhya Pradesh से Degree दिलवा दी जाएगी जो कि आपको सिर्फ 10 दिन में ही मिल जाएगी |

Rajasthan Comouter Instructor के 10453 पदों पर होगी भर्ती

राजस्थान राज्य में कुल 14500 सीनियर सेकेंडरी स्कूल है | जिनमें 9 वीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा कंप्यूटर का विषय तो है, लेकिन स्कूलों में कंप्यूटर की पढ़ाई बच्चों को नहीं पढ़ाई जाती, क्योंकि स्कूलों में शिक्षक मौजूद नहीं है | इसी को लेकर राजस्थान सरकार के द्वारा यह घोषणा की गई कि Rajasthan Computer Instructor के 10453 पदों पर भर्तियां की जाएगी, ताकि राज्य के बच्चों को स्कूल में कंप्यूटर से जुड़ी शिक्षा प्राप्त हो सकें | हम आपको बता दें कि निजी संस्थानों में PGDCA Diploma की सीटों की लिमिट कभी भी तय नहीं होती और यही कारण है की निजी संस्थान पीजीडीसीए के सर्टिफिकेट बांट रहे हैं |

सरकार को करवानी चाहिए जांच

ऐसा कहा जा रहा है, कि शिक्षा विभाग को एक डाटा तैयार करना चाहिए कि हर साल कितने विद्यार्थी डिप्लोमा करते हैं और यह भी देखना चाहिए कि भर्ती की घोषणा के पश्चात कितने विद्यार्थियों की संख्या में अचानक से बढ़ोतरी हुई है | अगर उन्हें अचानक से ही विद्यार्थियों की संख्या में बढ़ोतरी दिखती है तो फिर उन्हें तुरंत ही पूरे मामले की जांच करवानी चाहिए |

राजस्थान राज्य के  Unemployment Unified Federation के State President Upen Yadav ने यह कहा है, कि Computer Education Recruitment के तहत अगर किसी भी अभ्यर्थी के पास fake certificate पाया जाता है, तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी | उन्होंने यह भी कहा कि हम एसओजी में भी इस मामले के खिलाफ शिकायत करेंगे ,ताकि जिन लोगों ने ईमानदारी और मेहनत करके डिग्रियां हासिल की है तो उनके साथ अन्याय ना हो | इसके अतिरिक्त उन्होंने यह भी कहा कि शिक्षा विभाग को अब एक अंतिम तारीख भी तय कर देनी चाहिए जिसके बाद के डिप्लोमा या डिग्री इन भर्तियों में मान्य नहीं होंगे |

News Source Link-https://epaper.bhaskar.com/

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *