PTI Bharti के परिणाम को हाईकोर्ट में दी गई चुनौती-शिक्षा सचिव को 2 सप्ताह में देना होगा जवाब |

PTI Bharti के परिणाम को हाईकोर्ट में दी गई चुनौती, PTI Bharti Result जारी होने के बाद असफल उम्मीदवारों में है आक्रोश, उत्तर कुंजी में गड़बड़ियां होने के कारण बहुत Candidates भर्ती से बाहर हो चुके है, बोर्ड के द्वारा बहुत प्रश्नों के उत्तर सही नहीं दिए गए हैं, इसी संबंध में हाल ही में ही हाईकोर्ट में सुनवाई हुई है, चलिए जान लेते हैं पूरा मामला क्या है ।

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (RSMSSB) के द्वारा शारीरिक शिक्षकों के पदों के लिए पीटीआई की भर्ती प्रक्रिया का रिजल्ट 21 अक्टूबर को जारी किया गया था। जिसके बाद से रिजल्ट को लेकर उम्मीदवारों द्वारा काफी विरोध किया गया। क्योंकि बोर्ड द्वारा आधा दर्जन सवालों के जवाब गलत बताए गए थे। जबकि बोर्ड की ही पुस्तकों में उन सवालों को सही बताया गया है।

हद तो तब हो गई जब बोर्ड द्वारा वे सवाल डिलीट कर दिए गए। जिससे काफी उम्मीदवार RSMSSB PTI Recruitment 2022 की चयन प्रक्रिया से बाहर हो गए। इस बात को लेकर कुलदीप सिंह (छात्र )ने राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायर की। जिस पर जस्टिस इंद्रजीत सिंह की याचिका द्वारा शिक्षा सचिव, माध्यमिक शिक्षा निदेशक तथा राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के सचिव से 2 हफ्ते में इस पर जवाब देने के लिए कहा गया है।

जून माह में 5546 पदों पर निकाली गई थी, शारीरिक शिक्षकों की भर्ती।

उम्मीदवारों की जानकारी के लिए बता दे कि RSMSSB physical education teacher vacancy 2022 के लिए आवेदन 23 जून 2022 से लिए गए थे, जिसमें आवेदन करने की अंतिम तिथि 22 जुलाई 2022 निर्धारित की गई थी। आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद जल्द ही बोर्ड द्वारा 25 सितंबर 2022 को RSMSSB PTI exam राजस्थान के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर लिया गया था।

Handwritten Notes के लिए फॉर्म भरे

RPSC ने आवेदन फॉर्म में संशोधन करने के लिए फिर से दिया मौका

Mahatma Gandhi English Medium School 10000 Recruitment 2022
PTI Bharti Latest Update

राजस्थान पीटीआई भर्ती की लिखित परीक्षा होने के बाद 12 अक्टूबर 2022 को बोर्ड द्वारा RSMSSB PTI exam की आंसर की जारी की गई। जिसमें उम्मीदवारों को बड़े पैमाने पर प्रश्न गलत देखने को मिले। जिसको लेकर उम्मीदवारों ने राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की आंसर की को चैलेंज किया।

21 अक्टूबर को जारी किया गया था राजस्थान पीटीआई भर्ती का परिणाम।

जब 12 अक्टूबर 2022 को राजस्थान पीटीआई परीक्षा की आंसर की जारी की गई थी, तो बोर्ड द्वारा उम्मीदवारों से answer key में गलत प्रश्नों पर  आपत्तियां दर्ज करने को कहा था। उम्मीदवारों द्वारा गलत प्रश्नों पर आपत्तियां दर्ज की गई थी। लेकिन 21 अक्टूबर को जो परिणाम जारी किया गया l उसमें गलत प्रश्नों को बोर्ड द्वारा हटा दिया गया।

यानी उन प्रश्नों के नंबर उम्मीदवारों को नहीं दिए गए। जिससे ऐसे सभी उम्मीदवार बाहर हो गए l जो कुछ प्रश्नों के कारण Board की गलती का शिकार हुए थे। जब छात्रों का एक समूह बोर्ड के अधिकारियों से मिला, तो उन्होंने उम्मीदवारों के लिए कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं दी। इस वजह से छात्रों द्वारा आंसर की को कोर्ट में चैलेंज किया गया।

जिसमें छात्र कुलदीप सिंह की याचिका पर जस्टिस इंद्रजीत सिंह ने इस मामले को अच्छी तरह सुना। जिसके बाद कोर्ट ने भी छात्रों के पक्ष में फैसला सुनाया। जिसमें High Court द्वारा मामले में शिक्षा सचिव, माध्यमिक शिक्षा निदेशक  तथा राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के सचिव को 2 सप्ताह में जवाब देने के लिए कहा है।

अब आगे की राह क्या है?

Rajasthan High Court द्वारा जब कुलदीप सिंह की याचिका को सुना गया, तो उनको विश्वास हो गया, कि छात्र सही कह रहे हैं। क्योंकि छात्रों द्वारा बोर्ड के द्वारा जारी की गई किताबों  मे से उनके प्रश्नों के उत्तर दिखाए थे। जिनको बोर्ड द्वारा गलत साबित किया गया था।

Junior Instructor & JEN Agriculture Bharti के लिए डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन तिथि हुई घोषित हुई

RBI द्वारा e-RUPI Digital Currency लांच की गई

जिसके बाद छात्रों के अधिवक्ता आरपी सैनी ने जल्द से जल्द इस पर कार्रवाई की मांग की। जिस पर जज साहब ने education department का पक्ष रखने वाले वकील से कहा, कि मुझे 2 हफ्ते के अंदर शिक्षा सचिव, माध्यमिक शिक्षा निदेशक तथा राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के सचिव से इस मामले पर लिखित जवाब चाहिए।

जिस पर सरकारी वकील ने सहमति दर्ज की। अब शिक्षा विभाग के पास 2 हफ्ते का समय है। अगर इस समय में विभाग द्वारा कोई उचित उत्तर ना दिया गया, तो राजस्थान हाई कोर्ट छात्रों के पक्ष में फैसला सुना देगा। जिसमें गलत घोषित किए गए प्रश्नों के नंबर को उम्मीदवारों को देने के लिए कहा जा सकता है।

Leave a Comment