ताजमहल के बंद 22 कमरों की तस्वीरें जारी,खुल गया राज- जानते हैं पूरा मामला (ASI Photos)

बीजेपी के नेता डॉ. रजनीश कुमार की ओर से इलाहाबाद हाई कोर्ट में  याचिका दायर की गयी थी, जिसमे उन्होंने ताजमहल के 22 बंद कमरों को खोलने की इजाजत मांगी थी। उनका कहना है कि ताजमहल के इन 22 बंद कमरों के पीछे किसी सदियों पुराने राज को छुपाने की कोशिश की जा रही है।

उनका मानना है कि ताजमहल मंदिर को तोड़ कर बनाया गया है। हालाँकि कोर्ट ने इस कहानी को मनगढ़ंत बता कर इस याचिका को ख़ारिज कर दिया है। हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता को कड़ी फटकार भी लगाई.

हाई कोर्ट से सुप्रीम कोर्ट जाएगा मामला

बीजेपी नेता रजनीश कुमार की याचिका हाई कोर्ट में ख़ारिज किये जाने के बाद डॉ. रजनीश कुमार ने कहा है कि इस मामले को वो सुप्रीम कोर्ट तक लेकर जायेंगे। रजनीश सिंह ने दावा किया है कि ताजमहल के नीचे बंद 22 कमरों में हिन्दू सभ्यता, मंदिरों और देवी देवताओं से जुड़े साक्ष्य मौजूद है।

Taj Mahal 22 Rooms ASI Photo 1
Taj Mahal 22 Rooms ASI Photo 1 -Photo Credit ASI Newsletter

पढ़ाया जा रहा है झूठा इतिहास

डॉ. रजनीश सिंह ने अपनी याचिका में बंद दरवाजों की जांच करने की मांग की थी ताकि यह पता लगाया जा सके कि इन कमरों में हिन्दू देवी देवताओं की मूर्तियाँ हैं या नहीं। डॉ. रजनीश सिंह ने दावा किया है कि ताजमहल के बारे में झूठा इतिहास पढाया जा रहा है और लोगों को इस सच्चाई को छुपा कर बेवकूफ बनाया जा रहा है।

Notes & Job Update के लिए फॉर्म भरे

    Taj Mahal 22 Rooms ASI Photo 3
    Photo Credit- ASI Newsletter

    इसीलिए डॉ. रजनीश सिंह ने कहा की सच्चाई का पता लगाने के लिए तहखाने के इन 22 बंद दरवाजों को खोला जाए।

    कोन हैं पूर्व ASI अधिकारी और क्या है उनका काम

    ASI के पूर्व रीजनल डायरेक्टर केके मुहम्मद हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि देश में स्थित सभी एतिहासिक इमारतों के संरक्षण का काम ASI ही करता है तथा इमारतों का रख रखाव, रिपेयरिंग और बाकी के काम सभी ASI की ही जिम्मेदारी है।

    Taj Mahal 22 Rooms ASI Photo 4
    Photo Credit- ASI Newsletter

    ASI ने जारी की तहखाने की तस्वीरें

    हाई कोर्ट ने ताजमहल के कमरों को खुलवाने की याचिका को ख़ारिज करते हुए कहा था की इस मामले की दोबारा जांच की जाये। इस पर पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग ने जनवरी 2022 में ताजमहल के तहखाने की कुछ तस्वीरें अपने न्यूज़लेटर में जारी करते हुए कहा है कि हम संरक्षण से जुड़े कामों के लिए ताजमहल की बेसमेंट और छत पर जाते रहते हैं।

    Photo Credit- ASI Newsletter

    आपको बता दें कि ASI ने 4 तस्वीरें जारी की हैं, जिनमे से 2 संरक्षण से पहले की तथा 2 तस्वीरें संरक्षण के बाद की हैं।

    तस्वीरों को किया गया सार्वजनिक

    ताजमहल के तहखाने में बंद 22 कमरों पर मचे घमासान के बीच भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग ने तस्वीरों को सार्वजनिक कर दिया है। ये तस्वीरें जनवरी 2022 के न्यूज़लेटर के रूप में भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग की साईट पर सभी के लिए मौजूद हैं।

    तस्वीरों को साझा करने का मकसद

    पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग का कहना है कि ताजमहल के तहखाने में बंद 22 कमरों को लेकर झूठी अफवाहें फैलाई जा रही हैं और लोगों को भ्रमित करने की कोशिश की जा रही है। तस्वीरों को साझा करने का मकसद 22 बंद कमरों को लेकर इन झूठी अफवाहों को फैलने से रोकना है।

    क्या है ताजमहल के तहखाने में

    ताजमहल के तहखाने की जो तस्वीरें ASI ने जारी की हैं उनमे ताजमहल के तहखाने में संरक्षण का काम चल रहा था।  इन तस्वीरों में मुगलकालीन स्थापत्य कला के उदाहरण देखने को मिले तथा मेहरानुमा आकृति दिखाई दी।

    ASI ने बताया की जो चूना खराब हो चूका था, उसके प्लास्टर को हटा दिया गया है तथा उस पर रिपेयरिंग का काम कर दिया गया है।

    Leave a Comment