ओम बन्ना की पूरी कहानी, चमत्कार, बाइक नंबर | Om Banna Chotila | बुलेट बाबा मंदिर

By | September 6, 2021

ओम बन्ना का एक्सीडेंट कैसे हुआ? ओम बन्ना की पूरी कहानी हिंदी में?  Om Banna Story,  बुलेट बाबा मंदिर राजस्थान। ओम बन्ना की बाइक बुलेट का नंबर क्या है?  RNJ 7773– इन सभी सवालो का जबाब आपको इस पेज में मिल जायेगा |

राजस्थान का वो चमत्कारी मंदिर जँहा पर होती बुलेट बाइक की पूजा।  इस मंदिर के पास से गुजरने वाला हर वाहन चालक लगाता है धोक। जानिए ओम बन्ना की पूरी कहानी | राजस्थान वीरो की भूमी में ऐसा कोई गांव या जगह नहीं है, जहां पर कोई झुंझार के देवालय नहीं हो। 

OM Banna Ki kahani Hindi me

राजस्थान की मिट्टी में हजारों कहांनिया दबी है इस लेख में हम आपको राजस्थान के पाली जिले में Om Banna के चमत्कारी मंदिर का वृतांत बताते है।  सन 1988 में घटी वो चमत्कारी घटना जो की आज विश्व भर में ओम बन्ना के मंदिर के नाम से प्रसिध्द है।

ओम बन्ना की पूरी कहानी हिंदी में – Om Banna का परिचय

ओम बन्ना का नाम ओम सिंह राठौर है जो की आज ओम बन्ना (English:- Om Banna, Hindi:- ॐ बन्ना ) के नाम से विख्यात है।   जिला पाली, राजस्थान (ओम बन्ना धाम, गाँव  चोटिला):- ओम बन्ना का जन्म विक्रम सम्वत २०२१ में वैशाख शुदी अष्टमी चांदनी रात 5 मई को पाली जिले के चोटिला गांव में ठाकुर जोग सिंह राठौड़ (Source) के घर हुआ था। 

OM Banna Mandir Photo Chotila Pali Rajasthan

ओम बन्ना की माता का नाम स्वरूप कंवर था। ओम बन्ना के पुत्र का नाम पराक्रम सिंह राठौर है। ओम बन्ना को बुलेट बाबा के नाम से भी जाना जाता है।  

ओम बन्ना का एक्सीडेंट कैसे हुआ?

2 दिसम्बर वर्ष 1988 में शादी के कुछ महीनो बाद ही ओम बन्ना अपनी बाइक बुलेट से अपने ससुराल बगड़ी साण्डेराव से चोटिला गांव की तरफ जा रहे थे।  पाली शहर से 17 किलोमीटर दूरी पर जोधपुर – अहमदाबाद राजमार्ग (NH-162) पर बाड़ाई गांव के पास रात्रि के 8 बजे कुछ प्रकाश की दिव्ये रौशनी दिखाई दी।

Om Banna Ka accident Kaise hua

जब यह तीव्रमयी दिव्ये रौशनी ओम बन्ना की आँखों में पड़ी तो कुछ समय के लिए उनको दिखाई नहीं पड़ा और उनकी बुलेट बाइक पास में खड़े एक पेड़ से जा टकराई। पेड़ से टकराने के बाद कुछ ही क्षणों में ओम बन्ना का वहीँ पर देवगमन हो गया। 

इस हादसे की खबर पाकर नजदीकी सदर थाना रोहिट की पुलिस वहां पर आयी, और शव का पंचनामा कर और आवश्यक खानापूर्ति करके उनके शव को परिजनों को सौंप दिया तथा बुलेट बाइक जिसका नंबर RNJ 7773 था उसको अपने साथ पुलिस थाने में ले गयी। 

OM Banna Chotila Mandir Real Photo

इसी के साथ चालू हुआ चमत्कारों का सिलसिला। हादसे के दूसरे दिन सुबह वही बाइक थाने  से अपने आप चलकर उसी स्थान पर आ गयी जहाँ पर एक्सीडेंट हुआ था।  पुलिस वाले वापिस बुलेट बाइक को थाने ले गए।  उसके अगले दिन फिर यही घटना घटी। 

पुलिस ने बाइक को लेकर एक कमरे में बंद करके और मजबूती से ताला लगा दिया।  लेकिन फिर वही  बाइक हादसे वाली जगह आ गयी।  थाने में पुलिस ने बाइक को जंजीरो से भी बांध दिया लेकिन यही सिलसिला 3 – 4 दिन  लगातार चलता रहा बाइक अपने आप चलकर अपने स्थान पर आ जाती थी। 

वहां पर कुछ ग्रामीणों ने बुलेट बाइक को बिना चालक के सड़क पर चलते हुए भी देखा था।  अंत में ओम बन्ना के पिता जोग सिंह जी और प्रत्यदर्शी ग्रामीणों की भावनाओ को देखते हुए पुलिस ने उस बाइक को हादसे वाली जगह पर ही रखने का फैसला लिया।  

कुछ समय बीतने के पश्चात् ओम बन्ना ने अपनी दादीसा श्रीमती समंदर कँवर को सपने में दर्शन दिए तथा कहा की जहाँ पर मेरी दुर्घटना हुई वहां पर एक चबूतरा बनाया जाये, तभी मुझे  शांति मिलेगी।  उसके बाद वहां पर एक चबूतरा बनवाया गया तथा बाइक को वहीँ पर रखकर चन्दन का टिका लगाकर माल्यापर्ण किया गया। 

तब से लेकर आज तक ओम बन्ना की दिव्ये ज्योत हर समय जलती रहती है और दूर दूर से भक्तगण उनके दर्शनों के लिए आते है।  उनके जन्म दिवस पर बड़े बड़े जागरण भी होते है।

बताते है की ॐ बन्ना की हर माह की चांदनी अष्टमी को भव्ये पूजा अर्चना होती है तथा रात्रि जागरण भी होते है। लोगो की ऐसी अवधारणा है की उस एरिया में उसके बाद वहां कोई सड़क दुर्घटना नहीं हुई है । 

Om Banna की बाइक का नंबर क्या है ?

ओम बन्ना  बुलेट बाइक का नंबर RNJ 7773 है।  

Om Banna bike number is RNJ 7773
Om Banna bike number is RNJ 7773

श्री ओम बन्ना (Om Banna) के कुछ प्रत्यदर्शी चमत्कार |

जोधपुर मार्ग पर चलने वाले शायद ही कोई ऐसा वाहन चालक होगा जो ओम बन्ना के धोक नहीं लगाता हो।

जोधपुर जिले के राजकुमार शिवराज सिंह पोलो खेलते वक्त घोड़े से गिर गए थे और उनको गहरी चोट लगी थी डॉक्टरों ने मना कर दिन था।  तब जोधपुर महारानी हेमलता ने ओम बन्ना के यहां आकर मन्नत मांगी थी और उसके अगले ही क्षण अमेरिका से खबर आयी की उनकी हालत अब खतरें से बाहर  है।      

एक समय प्रवासी सिद्धांत और उनकी पत्नी का एक्सीडेंट जोधपुर के निकटवर्ती इलाके में होता है, सिद्धांत की हालत खतरे में होती में है तो उनकी पत्नी ने बहुत से वाहन चालकों से मदद मांगी लेकिन कोई भी नहीं रुकता है। तभी वहां पर एक बुलेट सवार वहां पर आता है और उनको हॉस्पिटल लेके जाता है जाते समय उसने अपना नाम ओम सिंह बताया। 

जब वापिस जाते समय वो लोग Om Banna के धाम पर दर्शन के लिए रुकते है तो वह पर खड़ी बुलेट बाइक और ओम बन्ना की तस्वीर देखकर बोले यह वहीँ है जिन्होंने हमे अस्पताल पहुंचाने में मदद की थी। (Source news – Mano ya na mano Star TV)

Real Photos of Om Banna, his father & wife

OM Banna Real Photo
OM Banna Real Photo
OM Banna & his Wife Real Photo
OM Banna & his Wife Real Photo
OM Banna Father Real Photo
Real Photo of Om Banna Father

Note – Om Banna और उनके परिवार के सदस्यों की सभी Real Photos का source Jai Rajputana वेबसाइट है |

Om Banna Wallpaper & Bike Photo

OM Banna Chotila Bike Photo
OM Banna Bike Wallpaper
Jai Ho OM Banna Saa ki
Jai Ho OM Banna Saa ki
Bullet Baba Mandir Photo
Bullet Baba Mandir Photo

हमारी टीम की भी आस्था है “ॐ बन्ना और उनके चमत्कार में” | अगर आपको कोई फोटो या किसी लेख पर कोई संदेह या सवाल है तो हमे कमेंट करे ताकि हमारी टीम इसको अपडेट कर सके |

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *