शिक्षक बनना हुआ मुश्किल-नई शिक्षा नीति में शिक्षकों चार चरणों से गुजरना होगा

By | August 7, 2020

नई शिक्षा नीति में हुआ बदलाव, नई शिक्षक भर्ती में चार चरणों से गुजरना होगा, शिक्षकों के चयन का तरीका बदला, नए पैटर्न की वजह से भर्तियां अटक सकती है, बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने किया विरोध

Contents

अब शिक्षकों को चरण चरणों से गुजरना होगा-

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में केंद्र सरकार द्वारा नई शिक्षा नीति के तहत नए शिक्षकों हेतु बनाई गई योजना की सम्पूर्ण जानकारी बताएगी | पुरे देश भर में जल्द ही नई शिक्षा नीति लागु होने की संभावना है |

भारतीय सेना इंजीनियर्स भर्ती 2020-Delhi Police Constable 5846 Recruitment 2020-
राजस्थान ईसीजी टैक्नीशियन भर्ती 2020-आवेदन प्रक्रिया की जानकारी देखेआईटीआई और डिप्लोमाधारियों के लिए नौकरी का अवसर

केंद्र सरकार ने नई शिक्षा नीति बहुत बड़ा बदलाव किया है |नई शिक्षा नीति में स्कूली शिक्षकों के चयन प्रक्रिया में बहुत बड़ा फेरबदल किया गया है | पहले शिक्षकों का चयन केवल लिखित परीक्षा के आधार पर किया जाता था | लेकिन अब नई शिक्षा नीति के बाद शिक्षक बनने के लिए चार चरणों से गुजरना पड़ेगा | इससे पहले केवल परीक्षा से ही भर्ती प्रक्रिया करवाई जाती थी, उन भर्तियों की प्रक्रिया पूरी होने में तीन से चार साल तक का समय लग जाता था |

जब चार चरण के द्वारा भर्ती प्रक्रिया करवाई जाएगी, तब यह नई भर्तियां कब तक पूरी हो पाएंगी | अब आगे होने वाली सभी भर्तियां एनटीए के माध्यम से ही आयोजित करवाई जाने की संभावना है | नई चयन प्रक्रिया की सम्पूर्ण जानकारी के लिए आप इस इस पेज को आखिर तक जरूर पढ़े |

शिक्षकों के चयन में यह बदलाव होगा-

यहाँ इस पैराग्राफ में में हमारी टीम आपको केंद्र सरकार द्वारा शिक्षक भर्ती के लिए जारी की गई नई प्रक्रिया की जानकारी बताएगी | प्राथमिक से उच्च माध्यमिक स्तर के विधालयों तक सभी शिक्षकों के लिए टेट परीक्षा जरुरी होगी | इसके अलावा एनटीए द्वारा ली जाने वाली लिखित परीक्षा भी उत्तीर्ण करनी होगी | इन दोनों परीक्षाओं के बाद साक्षात्कार और 5 से 10 मिनट तक कक्षा में पढ़ना होगा |

TOD भर्ती 2020–इंडियन आर्मी में 3 साल के लिए आम लोगों की भर्तीREET Latest News 2020
“शादी नहीं हो रही है नौकरी के चक्कर में” परीक्षा के इंतजार में 35 लाख अभियर्थीबिना परीक्षा सभी पास-यूजी एवं पीजी के सभी विधार्थी अगली कक्षा में 50% अंको के साथ होंगे प्रमोट

इन चारो चरणों से गुजरने के बाद ही आप शिक्षक बन पाएंगे | सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शिक्षक भर्ती की परीक्षा अब एनटीए एजेंसी के द्वारा ही आयोजित करवाई जाएगी | अगर सभी राज्यों में एक ही एजेंसी परीक्षा करवाई तो, इससे पारदर्शिता भी बनी रहेगी |

पहले यह व्यवस्था थी-

नई शिक्षा नीति से पहले राज्य में तृतीय श्रेणी शिक्षक बनने के लिए रीट परीक्षा ली जाती थी | रीट परीक्षा से पहले तृतीय श्रेणी शिक्षकों के लिए टेट परीक्षा ली जाती थी | इसके अलावा द्वितीय श्रेणी और व्याख्याता भर्ती भी केवल लिखित परीक्षा के माध्यम से ही पूरी करवाई जाती थी | अब नई शिक्षा नीति लागु होने के बाद, सभी नए शिक्षकों को चार चरणों के माध्यम से गुजरना पड़ेगा | सभी शिक्षक भर्तियां एनटीए के माध्यम से सम्पन्न करवाई जाएगी |

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने यह कहा-

केंद्र सरकार द्वारा नई शिक्षा नीति में किये गए फेरबदल के बाद, राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के उपेन यादव ने कहा है, कि इससे प्रतिभाशाली अभ्यर्थियों की बजाय नेता और अफसरशाही के रिश्तेदारों का चयन होगा | उन्होंने यह भी कहा है, कि इस नए प्रावधान से गरीबो को मौका नहीं मिलेगा | भर्ष्टाचार बढ़ने से योग्य अभ्यर्थियों का दमन होगा | हम इस नई नीति का विरोध करते है |

नोट-दोस्तों आप अपनी राय/ विचार हमारी टीम के साथ कमेंट के द्वारा शेयर कर सकते है | अगर यह सूचना आपको अच्छी लगी हो तो, अपने दोस्तों और सोशल मीडिया (वाट्सअप, फेसबुक) पर जरूर शेयर करे-धन्यवाद

follow us for social updates

101 thoughts on “शिक्षक बनना हुआ मुश्किल-नई शिक्षा नीति में शिक्षकों चार चरणों से गुजरना होगा

  1. kamlesh

    bilkul bade logon k bachho k chayan honge or talent ka khatma

    Reply
    1. Kamal

      Ar vote do BJP ko, ram mandir k dhandhali, mandir to bs ek naam h uske peeche kitni rajneeti h pta nhi bhai log, BJP hi to chah rhi ki nyi sikha niti m bdlao aye

      Reply
      1. MR Shekhawat

        BJP zindabaad … Janta ka brosa h BjP pr Congress k raaz m bukhe mar gy log

        Reply
          1. Sunita

            Isme konsa raaj kr rhe h log.. Itne kaand huye h jo phle kbi nai huye… Fake bjp…

    2. Shahid

      Ye neta log gareeb berojgar logo ko asi nitiya banaker dhhake marte rahenge. Aur do vote vese bhee Naseeb me dhhake hi likhe h

      Reply
    3. Saurabh Pandey

      Demo class ka suggestion achchha hai. But two times written exam hoga to achchhe students ko mauka kam hi mil payega.

      Reply
    4. Jitender Kumar

      अभी शांति रखो ड्राफ्ट तैयार होने दो अब इतनी आसानी से भ्रष्टाचार नहीं होगा teacher को भी मौका मिलेगा बगैर किसी सिफारिश के ।

      Reply
    5. Rajendra Singh negi

      Jo log apne ghar ak kam nahi kar sakte wah bacho ko skild banayenge

      Reply
  2. Vinay Kumar

    Bat to Sahi hai ki isme dhadhali jabrjasht hogi
    Isiliye bjp dimak lgai hai mai aap ki bat se sahmat hu

    Reply
    1. Pradeep kumar mauraya

      Sarkaar naukri hi dena nahi chahti h is trah to garib log kbhi teacher ban hi nhi payenge. Mai aapki baat sehmat hun.

      Reply
      1. Nitish Kumar

        Eska birodh hona chahiye sabhi log ka ekjut hokar aabaj uthana chahiye nhi to sadharan family se belong karne bale log ko master banana bs sapna rah jaega

        Reply
      2. Sunnydew singh singh Chauhan

        बीजेपी सरकार हर एक चीज को प्राइवेट करने में लगी है इससे गरीब गरीब होगा अमीर अमीर होता जाएगा और नई शिक्षा नीति से देश में नौकरशाही और राजशाही होने का ज्यादा ज्यादा वैकेंसी इन के हाथों में होगी और यह अपने मनमानी कर सकेंगे जो

        Reply
      3. Rakesh parajapti

        teacher exam ko hi online kr diya jay aur ab phle jaisa hi rhe to behtr hoga nhi to bhrastschar bhut hoga nhi to ab source wale hi joine krenge

        Reply
    2. Rajkumar

      Bilkul sahi bat esase neta logo aur please balo ko fayada hai

      Reply
    3. VIJAYSHREE PARMAR

      Isse rishwat dene walo ka selection hoga baki grib yogy students ki life barbad ho jayegi……ye neeti lagu nhi honi chahiye…

      Reply
      1. Susheela saini

        Bilkul sahi kaha aapne ase to bharstachar hi phalega gribo ki kon sunega

        Reply
      1. Sujata

        I’m not agree with you mam. Congress hoti to sayd aaj hum sab berojgar nahi hote.

        Reply
    4. Abhilash

      Bahut gandi policy hai is policy m joining k time lakho rs ke ghuse chalagi .aur yahi BJP sarkari chahati hai.

      Reply
  3. वेदांत

    बहुत अच्छी नीति। लेकिन सरकार को इसमें अब रिजर्वेशन पूर्ण रूप से समाप्त कर देना चाहिए। मैं स्वयं दलित हूं। और मैं समझता है अगर सरकार रिजर्वेशन जैसे मीठे जहर को समाप्त नहीं करेगी। तो ये सारी नीति बेकार जाएंगी। जो मेहनत करे वो ही उसका असली हकदार होता है। जय भीम। बाबा साहिब ने भी कहा था रिजर्वेशन को समाप्त कर देना नहीं तो ये देश को देशवासियों को स्वतः ही खा जाएगा।

    Reply
    1. Koshalya

      Bilkul shi bat khi apne niti koe bhi bne pdne walo pr aser nhi pdega pr reservation ko smapt kr Dena bhuut jrure he

      Reply
    2. Pooja meena

      मैं भी आप की बात से सहमत हूं हमे भी नही चाइए रिजेरवेशन
      लेकिन जाति प्रथा खत्म हुई तो
      ये भले ही मीठा जहर है लेकिन अगर नही देंगे तो पूरा भारत ही बदल जायेगा…..आज से 15 साल पीछे जाकर देखो

      Anyways …. castystem ko khtm kro

      Reply
    3. Rajendra Bhaskar

      Kise padha rahe ho. Kuch jyada hi padhe likhe malum hote ho.

      Reply
  4. Ravindra Singh

    90 pratishat bhrastachar felega. Aur schools me kushal & prashikshit teachers nahin honge. Jisake karan achchhe bhavi nagarik taiyar nahin ho payege.

    Reply
    1. Koshalya

      Bilkul shi es trh se bhrashtachar ko bdawa milega quki bde log bde or greb or greb ho jainge greb ghar ke bche to phle hi aasha chod denge

      Reply
  5. Kan ji

    We oppose this policy
    It increase Nepotism
    There is no value for normal n intelligent student

    Reply
  6. Harvir Singh

    Ye mean felear he . Is NEP 2020 ka. Dalali start karna chahti he Sarkar . Peso se joining hone Bali he . Is NEP 2020 me. ESE me kabhi bhi support nahi karunga. Or koyi bhi nahi karega jo apni country Ko best dekhna chahta he

    Reply
  7. Rakesh Kumar Sharma

    Nepotism kr rhi h government is me bhe, log marge lock down Kya ho rha h in politicsion ko malum nhi h na, log to berojgari se maar rhe h government ko Kya chaiye bus janta ki muskile badana

    Reply
  8. Sunita jain

    Ye galat hai… log rs dekar pass ho jayege.. isme konsi intelligence kam aayegi..Jo student knowledge rkhta h wo 2 level to clear kr lega lekin interview m rh jayega..q ki uske pas rs nhi hoge.. ye new education policy poor students k liye bhut bhut bhut galat hai.. isse desh ka development nhi hoga but rich logo ka development jrur hoga..Jo desh ko bechne m lge huye hai..

    Reply
  9. RANI Pandey

    Unless hai ye new siksha niti.. Aap log dekhiyega baccho ka future and teachers Ki berojgari Dono hi is desh Ki kharab Halat kar degi. Baccho ko ab 10 th pass Karne me koi interest hi nahi hoga.. Aye teacher baccho ko phadane ke liye Itna khud apne aapko trend karegi… …

    Reply
  10. Rashid Ali

    ये बिकुल ग़लत है सरकार की ये जनविरोधी नीतियों को हमें जड़ से उखाड़ फेंकना चाहिए ।

    Reply
  11. प्रभु दयाल

    शिक्षक भर्ती में साक्षात्कार व कक्षा में पढाने वाली प्रक्रिया नहीं होनी चाहिए। कयोंकि प्रशिक्षण के दौरान इन प्रक्रियाऔ से गुज़र कर ही विद्यार्थी प्रशिक्षण पूरा करता है।

    Reply
  12. Yadram

    नई नई शिक्षा नीति से पढ़ने वालों का चयन ना होकर अफसरशाही लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों का ही चयन होगा इसमें फर्जीवाड़ा 90% तक बढ़ जाएगा

    Reply
  13. Gotam

    Bhaiyo tum log paper to fight krke dikhao. Or ydi tumhe interview me nikala jaye tb ye bkvas comment krna.
    Purani shichha niti me to -1 number vale ko bhi nokri mil jati h……
    Jay ….

    Reply
  14. Shalini

    Bikul Shi, isse sirf bade logo ki hi job lagegi Jo donation dege.
    Interview or demo dono me paisa chalega fr talant kha rhega

    Reply
  15. Vipin kumar

    Intervew se bhrstachar bhut bd jayega aur fir leader chunkr bharti karenge talant akdm finish

    Reply
  16. Ssonu

    Bada logo ka bacjaho ka chayan hoga talent ka nhi ya shikhsa neti galt hai

    Reply
  17. Mahima

    Bilkul sahi h sir apki bat, aise selection to bhut muskil ho jayega, or wo log select Ho jayege jo deserve hi nai krte, Mai sahmat nai govt is new sikasha neeti se,.

    Reply
  18. रविप्रताप

    नयी शिक्षा नीति सभी वर्गो के गरीबो के लिए खतरनाक है, अगर इनको कुछ बदलाव करना ही था तो कुछ व्यवशायिक विषय पर कुछ योजना लागू करना चाहिए था जिससे बेरोजगारी कम हो सके

    Reply
  19. रूपेन्द्र कुमार

    सब परीक्षाएं तो ठीक है ,परन्तु साक्षात्कार में सेटिंग हो जाती है। इसलिए केवल पात्रता परीक्षा लेना चाहिए।

    Reply
  20. DHARA SINGH

    Kendra sarkar teacher Bharti main interview hone par sarkari tantra ko bhirst banana chahati he

    Reply
  21. Ajeet kumar

    Yes sir apki bat puri sahi. Aise selection bahut muskil Ho Hayes. Or wo log select kiye jayenge.
    Jinka govt–Me power h. Interview me dhandhli chalegi. Garib va mehnati student’s selection nahi ho payega. Mai govt ki is nai sikasha se sahmat nahi hu.

    Reply
    1. sneha

      this interview process should only be applicable if there is “no corruption” in selection process but in india setting with higher authorities and money works more than talent .

      Reply
  22. CHANDAN Kumar

    इस से नेता our मंत्री का बोलबाला होगा गरीब का सोषण होगा जो गलत है।

    Reply
    1. Shiv Raj Meena

      Corruption will be increased in a large amount by this new education policy. The youth is being nervous due to such divisions.

      Reply
  23. Shivani pal

    Likhit preeksha to theek h but interwive me to neta log setting kr lete h or bechare greeb log rh jayenge isase berozgari or Bhrashtachar bdega .ye Shiksha niti bilkul glat h . Mere hisab se ab hone wale teacher ka bhavishya ab interview Lene wale Chand logo pr Tika hoga. iski kya garentee h ki wo hifi logo se setting nhi krenge.

    Reply
  24. सोगराथ कुमार

    इस से नेता के बेटा -बेटी को रुपया के बदौलत आसानी से नौकरी मिल जाऐगा।और गरीब के बेटा-बेटी को हनन होगा जो धारा 21 के तहत गलत है।

    Reply
  25. Shivani pal

    Is Shiksha niti ka ab ye mtlab h ki hone wale teacher ka bhavishya ab unn interwive Lene wale chandd logo pr Tika hoga . Me iss nyi Shiksha niti ka virodh krti hi.

    Reply
  26. Surendra Singh

    एक ओर सरकार भ्रष्टाचार खत्म करने के साक्षत्कार खत्म करती हैं तो दूसरी ओर सरकार दो लिखित परीक्षाओं के बाद साक्षात्कार और 5 से 10 मिनट तक कक्षा में पढ़ाने की परीक्षा करवा कर भरस्टाचर के लिए रास्ते खोलने का कार्य करेगी।

    Reply
  27. RAGHAV SHARMA

    Es Tarah se Padhne vale bachche nahi
    Risvat khor teacher banenge

    Reply
  28. Archana Malhotra

    I feel this Education policy is for the betterment of the country. Can’t we think about being fair and hard working? Congress destroyed the country. students used to pass through cheating, which has been altered.This recruitment process will choose better than the best.Cant we think of being better than the best,by hardwork and determination.This is the need of the hour for the better ment of the children and the country.please review it with a positive mindset.

    Reply
  29. Pooja Singh

    Itne salo se purani niti chal rhi thi tb koi dikkat ni thi sarkar ko ab achanak se kya ho gya phle log ak hi exam deker teacher bn gye to hm kya pagal h jo char exam de kya pagalpanti h sarkar ki

    Reply
  30. Piyush Gaurav

    Nta exame karwayega fir to sahi h. Tet k jagah bs ctet hona chahiye. Or teacher ka zone banana chahiye. Jo jis zone k liye apply kare o wahi rahe. School me bahut rajniti ho gai h. Yadi koi teacher neahi padhata h ya school aa kr bs faaki Marta h ya neahi aata h use turant nikal dena chahiye.

    Reply
  31. Preet

    Ab corruption aur jyada hoga jb log pnp ko khareed saktey hain to NTA ko q nahi khareed saktey sarkar ne 69000 main kya pardarshita dikhai sb kuch clear hai ki farji log bhare ja rahe hain to ab to aur bhi jyada hota bhrastachar . Interview main bhi aur class ko teach karne main bhi .

    Reply
  32. Dr. Nidhi Rastogi

    Sarkar aajkal PhD balo ke bare me or sanskrit ke bare me much nahi sochti hai .aaj kal jbt,dled, jaise course bale aage nikal rahe hai or purane jo PhD kare hai bo bekar ghum rahe hai.plz sanskrit ki vacancy alag se aana chahiye.jaise math bale sanskrit nahi kr sakte Vaise hi sanskrit bale bhi math nahi kr sakte. Interview Me paise balo ka number aa jata hai abhi puchha hai ki kaise- kaise garib apne bachcho ko padata hai

    Reply
  33. Pooja meena

    लिखित परीक्षा ले …चाहे इसमें कोई आरक्षण ना दे
    सब को 80% लाना ही है
    लेकिन बाकी सब हटा दो
    भर्ष्टाचार को बढ़ावा मत दो
    लोग 3nd लेवल टीचर्स बनने से बढ़िया पटवारी के एग्जाम देने शुरू हो जायेगे कोई टीचर्स बनने का नही सोचेगा
    *Isse Teachers ki kami hogi
    *Berojgaro ki snkhya bhi badegi..
    *Bhrstachar badega
    *Garib pariwar apne baccho ko wahi kheti krk padayege kuch toh pdhayege hi nhi gareeb k mare…

    Reply
  34. Md Furquan

    This change of NEP national education policy has implemented to rules as education field by national teachers agency talent and educated teachers should be not make teachers opportunities win for rich and leaders son’s only.so we are requesting to our government our respected priminister श्री Narendra मोदी जी sir i am a B. Tech holder in cse engineer I want to make a teacher please sir give opportunities of teachers for to do eligibility B. Tech in teachers streams. Thank you all Indians. Jay hind Jay हिंदी Jay हिंदी.

    Reply
  35. Virendra soni

    झूट परोस रहा है गूगल,4 चरण नहीं है, इसने ख़ुद 3 हि चरण बताए ह, और जो 4-5 मिनट पढ़ाने का चरण बोल रहा है गूगल,उसमे एक्सपीरियंस सर्टिफिकेट लगेगा जिसकी जांच होगी, ये केवल राजसथान में बवंडर फैलाना ह

    Reply
  36. Jahid khan

    Interview ki wajah se sirf bade logo ka hi selection hoga garib bacchon ka nahi ye to govt ka bahut hi glt bat h

    Reply
  37. Ravinder

    Ye shiksha niti bilkul galt h es shiksha niti se koi b garib shikshak nhi ban payega hum es niti ka virodh karte h

    Reply
  38. Sushil Kumar

    Yes sir , aise to low condition students ka teacher Banna bahut muskil ho jayega .
    Aise me to neta and mantary ke bachche hi teacher Banege .
    Ye to very wrong education policy 2020 hai….

    Reply
  39. योगेन्द्र कुमार

    साक्षात्कार हो जाने से पैसा की मांग होगा, गरीब लोग और पढ़ने में अच्छे लोग तो पैसा दे नही पाएंगे । जिससे योग्य शिक्षकों की नियुक्ति नहीं हो पाएगी। केवल नेता और बड़े लोग ही शिक्षकों के पद पर कार्यरत होंगे। और घुसखोरी को बढ़ावा मिलेगा। इसलिए यह नीति ठीक नहीं है।

    Reply
  40. Khushboo Rajbhar

    Ye sikhsa niti ni laagu honi chahiye…greebo ko naukri ni dena chahte hn sb bs….yogya log ka chayan ni hoga esse ….ek sikhsk bnne k liye etna exam….hadd h ….

    Reply
  41. Raj

    Hame ye bilkul bhi pasand nhi h new education niti please government kuch karo nhi too ham kya karege

    Reply
  42. Vipin Pal

    Bjp ke government ne dhoka he nhi kiya balki juth bola logo ka bharosa toda sath he government ke sari naukariya kha gyi h. Bhut bekar government h. Neta logo ke liye bhe ab 5 paper ho tab unhe election me utara jaye .bhut he bekar sabit hui h bjp government job balo ke liye

    Reply
  43. Alkapandey

    Anudeshako ka mandey 17000 kab hoga 3 salo se enaka badha hua mandey aj tk nhi mil rha aap hmari madad kare

    Reply
  44. Maya meena

    इस शिक्षा नीति में साक्षात्कार में सिर्फ उन्हीं लोगों का चयन होगा जो नेता, अफसरों के रिश्तेदार होंगे। श्रमिक, गरीब ,निम्न वर्ग, पिछड़ा वर्ग, तो पीछे ही रह जाएगा। इसमें सिर्फ पैसा होगा , बड़े लोग होंगे ।

    Reply
  45. Ravindra bhati

    Achhe teacher chiya to phle reservation ko khatam kro nyi shikhcha niti se kuch nhi hoga .

    Reply
  46. Nitika

    शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में साक्षात्कार और कक्षा में पढ़ाने का प्रावधान बिल्कुल नहीं होना चाहिए यहां तक अभ्यर्थी इतना सब कुछ कर कर ही पहुंचता है वह तमाम चीजें क्वालीफाई करके जाता है फिर यह 2 साल का डिप्लोमा B.ed और बीटीसी इसका क्या मतलब रहेगा क्यों 4 साल b.ed होगा जब अभ्यर्थी को साक्षात्कार ही देना पड़ेगा तोक्यों 4 साल डिप्लोमा में वह क्यों इतना समय बेस्ट करेगा और उसके बावजूद जो 4 साल का डिप्लोमा होगा उसमें बच्चों को पढ़ना तो ही सिखाया जाएगा 4 साल तक पढ़ते पढ़ते ही टीचर बन जाएंगे साक्षात्कार और क्लास में पढ़ाने का कोई वजूद नहीं रहेगा

    Reply
  47. Sugna Kumawat

    is Nai Shiksha niti Ko change karna hoga ASE to hamare kese Garib. Log ka kya hoga … Ham sarkaar se request karate h ki is Shiksha niti me badlaw kare

    Reply
  48. kalpesh sain

    Corruption ko badhava milega …garibo ka daman … Hoga …
    Desh me ek interview hi esa hai. Jisme sbse jyada bhrstachari hai garibo ko upper aane nahi dete

    Reply
  49. हरीश आँजणा

    जब बेरोजगार युवा या अभ्यर्थी टेट की परीक्षा पास करना बहुत ही मेहनत करके पास करेगा फिर NTA द्वारा परीक्षा पास करेगा तब तक तो ठीक है लेकिन साक्षात्कार में रुपये खेल करेंगे और इसके बाद जो डेमो लेगा उसे रिश्वत देनी पड़ेगी तो फिर शिक्षक बनाने ही क्यो है इससे तो अच्छा है कि बेरोजगारों के साथ अन्याय होगा और प्रतिभाशाली अभ्यर्थी घर बैठेगा
    मतलब साफ है कि इससे अच्छा तो IAS का एग्जाम ही ले लो नई शिक्षा प्रणाली में

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *