MP प्रसूति सहायता योजना 2021 -आवेदन प्रक्रिया एवं दस्तावेजों की जानकारी देखे |

By | April 24, 2021

मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा प्रसूति सहायता योजना की शरुआत की गई है, गरीबी रेखा से नीचे जीवन का गुजारा करने वाली महिलाओं को गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता दी जाएगी, प्रसूति सहायता योजना के लिए जरुरी दस्तावेज एवं पात्रता की जानकारी हिंदी में देखे |

प्रसूति सहायता योजना की शुरुआत मध्य प्रदेश की सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर तथा श्रमिक वर्ग की गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए की है। इस योजना की शुरुआत मध्य प्रदेश सरकार ने 1 अप्रैल 2018 को की थी। इस योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश की गरीबी रेखा से नीचे रहने वाली मजदूर परिवार की गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए और अच्छा जीवन जीने के लिए सरकार के द्वारा ₹16000 की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

यह राशि गरीब महिलाओं को इसीलिए दी जाती है ताकि वह गर्भावस्था के दौरान अपना दवाइयों का खर्चा अच्छे से उठा पाए और खुद भी स्वस्थ रह सके l अपने गर्भ में पल रहे बच्चे को भी स्वस्थ रख सकें l जो गरीब महिलाएं होती हैं  अक्सर उन महिलाओं का गर्भावस्था के समय पैसों की कमी के कारण ठीक ध्यान नहीं रखा जाता। जिसके कारण मां तथा बच्चे को नुकसान पहुंच जाता है l परंतु मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा शुरू की गई इस योजना के पश्चात अब महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होती।

प्रसूति सहायता योजना क्या है –

प्रसूति सहायता योजना का आरंभ मध्य प्रदेश की सरकार ने 1 अप्रैल 2018 को किया था। इस योजना की शुरुआत मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा गरीब महिलाओं को आर्थिक लाभ पहुंचाने के लिए की गई थी। प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे आने वाली महिलाओं को गर्भावस्था के अंतिम 3 महीनों में उनके वेतन की 50% धनराशि दी जाएगी l जब उन महिलाओं की डिलीवरी हो जाएगी तो डिलीवरी के पश्चात उन महिलाओं को चिकित्सा के दौरान होने वाले खर्चे को पूरा करने के लिए ₹1000 की राशि भी प्रदान की जाएगी।

MP Prasuti Sahayata Yojana Deetail

हम आपको बता दें, कि गर्भवती महिलाओं को कुल ₹16000 की धनराशि दो किस्तों में प्रदान की जाएगी l पहली किस्त तो गर्भावस्था के दौरान ही दी जाएगी जो कि ₹4000 होगी l फिर जब शिशु का जन्म हो जाएगा तो उस जन्म के पश्चात दूसरी किस्त के रूप में ₹12000 महिला को दिए जाएंगे। परंतु यह ₹12000 की दूसरी किस्त महिला को तब मिलेगी जब महिला नवजात शिशु का जन्म के पश्चात टीकाकरण करवा लेगी।

MP Prasuti Sahayata Yojana 2021 का मुख्य उद्देश्य क्या है –

यह योजना मध्य प्रदेश की सरकार के द्वारा शुरू की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली गरीब महिलाओं को लाभ पहुंचाना ही है। असंगठित क्षेत्रों की श्रमिक महिलाएं जो की मेहनत मजदूरी करके गरीबी रेखा से नीचे अपना जीवन यापन करती हैं जब वह महिलाएं गर्भवती होती है तो गर्भावस्था के दौरान उन महिलाओं को पैसे की कमी के कारण ना तो ठीक इलाज मिल पाता और ना ही वह मजदूरी कर पाती। इसीलिए मध्य प्रदेश सरकार ने यह योजना शुरू की है ,

ताकि इस योजना के तहत इस प्रकार की महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान ₹16000 की राशि दी जा सके। जिससे कि यह महिलाएं अपना दवाई का खर्चा भी अच्छे से निकाल पाएंगे और खुद भी स्वस्थ रह पाएंगे तथा अपने बच्चे को भी स्वस्थ रख पाएंगी। MP Prasuti Sahayata Yojana 2021 के अंतर्गत गर्भवती श्रमिक महिलाएं गर्भावस्था के दौरान अपनी जरूरतों को पूरा कर सकेंगी। इन महिलाओं को अपनी जरूरतें पूरा करने के लिए किसी दूसरे व्यक्ति पर आश्रित नहीं रहना होगा या फिर गर्भावस्था के दौरान मजदूरी भी नहीं करनी पड़ेगी।

MP Prasuti Sahayata Yojana Ke Fayde –

  • इस योजना के तहत गर्भवती श्रमिक महिलाओं को लाभ पहुंचाया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई जननी सुरक्षा योजना ( Maternity Safety Scheme ) के अंतर्गत पात्र महिलाएं ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।
  • MP Prasuti Sahayata Yojana In Hindi के तहत पहला गर्भधारण करने पर पात्र महिलाओं को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना ( Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana ) के तहत पहली और दूसरी किस्त के रूप में ₹3000 दिए जाएंगे तथा शेष बची हुई ₹1000 की राशि श्रमिक महिलाओं को मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना ( Chief Minister Labor Service Maternity Assistance Scheme ) के माध्यम से प्रदान की जाएगी।
  • प्रसूति सहायता योजना का लाभ सिर्फ 18 वर्ष से अधिक आयु की गर्भवती महिलाएं तथा पंजीकृत असंगठित श्रमिक ( Registered unorganized Labor ) महिलाएं ही उठा सकती हैं।
  • मध्यप्रदेश प्रस्तुति सहायता योजना 2021 के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली महिलाओं को पूरी ₹16000 की वित्तीय सहायता सरकार की तरफ से प्रदान की जाएगी। परंतु इस योजना का लाभ उठाने के लिए महिलाओं का बैंक अकाउंट होना बहुत ही आवश्यक है और वह बैंक अकाउंट आधार कार्ड के साथ भी लिंक होना आवश्यक है।
  • इस योजना का फायदा मध्य प्रदेश की ग्रामीण तथा शहरी दोनों क्षेत्र की असंगठित श्रमिक महिलाएं उठा सकती हैं।

MP Prasuti Sahayata Yojana के लिए जरूरी दस्तावेज –

  • जो श्रमिक महिला इस योजना के लिए आवेदन देना चाहती है वह मध्य प्रदेश की स्थाई निवासी होनी चाहिए।
  • जो महिला आवेदन दे रही है उस महिला की उम्र 18 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड ( Aadhar Card )
  • पहचान पत्र ( Identity Card )
  • निवास प्रमाण पत्र ( Residence Certificate )
  • आयु प्रमाण पत्र ( Age Certificate )
  • प्रेगनेंसी का प्रमाण पत्र ( Pregnancy Report )
  • डिलीवरी संबंधित दस्तावेज ( Delivery Report )
  • बैंक पासबुक ( Bank Passbook )
  • मोबाइल नंबर ( Mobile Number )
  • पासपोर्ट साइज फोटो ( Passport Size Photo )

यह सभी जरूरी दस्तावेज हैं जो कि लाभार्थी महिला को एकत्रित करने होते हैं। उसके पश्चात ही इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन किया जा सकता है l इन दस्तावेजों की सूची में हमने डिलीवरी संबंधित दस्तावेजों ( Delivery Document ) के बारे में बताया है, जो कि आपको डिलीवरी के पश्चात चाहिए होते हैं उससे पहले आपके बाकी के दस्तावेज चल जाएंगे।

MP Prasuti Sahayata Yojana 2021 के लिए आवेदन कैसे करें –

  • मध्य प्रदेश राज्य की जो भी श्रमिक महिला इस योजना के तहत आवेदन करना चाहती है तो उस महिला को अपने नजदीकी लोक स्वास्थ्य केंद्र ( Public Health Center ) तथा परिवार कल्याण विभाग ( Family Welfare Department ) में जा कर आवेदन देना होगा।
  • वहां पर आपको एक एप्लीकेशन फॉर्म ( Application Form ) मिलेगा। आपको उस एप्लीकेशन फॉर्म में सभी पूछी गई जानकारियां भरनी है। जैसे कि नाम, पता, आधार नंबर, गर्भावस्था की तारीख ( Pregnancy Date ) आदि। सभी जरूरी जानकारी आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म में भरनी है। सभी जरूरी जानकारियां भरने के पश्चात आपको अपने सभी जरूरी दस्तावेज इस एप्लीकेशन फॉर्म के साथ अटैच कर देने हैं। फिर जहां से आपको यह आवेदन पत्र प्राप्त हुआ था वहीं पर आपको इसे जमा भी करवाना है।
  • याद रहे कि जो महिला इस योजना के लिए आवेदन दे रही है, उस महिला को डिलीवरी होने से 6 हफ्ते पहले फिर से आवेदन करना होगा। यदि किसी कारणवश आवेदन समय पर नहीं किया जा सकता तो डिलीवरी होने के तुरंत बाद भी महिलाएं आवेदन कर सकती हैं।
  • अगर कोई महिला खुद ही ऑनलाइन आवेदन दे सकती है , तो वह महिला इस योजना की ऑफिशल वेबसाइट http://labour.mp.gov.in/ पर जाकर खुद भी आवेदन दे सकती है l यदि वह महिला ग्राहक सेवा केंद्र पर जाकर आवेदन देना चाहती है , तो उस प्रकार भी आवेदन दिया जा सकता है।

Conclusion – 

हम उम्मीद करते हैं, कि आपको MP Prasuti Sahayata Yojana In Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। हमने इस आर्टिकल में आपको MP Prasuti Sahayata Yojana 2021 Ke Fayde तथा MP Prasuti Sahayata Yojana 2021 के उद्देश्य बताएं हैं। यदि अभी भी आपको MP Prasuti Sahayata Yojana In Hindi के बारे में कोई भी प्रश्न पूछना है। तो कमेंट सेक्शन में कमेंट करें। धन्यवाद

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *