JDA पिछले 24 वर्षों से संविदा कर्मियों पर निर्भर-1998 के बाद से नियमित भर्ती नहीं हुई |

JDA पिछले 24 वर्षों से संविदा कर्मियों पर निर्भर,JDA में नहीं हुई है 24 वर्षों से कोई भर्ती, JDA चल रहा है Contract Workers के भरोसे, जयपुर नगर निगम में वर्ष 1998 के बाद से नियमित भर्ती नहीं हुई, JDA में स्थाई भर्ती नहीं होने से कामकाज में आई दिक्कत, JDA प्रशासन लगातार नियमों के विरुद्ध काम कर रहा है |

राजस्थान राज्य में ऐसे अनेकों विभाग हैं जहां पर पिछले काफी समय से सरकारी कर्मचारियों की भर्ती नहीं हुई है और यहां पर पूरा का पूरा सिस्टम सिर्फ संविदा पर आधारित कर्मचारियों के भरोसे ही चल रहा हैं। पहले तो सभी विभागों में संवेदनशील पोस्ट पर केवल सरकारी कर्मचारियों को ही रखा जाता था परंतु अब विभिन्न विभागों में केवल संविदा कर्मियों के भरोसे ही सब कुछ चल रहा हैं।

इसी वजह से राज्य के अन्य बेरोजगार युवा भी काफी आक्रोश में हैं, क्योंकि इन विभागों में ज्यादातर संख्या केवल सरकारी कर्मचारियों की ही होनी चाहिए। जबकि सरकारी कर्मचारियों की जगह पर संविदा पर आधारित कर्मचारी ही काम कर रहे हैं। आज हम Jaipur Developement Authority की बात करेंगे वहां पर हर काम काज केवल संविदा कर्मियों ने ही संभाला हुआ हैं। इसी वजह से कामकाज में भी काफी ज्यादा दिक्कत आ रही हैं। आगे हम आपको इस पूरे मामले की संपूर्ण जानकारी देते हैं।

वर्ष 1998 के बाद नहीं हुई है, जेडीए में कोई भी भर्ती

• आपको जानकर हैरानी होगी फिर पिछले 24 वर्षों से JDA में किसी भी सरकारी कर्मचारी की भर्ती ही नहीं हुई हैं। यहां पर पूरी व्यवस्था ठेके पर ही चल रही हैं। अंतिम बार वर्ष 1998 में JDA में भर्ती की गई थी उसके बाद यहां हर एक कार्य केवल संविदा पर आधारित कर्मचारियों के द्वारा ही किया जा रहा हैं। यदि हम इस समय JDA में सरकारी कर्मचारियों की संख्या की बात करें तो वह बिल्कुल ना के बराबर हैं।

Notes & Job Update के लिए फॉर्म भरे

    • पिछले 24 वर्षों से हर वर्ष सरकारी कर्मचारी सेवानिवृत्त हो रहे हैं और उनके पदों पर संविदा पर आधारित कर्मचारियों को नियुक्ति दी जा रही है। इस समय स्थिति कुछ ऐसी ही बन चुकी है कि जेडीए सर्विस से ज्यादा Contract workers और Retired Employs की संख्या हो चुकी है।

    स्थाई भर्ती न होने के कारण आ रही हैं, कामकाज में दिक्कत

    • इस समय संविदा कर्मी नगर नियोजन से लेकर Master Plan जैसी अहम शाखाओं में कार्य कर रहे हैं साथ ही JDA का पूरा कार्यभार भी इन्हीं के सर पर चल रहा हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि स्थाई भर्ती ना होने के कारण अब कामकाज में भी काफी ज्यादा दिक्कतें आ रही हैं। क्योंकि बड़ी से बड़ी पोस्ट पर केवल Contract Workers ही कार्य कर रहे हैं जबकि आज से पहले ऐसा कभी भी नहीं हुआ हैं।

    • काफी समय पहले JDA Employees Union के द्वारा राजस्थान सरकार को भी पत्र लिखकर Permanent Employees की भर्ती की मांग की गई थी परंतु इस पर कोई भी सुनवाई नहीं हुई है। Experts का भी यही कहना है कि यदि JDA में स्थाई भर्ती नहीं की गई, तो आने वाले समय में सरकारी भर्तियों की तैयारी कर रहे बेरोजगार उम्मीदवारों का भविष्य भी खतरे में आ सकता हैं।

    सेवानिवृत्त होने के बाद भी कर्मचारी दे रहे हैं, जेडीए में सेवा

    • वर्तमान समय में स्थिति कुछ ऐसी है कि JDA Service के 295 अधिकारी और कर्मचारी कार्य कर रहे हैं। जबकि 390 अधिकारी और कर्मचारी दूसरे विभागों से जेडीए में प्रतिनियुक्ति पर आए हैं।

    JDA depended on contractors for the last 24 years

    • इसके अतिरिक्त 550 से भी अधिक कर्मचारी तो ऐसे हैं जो सेवानिवृत्त होने के बाद भी जेडीए में सेवाएं दे रहे हैं। या फिर बहुत से कर्मचारी तो अन्य Private Companies के द्वारा ही यहां पर Contract पर लगाए गए हैं और उन्हीं के भरोसे पूरा विभाग चल रहा है।

    संविदा पर आधारित कर्मचारियों की नियुक्ति का, यह हैं नुकसान

    • संविदा पर आधारित कर्मचारियों के कार्य करने पर सबसे ज्यादा बड़ा नुकसान तो यह है कि इनकी कोई जवाबदेही तय नहीं होती हैं।

    • संविदा पर आधारित कर्मचारियों को शासकीय नियमों के तहत दंडित किए जाने का भी प्रावधान नहीं होता हैं। यदि यह जानबूझकर भी कोई गलती करते हैं तो भी उस पर कोई सुनवाई नहीं हैं।

    HDFC Bank 12551 Recruitment 2022

    Reliance Jio 20000 Recruitment 2022

    • यदि Contract Workers की कोई शिकायत करता हैं, तो उस शिकायत पर उनके खिलाफ किसी भी तरह की कार्यवाही नहीं होती हैं। इस स्थिति में Agency के द्वारा उन्हें नौकरी से निकाल कर उनकी जगह पर दूसरे कर्मचारी को लगा दिया जाता है।

    जेडीए प्रशासन नियमों के विरुद्ध कर रहा हैं, नई भर्ती

    • हाल ही में यह सूचना मिली है कि JDA Administration के द्वारा नियमों के विरुद्ध जाकर संविदा पर 60 JEN की भर्ती कराने की तैयारी की जा रही हैं। जबकि इस भर्ती पर तो सहायक लेखा अधिकारी ने टिप्पणी करते हुए भी लिखा है कि, Placement Agency के माध्यम से संविदा पर कनिष्ठ अभियंता लिए जाने से संबंधी कोई भी आदेश उपलब्ध नहीं है।

    • JDA में सिर्फ Retired Officers तथा कर्मचारियों को ही नौकरी पर लिए जाने का प्रावधान हैं। जबकि प्राधिकरण के एक आला अधिकारी भी इसमें रुचि दिखा रहे हैं और वह नियमों के विरुद्ध जाकर इस भर्ती को पूरा करवाना चाहते हैं। यदि इस भर्ती को पूरा करवाया गया तो Jaipur Development Authority में आगे सरकारी कर्मचारियों की भर्ती होना भी मुश्किल हो जाएगा।

    Click here-JDA Jaipur Recruitment Portal Link

    Leave a Comment