गरीब बच्चों के लिए IAS की नौकरी छोड़ी-रोमन ने दिया नौकरी से इस्तीफा |

By | August 3, 2021

गरीब बच्चों के लिए IAS की नौकरी छोड़ी, राजस्थान के रोमन सैनी ने दिया IAS की नौकरी से इस्तीफा, रोमन सैनी ने मेडिकल की ट्रेनिंग के दौरान समझी गरीब बच्चो की पीड़ा, अब Roman Saini गरीब बच्चों को फ्री में ऑनलाइन पढ़ा रहे है |

 इस बात को तो हम सभी लोग जानते हैं कि IAS की नौकरी पाने के लिए छात्रों को कितनी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती हैं | बहुत से छात्रों को तो 6 से 7 साल सिर्फ IAS की नौकरी की तैयारी करने में ही लग जाते हैं, लेकिन फिर भी वह IAS के पद तक नहीं पहुंच पाते और आखिर में उन्हें हार माननी ही पड़ती है | क्योंकि आईएएस की नौकरी के लिए जो परीक्षा होती है, वह सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है |

इसीलिए इस परीक्षा को पास कर पाना हर एक छात्र के बस की बात नहीं होती |  क्या आपने कभी ऐसा भी सुना है, कि IAS की नौकरी लगने के पश्चात भी कोई युवा अपनी नौकरी को छोड़ दें | आपने बिल्कुल सही सुना आज हम आपको एक ऐसे ही आदमी के बारे में बताएंगे, जिन्होंने IAS Officer के पद से इस्तीफा देकर समाज में गरीब बच्चों की पढ़ाई में मदद कर रहे हैं | इस व्यक्ति का नाम IAS Roman Saini हैं |

IAS Roman Saini से संबंधित जानकारी

  • आईएएस रोमन सैनी राजस्थान राज्य के कोटपुतली शहर के रहने वाले हैं | इनकी सभी पढ़ाई भी राजस्थान से ही हुई है और वह बचपन से ही पढ़ने में काफी Intelligent भी थे |
  • आपको जानकर हैरानी होगी कि जिस AIIMS की प्रवेश परीक्षा को पास करने के लिए लोगों की उम्र 25 से 30 साल हो जाती है | इसी परीक्षा को Roman Saini ने सिर्फ 16 वर्ष की आयु में ही पास कर लिया था | वैसे तो रोमन सैनी एक शिक्षित परिवार से ताल्लुक रखते हैं उनके पिता एक Engineer हैं और उनकी माता House Wife है। परिवार के पढ़े लिखे होने के कारण उनके सामने पढ़ाई को लेकर काफी अच्छा माहौल बना हुआ था, इसीलिए Roman Saini ने 16 साल की उम्र में AIIMS की परीक्षा को पास कर लिया |
  • जब रोमन सैनी 18 वर्ष के हुए तो 18 वर्ष की आयु में रोमन सैनी ने एक Eminent Medical General में अपना Research  Paper भी Published किया और जब इन्होंने MBBS की पढ़ाई पूरी कर ली तो उसके पश्चात रोमन सैनी ने Psychiatrist में NDDTC में एक Junior Resident के रूप में भी काम किया l वहां उन्होंने डॉक्टर की उपाधि भी प्राप्त की |

फ्री में गरीब बच्चों को पढ़ा रहे हैं रोमन सैनी

आज भी हमारे देश में ऐसे बहुत से बच्चे हैं, जो IAS Officer तो बनना चाहते हैं और वह पढ़ने में भी काफी Intelligent होते हैं | लेकिन पैसों की कमी के कारण उन्हें ना तो अच्छा मार्गदर्शन मिल पाता और ना ही अच्छी Coaching मिल पाती | इसी वजह से वह समाज में पीछे रह जाते हैं |

Roman Saini IAS

इस प्रकार के छात्रों को IAS Roman Saini के द्वारा Free coaching दी जा रही है और उन्होंने सिर्फ इसी प्रकार के बच्चों की सहायता करने के लिए ही IAS के पद से इस्तीफा दे दिया है, ताकि वह समाज में गरीब बच्चों को IAS बनने में सहायता कर सकें |

IAS Roman Saini ने किस कारण से इस्तीफा दिया

जब रोमन सैनी की मेडिकल की ट्रेनिंग चल रही थी तो Medical Training के दौरान वें देश के विभिन्न सरकारी Medical Camp में भी गए थे | वहां पर उन्होंने बहुत से ऐसे गरीब लोगों देखा जिनके बच्चे पढ़ने में तो बहुत Intelligent हैं, लेकिन पैसे की कमी के कारण वह अपने बच्चों को नहीं पढ़ा पा रहे हैं | इन सब को देखकर रोमन सैनी ने इस बात का फैसला किया कि वह इस प्रकार के सभी गरीब बच्चों की पढ़ाई में पूरी सहायता करेंगे | हम आपको बता दें कि जब Roman Saini की Medical Training हो रही थी तो Medical Training के साथ-साथ में UPSC की भी तैयारी कर रहे थे | इसी के चलते 2013 में रोमन सैनी ने पहले ही प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा भी पास की और उन्होंने देश में UPSC Exam में 18वां रैंक हासिल किया |

रोमन सैनी की पोस्टिंग मध्यप्रदेश में हुई थी, लेकिन Roman Saini ने IAS के पद पर सिर्फ दो ही साल काम किया | 2 साल के बाद उन्होंने अपने इस पद से इस्तीफा दे दिया | IAS के पद से इस्तीफा देने के पश्चात Roman Saini ने Unacademy Channel को Join किया | वहां पर वह सभी गरीब बच्चों को Free में ही Coaching देने लगे | आज के समय में सिर्फ रोमन सैनी की इमानदारी और मेहनत की बदौलत ही Unacademy सबसे बड़ा Digital Learning Platform है | जिसके माध्यम से गरीब बच्चे अपने सपनों को साकार करते हैं |

follow us for social updates

One thought on “गरीब बच्चों के लिए IAS की नौकरी छोड़ी-रोमन ने दिया नौकरी से इस्तीफा |

  1. Pinku

    Saini shab ek brand ho aap new youth ki jan ho aap sir he nhi bhagwan ho aap

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *