फिर से Lockdown- निर्मला सीतारमण ने कहा कोरोना वायरस की दूसरी लहर को रोकने के लिए लगाया जा सकता है लॉकडाउन |

By | April 15, 2021

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वर्ल्ड बैंक को क्या बताया कि कोरोना सक्रमण को कम करने के लिए फिर से Lockdown लगाया जा सकता है, कोरोना वायरस की दूसरी लहर में मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है, देश में फिर से Lockdown कब लग सकता है,

पिछले 24 घंटों के अंदर भारत देश में कोरोनावायरस के करीब 2 लाख से भी अधिक मामले सामने आए हैं। कोरोनावायरस से इतने ज्यादा लोग संक्रमित हो रहे हैं, कि अब सरकार यह विचार कर रही है कि अब एक बार फिर लॉकडाउन लगाया जाए या फिर नहीं। क्योंकि अब कोरोनावायरस को रोकने का एकमात्र यही उपाय बचता है कि पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया जाए।

अगर देश में लॉकडाउन लगा दिया जाएगा तो कोरोनावायरस पर काफी हद तक नियंत्रण किया जा सकता है, क्योंकि कोरोनावायरस के कारण मरने वाले लोगों की संख्या भी काफी अधिक हो चुकी है। परंतु अभी यह बात निकलकर भी सामने आई है, कि देश में संपूर्ण लॉकडाउन नहीं लगाया जा सकता। अब आगे हम आपको यही बताएंगे, कि देश में लॉकडाउन लगाया जा सकता है या फिर नहीं।

जानिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वर्ल्ड बैंक को क्या बताया ?

  • कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण को देखकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वर्ल्ड बैंक को यह बताया है,कि अब मोदी सरकार पिछले साल की तरह देश में संपूर्ण लॉकडाउन पर बिल्कुल भी विचार नहीं कर रही है। इस बार लोकल कंटेनमेंट जोन ( Local Containment Zone ) में ही पाबंदियां लगाई जाएंगी। वर्ल्ड बैंक ग्रुप के प्रेसिडेंट डेविड मालपास के साथ मंगलवार के दिन एक वर्चुअल मीटिंग ( Virtual Meeting ) हुई थी। इस वर्चुअल मीटिंग के दौरान सीतारमण ने यह कहा है, कि पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन अब नहीं लगेगा। हम आपको बता दें, कि 14 अप्रैल 2021 को कोरोनावायरस के एक ही दिन में 184000 नए मरीज मिले हैं। जिनमें से 1000 से भी अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र राज्य में पाए गए हैं और आज रात से ही महाराष्ट्र में 15 दिनों के लिए लोकडाउन जैसी पाबंदियां भी घोषित कर दी गई हैं।
Complete Lockdown in India
  • वित्त मंत्रालय ने भी ट्विटर पर यह कहा है, कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर से लोगों को बचाने के लिए काफी कड़े कदम उठाए हैं l जिनमें टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट तथा वैक्सीनेशन शामिल है l अब लोगों की जांच और भी ज्यादा बढ़ा दी गई है,ताकि कोरोनावायरस के मरीजों को जांच के दौरान तुरंत ही पकड़ा जा सकें l उसके पश्चात उनका इलाज शुरू करवा सके तथा दूसरे लोगों को भी उन लोगों के संपर्क में आने से रोक सकें।
  • वित्त मंत्री सीतारमण ने यह भी कहा है,कि कोरोनावायरस की दूसरी लहर के बावजूद भी हम बड़े पैमाने पर लोग डाउन नहीं कर सकते। यदि देश में लोकडाउन कर दिया जाता है, तो इसके कारण देश की अर्थव्यवस्था पर काफी बुरा असर पड़ेगा, इसीलिए सिर्फ कोरोनावायरस के मरीजों तथा क्वॉरेंटाइन वाले घरों को ही स्थानीय स्तर पर आइसोलेट ( Isolate ) करके कोरोनावायरस के संकट से निपटारा पाया जाएगा। मतलब की सिर्फ उन्हीं लोगों के घर पर पाबंदियां लगाई जाएंगी। जिनके घर में किसी व्यक्ति को करोना हो गया हो या फिर इसी के साथ जो लोग कहीं पर सफर करते है जैसे कि एक राज्य से दूसरे राज्य में सफर करते हैं। तो उन व्यक्तियों को भी कोरोनावायरस की 72 घंटे पहले की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। उसके पश्चात ही उन्हें दूसरे राज्यों में प्रवेश दिया जाएगा और यदि कोरोनावायरस की स्थिति इससे भी ज्यादा बिगड़ जाती है। तो फिर कुछ दिनों के लिए लोगों का एक राज्य से दूसरे राज्य में आना जाना भी बंद किया जा सकता है और यदि कोई व्यक्ति एक राज्य से दूसरे राज्य में प्रवेश करना भी चाहेगा। तो पहले उसे अनुमति लेनी होगी उसके पश्चात ही वह सफर कर पाएगा।

नोट-दोस्तों आप अपने घर से बाहर जाएं, तो मास्क जरूर लगाएं | अगर देश में फिर Lockdown लग गया तो काफी मुश्किलें बढ़ सकती है | इसलिए अपने आप को कोरोना वायरस से बचा कर रखे |

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *