FasTag Fraud का वीडियो हुआ वायरल, समझिए क्या हैं सच?

FasTag Fraud Video Vira की Reality के लिए NPCI ने एक Notification जारी किया है और इस वीडियो के बारे में सचाई बताई है

आज के समय में फर्जीवाड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है जिस वजह से देश के लोग भी काफी परेशान हैं। जब भी कोई फर्जीवाड़ा होता है तो उससे संबंधित वीडियो कुछ ही दिनों में Social Media पर भी आग की तरह फैल जाती हैं। कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर FasTag Fraud को लेकर एक वीडियो अपलोड की गई थी।

इसके बाद यह वीडियो आग की तरह सोशल मीडिया पर फैल गई। आपने भी यह वीडियो देखी होगी। इसमें एक बच्चा सड़क पर रुके लोगों की गाड़ी साफ करते-करते अपने हाथ पर पहनी घड़ी से उनका FasTag Scan कर लेता हैं। इसके बाद लोगों को यही लग रहा है कि इस प्रकार के फर्जीवाड़े से फास्टैग से पैसे निकाले जा रहे हैं। इसी को लेकर भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम के द्वारा महत्वपूर्ण सूचना दी गई है।

NPCI ने बताया-FasTag वीडियो को झूठा

• भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम के द्वारा FasTag Fraud को लेकर Social Media पर वायरल हुई इस वीडियो को झूठा करार दे दिया हैं। क्योंकि NPCI का कहना है कि फास्टैग के माध्यम से व्यक्तियों के बीच किसी भी प्रकार का लेन-देन नहीं होता है यह केवल व्यक्ति और व्यापारी के बीच ही लेनदेन कर सकता हैं।

Handwritten Notes के लिए फॉर्म भरे

• यदि हम सीधे शब्दों में बात करें तो NPCI के अनुसार कोई भी व्यक्ति FasTag Ecosystem से धोखाधड़ी करके पैसे नहीं निकाल सकता है। दरअसल वीडियो के माध्यम से देश के लोगों को केवल गुमराह किया जा रहा है। इसीलिए किसी भी व्यक्ति को इस वीडियो पर भरोसा करने की भी आवश्यकता नहीं हैं। क्योंकि NPCI के मुताबिक FasTag का Payment Infrastructure पूरी तरह से सुरक्षित है।

Social Media पर अपलोड वीडियो के खिलाफ, शुरू कर दी गई है कार्यवाही

• FasTag को लेकर Social Media पर लगातार Videos डाले जा रहे हैं जिससे देश के लोग गुमराह भी हो रहे हैं। इसीलिए इन वीडियोस को लेकर भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम के द्वारा Twitter पर स्पष्टीकरण दिया गया हैं। इसके मुताबिक यह वीडियो पूरी तरह से भी है इसीलिए ऐसे वीडियो के खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी गई हैं।

FasTag Fraud Viral Reality Check

NPCI के मुताबिक Social Media से इन सभी Videos को हटाने का काम भी शुरू कर दिया गया हैं। अब धीरे-धीरे करके FasTag Fraud को लेकर इन सभी वीडियोस को हटा दिया जाएगा। इसके बाद झूठी अफवाह फैलाने वाले व्यक्ति किसी भी अन्य व्यक्ति को गुमराह नहीं कर पाएंगे।

FasTag में होता हैं, RFID Technology का इस्तेमाल

आप की सूचना के लिए बता दें कि फास्टैग सिस्टम Radio Frequency Identification Technology (RFID) पर काम करता हैं। इसी वजह से वाहन चालक Toll Plaza पर बिना रुके ही पेमेंट कर सकता हैं। क्योंकि टोल प्लाजा पर लगे Scanner दूर से ही Fastag Scan कर लेते हैं। इसी वजह से FasTag के साथ कभी भी किसी भी तरह का Fraud नहीं हो सकता है।

Leave a Comment