सड़क दुर्घटना में गंभीर Accident करने पर Driving Licence और Registration रद्द किया जाएगा-यहाँ से जानिए सरकार के दिशा-निर्देश |

सड़क दुर्घटना में गंभीर Accident करने पर Driving Licence और Registration रद्द किया जाएगा,सड़क दुर्घटना के संबंध में हाल ही में ही परिवहन आयुक्त कन्हैयालाल स्वामी ने दिशा निर्देश जारी किए, यदि वाहन चालक द्वारा एक्सीडेंट हो जाता है तो उसका Driving licence व गाड़ी का Registration रद्द किया जा सकता है, चलिए इस पोस्ट के माध्यम से पूरी जानकारी विस्तार से जानते हैं l

आए दिन हमें अपने आसपास व देश दुनिया में हो रहे एक्सीडेंट की खबर मिलती ही रहती हैं । गंभीर सड़क दुर्घटना आज के समय में मौत की एक नई वजह बन गया है। कहां जाए तो कई लोग ऐसे हैं जिन्हें सड़क पर चलने में ही डर लगता है कि कहीं उनका Accident ना हो जाए, क्योंकि वाहन चालक बड़ी लापरवाही से गाड़ी चलाते हैं ।

देखा जाए तो पिछले कई वर्षों में एक्सीडेंट से होने वाली मृत्यु के मामलों में इजाफा हुआ है । पहले के मुताबिक पिछले कुछ वर्षों में बहुत ज्यादा मौत एक्सीडेंट के कारण हो रही है । इसी को मद्देनजर रखते हुए परिवहन आयुक्त कन्हैयालाल के द्वारा महत्वपूर्ण दिशा निर्देश जारी किए गए हैं ।

यदि किसी वाहन चालक की गलती के कारण कोई दुर्घटना हो जाती है, तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी । यदि आप भी वाहन चलाते हैं, तो यह खबर आपके लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होने वाली है ।

Govt Job Update & Exam Notes के लिए फॉर्म भरे

चलिए इस पोस्ट के माध्यम से परिवहन आयुक्त कन्हैया लाल के द्वारा जारी किए गए महत्त्वपूर्ण दिशा निर्देश के बारे में जान लेते हैं, ताकि भविष्य में आपको भी कोई परेशानी ना हो ।

कन्हैयालाल स्वामी ने किए दिशा निर्देश जारी

राज्य में गंभीर एक्सीडेंट के मामले को देखते हुए और वाहन चालक की गंभीरता से गाड़ी चलाने की स्थिति को देखते हुए परिवहन आयुक्त कन्हैयालाल स्वामी ने राज्य के सभी RTO व DTO को दिशा निर्देश जारी किए हैं। जिसमें उन्होंने कहा है कि जिस भी वाहन चालक की गलती से गंभीर सड़क दुर्घटना होती है, उस चालक का Driving licence व गाड़ी का Registration निरस्त कर दिया जाए।

Link your Driving License with DigiLocker

Driving License for Commercial Vehicle

New Rules of Driving License 2022 for Commercial & Personal

केवल 10 मिनट में मिलेगा ड्राइविंग लाइसेंस
Driving license and registration will be canceled for serious accident

वाहन चालक को मिलेगी यह सजा।

केंद्रीय मोटर वाहन अधिनियम 1988 में लाइसेंस व वाहन का प्रावधान है, लेकिन डीटीओ इसको लेकर कोई कार्रवाई नहीं कर रहे है। जिसको लेकर परिवहन आयुक्त कन्हैयाला स्वामी ने राज्य में हो रही गंभीर सड़क दुर्घटना को देखते हुए एक्सीडेंट करने वाले वाहन चालक का लाइसेंस और वाहन का रजिस्ट्रेशन रद्द करने के दिशा-निर्देश दिए है।

डीटिओ को मिलेगा  licence और रजिस्ट्रेशन निरस्त करने का अधिकार।
गंभीर सड़क दुर्घटना करने पर आरोपित वाहन चालक पर पहले तो पुलिस मामला दर्ज किया जाएगा। मामला दर्ज करने के बाद आरोपित वाहन चालक पर पुलिस आरोपी को गाड़ी के लाइसेंस और Registration की कार्रवाई के लिए उससे RTO और DTO के पास भेजेगी । आरटीओ और डीटीओ सबंधित आरोपी की गाड़ी के license और Registration को अपने स्तर पर रद्द करेगी।

एक्सीडेंट करने वाले वाहन चालक पर इन धाराओं में होती है कार्रवाई

  • धारा 183 के तहत तेज रफ्तार से गाड़ी चलाने पर वाहन चालक पर कार्रवाई की जाती है। दरअसल, तेज Speed से गाड़ी चलाना गंभीर सड़क दुर्घटना का मुख्य कारण है।
  • धारा 190 के तहत उन वाहन चालकों पर कार्रवाई की जाती है, जो बेकार या असुरक्षित वाहन का उपयोग करते है । क्योकि खराब वाहन के चलते भी कई लोग दुर्घटना ग्रस्त होकर मौत के मुंह में चले जाते है या उनके कारण कई अन्य लोग Road Accident का शिकार हो जाते है ।
  • धारा 192 के तहत उन लोगों पर कार्रवाई की जाती है, जो सड़क पर उन वाहनों को दौड़ाते है, जो आरटीओ में Registered ही नहीं है ।
  • धारा 192 (क) के तहत उन लोगों पर कार्रवाई की जाती है, जो बिना Permit वाले वाहन का उपयोग करते है ।
  • धारा 194 (1) के तहत उन लोगों पर कार्रवाई का प्रावधान है जो गाड़ी को Overload कर के सड़क पर चलाते है। ये दरअसल वो लोग होते है, जो पब्लिक सर्विस के लिए गाड़ी चलाते जैसे की बस, ऑटो वाले।
  • अगर बस वाले वाहन की क्षमता से ज्यादा गाड़ी में यात्रियों को बैठाते है, तो उन पर धारा 194(1) के तहत कार्रवाई की जाती है। ओवरलोडेड गाड़ी भी सड़क दुर्घटना में अपना सहयोग देती है।
  • धारा 194(ख)(2) के मद्देनजर उन लोगों पर कार्रवाई की जाती है, जो गाड़ी चलाते वक्त सुरक्षा बैल्ट का उपयोग नहीं करते है।
  • धारा 194(ग) के तहत उन लोगों पर कार्रवाई की जाती है, जो यात्रियों के सुरक्षा उपायों का उल्लंघन करते है। सुरक्षा उपायों का उल्लंघन करने के कारण कई लोगों के सामने अपनी जान से हाथ धोने की नौबत आ जाती है।
  • धारा 194(घ) इस धारा के तहत उन लोगों पर कार्रवाई की जाती , जो पहिया वाहन चलाते वक्त हेलमेट का उपयोग नहीं करते है। हेलमेट कई लोगों को सड़क दुर्घटना ग्रस्त होने के बावजूद भी मौत के मूह से बाहर निकालने में कारगर साबित हुआ है ।
  • यही कारण है जो सरकार हेलमेट के उपयोग को लेकर इतनी गंभीर है और वाहन चलाते समय जो व्यक्ति इसका इस्तमाल नहीं करते है, उस पर कार्रवाई करती है।
  • धारा 196 के तहत उन लोगों पर कार्रवाई करने का प्रावधान है जो लोग बिना Insurance वाली गाड़ी को सडक पर तेज़ी से दौड़ाते है।
  • धारा 199(क) धारा के तहत किशोर यानी की जिसकी उम्र 18 वर्ष से कम है, उसके द्वारा अपराध किया गया हो।

साल 2021 में इतने लोगों ने रोड एक्सीडेंट में गंवाई अपनी जान

बता दें कि बीते वर्ष यानी कि 2021 के आकड़ों के मुताबिक पूरे साल में देश भर में लगभग 1.5 लाख लोगों ने सड़क दुर्घटना ग्रस्त होने पर अपनी जान गवां दी। देखा जाए तो पूरे दिन में औसत 426 लोग Road Accident का शिकार होकर काल के गाल में समा रहे है।

वहीं हर एक घंटे में करीब 17 लोगों की मौत सिर्फ सड़क दुर्घटना के वजह से हो रही है। इन्हीं आकड़ो के देखते हुए और सड़क दुर्घटना के कम करने के लिए सरकार द्वारा आरोपित वाहन चालक के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन को निरस्त करने के दिशा-निर्देश दिए गए है।

Leave a Comment