Dairy Farming Nabard Subsidy Yojana 2021 Eligibility & Application

By | December 14, 2020

Dairy Farming Nabard Subsidy Yojana 2021, Application form for Nabard Dairy Farming Scheme, Eligibility for Dairy Farming Nabard Subsidy Scheme 2021, Nabard Scheme for Dairy Farming, आवेदन करे डेयरी फार्मिंग नाबार्ड सब्सिडी योजना के लिए

Dairy Farming Nabard Subsidy Yojana 2021: भारत में लगातार दुधारू पशुओं से रोजगार की लगातार सम्भावनाये बढ़ रही है। इस बात को देखते हुए सरकार ने डेरी उद्यमिता विकास योजना शुरू की है। डेयरी फार्मिंग उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा डेयरी फार्मों, पशुपालन डेयरी, एवं मत्स्य पालन डेयरी और पॉल्ट्री के लिए हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा Dairy Farming Nabard Subsidy Yojana 2021 शुरू की गयी है।

इस योजना के जरिये सरकार इस उद्योग में पूर्व स्थापित लोगो एवं ने उद्यमियों को बिना ब्याज के लोन देने की सुबिधा प्रदान करेगी।  इसके जरिये देश में बेरोजगारी को कम करने का प्रयास किया जा सकेगा एवं साथ ही साथ स्वंय के रोजगार के अवसर को बढ़ावा दिया जाने का प्रयास सरकार द्वारा किया जायेगा।

Dairy Farming Nabard Subsidy Scheme 2021

  • योजना के जरिये स्व रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
  • डेयरी क्षेत्र के लोगो के लिए सुविधाएं बढ़ेंगी।
  • डेयरी फार्म की स्थापना से दूध का उत्पादन बढ़ेगा।
  • गोबर से गोबर गैस, इंजन चलने के लिए ईंधन की प्राप्ति हो सकेगी।

Eligibility for Nabard Subsidy Scheme for Dairy Farming

  • किसान व्यक्तिगत उद्यमी असंगठित और संगठित क्षेत्र का समूह हो।
  • फार्मिंग डेयरी नाबार्ड योजना (Dairy Farming Nabard Subsidy Yojana 2020) का लाभ एक आवेदक एक बार ही उठा सकेगा।
  • एक ही क्षेत्र में स्थित दो फार्मों के बीच की दूरी कम से कम 500 मीटर होना आवश्यक है।

Subsidy on Dairy Products under the Scheme

डेयरी उद्योग विकास योजना (Nabard Scheme for Dairy Farming) के जरिये दुग्ध उत्पाद बनाने के लिए अगर आप यूनिट शुरू करना छह रहे तो इसलिए भी आपको सब्सिडी मिल सकती है। योजना के लाभ के अंतर्गत आप दुग्ध उत्पाद के उपकरण खरीद पर भी सब्सिडी प्राप्त कर सकेंगे। 

उपकरण की खरीद पर 25 परसेंट सब्सिडी का प्रावधान योजना के जरिये दिया जायेगा। SC/ST केटेगरी को अन्य श्रेणियों से अधिक सब्सिडी दी जाएगी। जिसकी जानकारी आप ऑफिशियल वेबसाइट से प्राप्त कर सकते है।

मिल्क कोल्ड स्टोरेज भी बना सकते है-

आप दूध एवं दूध से बनाये जाने वाले उत्पादों के लिए कोल्ड स्टोरेज यूनिट भी शुरू कर सकते है।  इस यूनिट में आप इन उत्पादों को संरक्षित कर रख सकते है। कोल्ड स्टोरेज बनाने के लिए सरकार द्वारा फार्मिंग डेरी नाबार्ड सब्सिडी योजना (Dairy Farming Nabard Subsidy Scheme 2021) के जरिये लाभ दिया जायेगा।

उदहारण के लिए अगर आप अपना मिल्क कोल्ड स्टोरेज यूनिट शुरू करते है जिसमे आपकी लागत 33 लाख आती है तो सामान्य वर्ग के लिए इस पर 8.२५ लाख रुपए एवं SC/ ST वर्ग को इस पर 11 लाख तक की सब्सिडी दी जा सकती है।

Dairy Farming Nabard Yojana 2021

1. संकर गायों / साहीवाल, लाल सिंधी, गिर, राठी आदि जैसे स्वदेशी विवरण दुधारू गायों / श्रेणीबद्ध भैंस 10 पशुओं के लिए छोटे डेयरी इकाइयों को बढ़ने के साथ स्थापना।

  • निवेश: 10 जानवरों की यूनिट के लिए 5.00 लाख रुपये – न्यूनतम इकाई का आकार 2 और अधिकतम 10 जानवरों की सीमा के साथ है।
  • सब्सिडी: परिव्यय (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33 .33%,) के 25% से 10 जानवरों की एक यूनिट के लिए 1.25 लाख रुपये की सीमा के रूप में वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी विषय (अनुसूचित जाति के लिए 1.67 लाख रुपये / अनुसूचित जनजाति के किसानों,) । अधिकतम अनुमेय पूंजी सब्सिडी 25000 रुपये 2 पशु इकाई के लिए (अनुसूचित जाति के लिए 33,300 रुपये / अनुसूचित जनजाति के किसानों) है। सब्सिडी इकाई आकार के आधार पर एक यथानुपात आधार पर प्रतिबंधित किया जाएगा।

2.बछिया बछड़ों के पालन – 20 बछड़ों के लिए ऊपर – पार नस्ल, स्वदेशी मवेशियों और वर्गीकृत भैंसों दुधारू नस्लों का विवरण।

  • निवेश: 20 बछड़ा इकाई के लिए 4.80 लाख रुपये –  5 बछड़ों की न्यूनतम इकाई आकार और 20 बछड़ों की अधिकतम सीमा के साथ।
  • सब्सिडी: परिव्यय (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33.33%) की 25% 20 बछड़ों (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 1.60 लाख रुपये) की एक इकाई के लिए 1.20 लाख रुपये की सीमा के रूप में वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी अधीन। अधिकतम अनुमेय पूंजी सब्सिडी 30,000 रुपये 5 बछड़ा इकाई के लिए (अनुसूचित जाति के लिए 40,000 रुपये / अनुसूचित जनजाति के किसानों) है। सब्सिडी इकाई आकार के आधार पर एक यथानुपात आधार पर प्रतिबंधित किया जाएगा।

3.वर्मीकम्पोस्ट (दुधारू पशु यूनिट के साथ अलग से नहीं दुधारू पशुओं के साथ विचार किया जा छेनी और)।

  •  निवेश:  20,000 / -रु।
  • सब्सिडी: परिव्यय (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33.33%)                     के 25% या 5,000 रुपये की सीमा के रूप में वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी विषय – (रुपये 6700 / – अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए)।

4. दुहना मशीनों की खरीद / दूध परीक्षकों / थोक दूध ठंडा इकाइयों (2000 जलाया क्षमता)।

  • निवेश: 18 लाख रु।
  • सब्सिडी: परिव्यय (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33.33%) के 25% 4.50 लाख रुपये (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 6.00 लाख रुपये) की सीमा के रूप में वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी अधीन।

5. स्वदेशी दूध उत्पादों का निर्माण करने के लिए डेयरी प्रसंस्करण के उपकरण की खरीद।

  • निवेश: 12 लाख रुपये
  • सब्सिडी: परिव्यय (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33.33%) के 25% 3.00 लाख रुपये (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 4.00 लाख रुपये) की सीमा के रूप में वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी अधीन।

6. डेयरी उत्पाद परिवहन सुविधाओं और कोल्ड चेन की स्थापना।

  • निवेश: 24 लाख रु।
  • सब्सिडी: परिव्यय (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33.33%) के 25% से 6.00 लाख रुपये (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 8.00 लाख रुपये) की सीमा के रूप में वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी अधीन।

7. दूध और दूध उत्पादों के लिए कोल्ड स्टोरेज की सुविधा।

  • निवेश: 30 लाख रुपये।
  • सब्सिडी: परिव्यय (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33.33%) के 25% 7.50 लाख रुपये (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 10.00 लाख रुपये) की सीमा के रूप में वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी अधीन।

8. प्राइवेट पशु चिकित्सा क्लीनिक की स्थापना।

  • निवेश: मोबाइल क्लिनिक के लिए 2.40 लाख रुपये और स्थिर क्लिनिक के लिए 1.80 लाख रुपये।
  • सब्सिडी: – परिव्यय के 25% (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33.33%) वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी 45,000 / – रुपये और 60,000 / रुपये की सीमा  (रुपये 80,000 / – और 60,000 रुपये / – अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए)क्रमश: मोबाइल और स्थिर क्लीनिक के लिए।

9. डेयरी विपणन आउटलेट / डेयरी पार्लर।

  • निवेश: 56,000 रुपये / –
  • सब्सिडी: परिव्यय (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए 33.33%) के 25% या14,000 रुपये की सीमा के रूप में वापस समाप्त पूंजी सब्सिडी विषय – (रुपये 18600 / – अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए)।

Application Form of Dairy Farming Nabard Subsidy Scheme 2020 (आवेदन पत्र)

इस पोस्ट में हमने डेयरी फार्मिंग नाबार्ड सब्सिडी योजना (Dairy Farming Nabard Subsidy Yojana 2021) से जुडी जानकारी देने का प्रयास किया है।  अगर आपको इस आर्टिकल से संबंधी किसी प्रकार की जानकारी हो तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके Result Uniraj टीम की सहायता ले सकते है। धन्यवाद…!!!

Disclaimer: यहां दी गयी सभी जानकारी सोशल मीडिया एवं अन्य मीडिया सोर्सेज से प्राप्त जानकारी के आधार पर प्रकाशित की गयी है। योजना की सत्यता एवं पूर्ण जानकारी के लिए आप विभाग की आधिकारिक वेबसाइट अवश्य विजिट करे।

follow us for social updates

2 thoughts on “Dairy Farming Nabard Subsidy Yojana 2021 Eligibility & Application

  1. Dilip raidas

    Muje dairy lon chaiye 10 se 12 lakh ka jesme muje bhense khridni and parsal bnani

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *