कोरोना के कारण परीक्षाएँ हुई रद्द, लाखों बच्चे होंगे प्रमोट-इन कक्षाओं के लिए परीक्षाएँ नहीं होंगी |

By | April 13, 2021

राजस्थान सरकार ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से कक्षा 6वीं और 7वीं की परीक्षाएँ रद्द करने का निर्णय किया, शिक्षा मंत्री ने कहा छोटी कक्षाओं के बच्चों को बिना परीक्षा ही अगली कक्षा मी प्रमोट किया जायेगा, राजस्थान के लाखों बच्चे होंगे प्रमोट, कक्षा 10वीं एवं 12वीं परीक्षाएँ अपने निर्धारित समय पर ही आयोजित होंगी |

आपको पता ही है की कोरोनावायरस की वजह से पूरे देश में कितना ज्यादा नुकसान हो रहा है। बहुत से लोगों को तो कोरोनावायरस की वजह से अपनी जान भी गंवानी पड़ रही है अब भारत में कोरोनावायरस ने काफी ज्यादा प्रचंड रूप ले लिया है। जिसके कारण काफी ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं अब इसी को देखते हुए राजस्थान सरकार ने भी एक नया फैसला लिया है।

क्योंकि राजस्थान राज्य में भी कोरोनावायरस के मामले पहले से भी ज्यादा बढ़ रहे हैं। अब तो राजस्थान में भी कोरोनावायरस ने कई रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं हाल ही में राजस्थान में 26318 लोगों की जांच की गई थी जिनमें से कुल मिलाकर 5771 नए रोगी मिले हैं। राजस्थान में कोरोनावायरस की पॉजिटिव रिपोर्ट सबसे अधिक पहुंच चुकी है जो कि इस वक्त 21.9 2% है।

सोमवार को तो एक ही दिन मे 25 लोगों की मौत हुई थी कुल मिलाकर 13 जिलों में कोरोनावायरस की वजह से मौत हुई है। जोधपुर तथा उदयपुर दोनों में ही 5-5 लोगों की मौत हुई है। जयपुर में 3 लोगों की मौत हुई है तथा नागौर में 2 मौत हुई है राजस्थान में अब तक कुल 2951 मौतें कोरोनावायरस की वजह से हो चुके हैं। अब इन सब परिस्थितियों को देखते हुए राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कुछ अहम फैसले लिए हैं जो अब हम जानेंगे।

6वीं तथा 7वीं कक्षा की परीक्षा नहीं होगी

दिन प्रतिदिन कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देख कर राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने यह ऐलान कर दिया है कि अब 6वीं तथा 7वीं कक्षा के बच्चों की परीक्षा नहीं ली जाएगी। लगभग 22 लाख विद्यार्थियों को अब अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाएगा। हम आपको बता दें कि पहली क्लास से लेकर 5वीं क्लास के बच्चों को तो पहले ही अगली क्लासों में प्रमोट कर दिया गया है।

Rajasthan me in kakshao ki exam cancelled hui

हम आपको बता दें अब अगली कक्षाओं की पढ़ाई 15 अप्रैल 2021 से शुरू कर दी जाएगी। परंतु अभी किसी भी परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा। यह फैसला बच्चों की सुरक्षा के लिए ही लिया गया है क्योंकि बच्चे देश का भविष्य होते हैं। इसीलिए शिक्षा मंत्री ने बच्चों को कोरोनावायरस की चपेट में आने से बचाने के लिए यह फैसला लिया है और कक्षा 6 से सातवीं तक के बच्चों को अगली कक्षाओं में प्रमोट कर दिया है।

राजस्थान में कोरोनावायरस के बने चार बड़े रिकॉर्ड

राजस्थान में कोरोनावायरस की वजह से काफी लोग अपनी जान गवा रहे हैं। राजस्थान में कोरोनावायरस ने काफी भयंकर रूप ले लिया है। इसी के चलते कोरोनावायरस के चार बड़े रिकॉर्ड बने हैं।

पहला रिकॉर्ड तो यह है कि 407 दिन के कोरोनावायरस 5771 रोगी मिले हैं। वैसे तो 57413 लोगों की जांच के लिए सैंपल लिए गए थे परंतु इन सैंपल में से 26318 की जांच हुई है। जिनमें 5771 लोग कोरोनावायरस और इसको देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि यदि सभी सैंपल की जांच की जाती है तो लगभग 12580 लोग करो ना पॉजिटिव पाए जाएंगे।

दूसरा रिकॉर्ड कोरोना संक्रमण की पॉजिटिव दर का बना है अभी सोमवार के दिन 26318 सैंपल लिए गए थे जिनमें से 5771 नए रोगी मिले हैं और यह कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट अब तक की सबसे बड़ी रिपोर्ट है इस रिपोर्ट के अनुसार अब कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट 21.92% तक पहुंच चुकी है।

तीसरा रिकॉर्ड यह बना है कि राजस्थान में लगभग एक करोड़ लोगो को वैक्सीन का टीका लग चुका है।

चौथे रिकॉर्ड ने तो चिंताएं काफी हद तक बढ़ा दी है चौथे रिकॉर्ड के अनुसार 12 अप्रैल 2021 को एक ही दिन में 25 लोगों की मौत कोरोनावायरस के संक्रमण के कारण हुई है। लोगों की मौत राजस्थान राज्य के अलग-अलग जिलों में हुई है जैसे कि जोधपुर जिले में 5 लोगों की मौत हुई है। उदयपुर जिले में भी 5 लोगों की मौत हुई है तथा जयपुर में 3 लोगों की मौत हुई है।

नागौर में 2 लोगों की मौत हुई है इसी प्रकार अन्य जिलों में भी मौतें हुई हैं कुल 13 जिलों में अब तक मौत हुई है। कोरोनावायरस के कारण अब तक 2951 लोगों की मौत हो चुकी है। चिंता की बात तो अब यह है की 7 महीनों में पहली बार रिकवरी दर 90% से भी नीचे चली गई है। सोमवार को रिकवरी रेट 89.34% रही जो कि 2 महीने पहले तक 98.4% पर थी।

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *