कोचिंग संस्थानों को बंद करने के आदेश-लेकिन कोचिंग संचालकों ने कहा तैयारी करने वाले समझदार है |

By | April 17, 2021

कोरोना महामारी की दूसरी लहर में बढ़ते मामलों की वजह से सभी कोचिंग संस्थानों को बंद करने का निर्णय किया गया है, लेकिन कोचिंग संचालकों ने कहा कि सभी बच्चे समझदार है, नियमों की पालना करते हुए कोचिंग खोलने की अनुमति दे दी जाए |

 कोरोनावायरस के बारे मे पूरे विश्व में हर कोई जानता है l कोरोनावायरस के चलते सभी चीजों पर प्रभाव पड़ रहा है और दिन प्रतिदिन हर जगह  कोरोनावायरस के केस बढ़ते जा रहे हैं| कोरोनावायरस एक ऐसी समस्या है जिसका प्रभाव पिछले 1 साल से हमारी सभी चीजों पर पड़ रहा है| कुछ समय पहले कोरोना केस कम हो गए थे, परंतु अभी फिर से कोरोना केस बहुत बढ़ रहे हैं| कोरोना केस बढ़ने के कारण  बच्चों की पढ़ाई पर भी बहुत गहरा प्रभाव पड़ रहा है| वह रेगुलर अपनी पढ़ाई नहीं कर पा रहे है| 

जैसे लगातार कोरोना केस बढ़ते जा रहे हैं , वही आर्थिक गतिविधियां तथा लोगों का व्यवसाय और बच्चों की पढ़ाई बुरी तरह से प्रभावित हो रही हैं| सभी स्कूल, कॉलेज , शिक्षण संस्थान बंद करने के आदेश दिए जा रहे हैं | जिसके कारण बच्चों की पढ़ाई बहुत प्रभावित हो रही है| सभी तरह के कोचिंग इंस्टिट्यूट भी बंद करने के आदेश दिए गए हैं| ऐसे में अब कोचिंग इंस्टीट्यूट के संचालकों के सामने बहुत बड़ी समस्या उत्पन्न हो गई है l 

इस समस्या के चलते राजस्थान पत्रिका के डिजिटल मंच के द्वारा एक सेमिनार का आयोजन किया जाएगा जिसके चलते सभी अपनी बात को कह सकते हैं l  सभी  बातों पर भी विचार विमर्श किया जाएगा|  कोचिंग क्लासेज के संचालकों ने कहा है कि जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं , उनके लिए एक निर्धारित समय पर  कोचिंग इंस्टिट्यूट को खोला जाए ,

जिससे छात्रों की पढ़ाई में कोई बाधा ना आए और वह सभी एग्जाम की तैयारी भी बेहतर तरीके से कर सकें l  कोचिंग इंस्टिट्यूट के संचालकों ने कहा है, कि वह कोरोना गाइडलाइन्स को ध्यान में रखते हुए कोचिंग  इंस्टिट्यूट को खोलने की मांग कर रहे है और  सभी छात्र समझदार है वह कोरोना गाइडलाइन्स का पालन कर सकते है, अच्छी तरह से सरकार के हर नियम का पालन कर सकते हैं|

कोचिंग इंस्टिट्यूट के संचालकों का कहना है, कि कोचिंग इंस्टिट्यूट को खोलने के लिए अनुमति दी जाए l

कोरोनावायरस का बहुत बुरा असर उन अभ्यार्थियों पर पड़ने वाला है जो प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं l काफी परीक्षा ऐसी है जिनकी परीक्षा तिथि भी घोषित कर दी गई थी परंतु कोरोनावायरस के कारण सब परिस्थितियां विपरीत हो रही है l ऐसे में बहुत अभ्यार्थी ऐसे हैं जिन्होंने बहुत बड़े कोचिंग संस्थान में कोर्स पूरा करने के लिए फीस दी है लेकिन कोरोनावायरस के कारण जब कोचिंग संस्थान बंद हो जाएंगे तो उनका कोर्स बीच में ही रह जाएगा l इसीलिए कोचिंग संस्थानों के द्वारा यह मांग की जा रही है, कि कोचिंग संस्थानों को कुछ गाइडलाइंस के आधार पर खोलने की अनुमति दी जाए जिससे अभ्यार्थियों का अहित ना हो l

सरकार के द्वारा कोचिंग कक्षा का समय निर्धारित किया जाए l

 सभी कोचिंग संस्थानों का यह कहना है, कि सरकार के द्वारा कोचिंग कक्षा का समय निर्धारित कर दिया जाए और एक रूपरेखा तैयार कर दी जाए जिससे अभ्यार्थियों को भी आने-जाने में कोई परेशानी ना हो और कोरोनावायरस से भी बचा जा सके l

Coaching Institute Closed News

यदि सरकार के द्वारा कुछ विशेष गाइडलाइंस बना दी जाए तो हो सकता है, कि कोचिंग संस्थानों में अभ्यार्थियों की पढ़ाई भी अच्छे से हो जाए और कोरोनावायरस के इस दौर में सावधानियां भी बरती जा सके l कोचिंग संस्थानों का कहना है, कि अगर इस बार कोचिंग संस्थान लंबे समय तक बंद रहे तो यह अभ्यार्थियों के लिए बहुत बड़ी बुरी खबर होगी l परीक्षा की तैयारी कर रहे लाखों अभ्यार्थियों को इसका नुकसान आने वाले समय में देखने को मिलेगा l

कोचिंग संस्थानों का कहना है, कि सभी कैंडिडेट समझदार है l

कोचिंग संस्थानों का कहना है, कि जो भी कैंडिडेट कंपटीशन एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं वह बहुत समझदार है l यदि उन्हें कोरोनावायरस से संबंधित विशेष गाइडलाइंस बता दी जाए, तो सभी उसका पालन जरूर करेंगे l सरकार के द्वारा सभी कोचिंग संस्थानों के लिए कुछ विशेष गाइडलाइंस बनानी चाहिए, जिससे अभ्यार्थियों का भी नुकसान ना हो, कोरोनावायरस भी ना फैले l अगर सरकार कुछ विशेष गाइडलाइंस बना दे, तो सरकार के फैसले से अभ्यार्थियों को भी फायदा होगा l कोचिंग संस्थानों के द्वारा बार-बार सरकार से मांग की जा रही है, कि कोचिंग संस्थानों को एक निश्चित समय सारणी के अंतर्गत खोलने की अनुमति दी जाए  l

नियमों का पालन करते हुए अनुमति दी जानी चाहिए|

सभी संचालक विद्यार्थीओ की पढ़ाई को लेकर चिंतित है|वे यही सोचते हैं, कि किसी भी तरीके से विद्यार्थियों की पढ़ाई में कोई बाधा ना आए|  वे यही चाहते हैं, कि उन्हें किसी भी गवर्नमेंट गाइडलाइंस की अवहेलना ना करनी पड़े|  सभी संचालक चाहते हैं, कि धारा 144 तथा किसी भी गाइडलाइंस की अवहेलना  ना की जाए| इसी बात को ध्यान में रखते हुए संचालक कोचिंग क्लासेज को स्टार्ट करने की अनुमति मांग रहे हैं| सभी संचालक यह चाहते हैं , कि किसी भी विद्यार्थी की पढ़ाई खराब ना हो l जिन विद्यार्थियों  की परीक्षाएं समीप है उनकी तैयारी तो विद्यार्थी अच्छे से कर पाए| उन्हें अपनी पढ़ाई पूरी करने का पूरा अवसर मिलना चाहिए|

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *