Bihar Krishi Input Yojana 2021- Eligibility & Application Form

By | March 31, 2021

Bihar Krishi Input Yojana 2021, बिहार कृषि इनपुट योजना लिए आवेदन करने की पात्रता क्या है,बिहार कृषि इनपुट योजना में किसान को कितने रुपयों की सहायता मिलती है, बिहार कृषि इनपुट योजना के लिए आवेदन कौन वेबसाइट पर किये जाते है, बिहार कृषि इनपुट योजना जानकारी देखे-https://dbtagriculture.bihar.gov.in/

बिहार कृषि इनपुट योजना की जानकारी पढ़े हिंदी में –

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में बिहार कृषि इनपुट योजना की सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाएगी | बिहार कृषि इनपुट योजना बिहार सरकार द्वारा राज्य के किसानो को लाभ पंहुचाने के लिए शुरू की गई है | इस योजना के तहत किसानो को प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान देने का प्रावधान किया गया है |

बिहार प्रवासी मजदुर घर आने के लिए Registration करेंBihar Corona Sahayata Mobile App 
Bihar Student Credit Card Loan SchemeRTPS Bihar Online Form 

अगर भरी ओलावृष्टि या बारिश वजह से किसानो की फैसले ख़राब हो जाती है, तो किसानो को अनुदान के रूप में सहायता दी जाती है | आप इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली सहायता और अन्य जानकारी हिन्दी भाषा में देख सकते है | इसके लिए आप इस पेज को आखिर तक जरूर पढ़े |

क्या है बिहार कृषि इनपुट योजना-

बिहार सरकार ने राज्य के किसानों को ओलावृष्टि, बारिश या अन्य आपदा की वजह से ख़राब हुई फसल के लिए अनुदान के रूप राशि देने के लिए इस योजना को शुरू किया है | इस योजना अंतर्गत बिहार राज्य के जिन किसानो की फसले नष्ट हो गई है |

बिहार स्कॉलरशिप आवेदनबिहार बेरोजगारी भत्ता योजना
बिहार किसान रजिस्ट्रेशन करेआत्मनिर्भर भारत अभियान

उनके लिए निम्न प्रकार से सहायता देने की घोषणा की है | अगर असिंचित क्षेत्र की फसल हो तो उसके लिए 6800 रूपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से और सिंचित क्षेत्र के लिए 13500 रूपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से तथा कृषि योग्य भूमि जहाँ बालू / सिल्ट का जमाव 3 इंच से अधिक हो उसके लिए 12200 रूपये प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जायेगा |

बिहार कृषि इनपुट योजना का मुख्य उदेश्य क्या है-

बिहार कृषि इनपुट योजना का शुरू करने का मुख्य उदेश्य है कि भारत कृषि प्रदान देश है | यहाँ पर अधिकतर परिवार कृषि पर निर्भर रहते है | अगर किसी किसान की फसल ख़राब हो जायेगा, तो उसके परिवार पर तो दुःख का पहाड़ सा टूट जाता है | कई बार क्या होता है, भारी बारिश, ओलावृष्टि या अन्य किसी प्राकृतिक आपदा के कारण किसान की फसल खरब हो जाती है |

बिहार आंगनबाड़ी लाभार्थी योजना मोबाइल फोन से देखे अपने बैंक खाते में जमा राशि
ऐसे चेक करे PM Kisan Samman Nidhi Yojanaइस तरीके से देखे जन धन अकाउंट का बैलेंस

ऐसी स्थति में बहुत से किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो जाते है | इस प्रकार की घटनाएं घटित नहीं हो इसके लिए फिर बिहार सरकार ने किसानो के लिए बिहार कृषि इनपुट योजना को शुरू किया है | इस बिहार कृषि इनपुट योजना के अंतर्गत किसान को प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान राशि के रूप में सहायता प्रदान की जाएगी | जिससे किसान को ख़राब हुई फसल का लाभ मिल सके |बिहार कृषि इनपुट योजना में अधिकतम 13500 रूपये तक प्रति हेक्टेयर के हिसाब से सहायता दी जाती है |

बिहार कृषि इनपुट योजना को एक नजर में समझे-

यहाँ पर आपको हमारी टीम आपको बिहार कृषि इनपुट योजना के बारे में समझा रही है | आप नीचे दी गई सारणी से बिहार कृषि इनपुट योजनाबे बारे में आसानी से जान सकते है |

योजना का नाम बिहार कृषि इनपुट योजना
विभाग का नाम प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार
योजना शुरू की गई बिहार राज्य सरकार द्वारा
योजना के लाभार्थी बिहार राज्य के किसान वर्ग
आवेदन करने की प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से
योजना में लाभ प्रति हेक्टेयर के हिसाब से असिंचित क्षेत्र (6800 रूपये) और सिंचित क्षेत्र (13500 रूपये) तथा कृषि योग्य भूमि जहाँ बालू / सिल्ट (12200 रूपये)
अधिकारिक वेबसाइट-https://dbtagriculture.bihar.gov.in/

बिहार कृषि इनपुट योजना के लिए पात्रता और दस्तावेज

अगर आप बिहार कृषि इनपुट योजना के लिए आवेदन करना चाहते हो तो निम्न दस्तावजों का होना जरुरी है | अगर आप इस योजना में मांगी गई आवशयक पात्रता नहीं रखते हो तो बिहार कृषि इनपुट योजना के लिए आवेदन नहीं कर सकते है |

अगर आप आवेदन कर भी देते हो तो, आपका आवेदन निरस्त कर दिया जायेगा | इसलिए आप पहले बिहार कृषि इनपुट योजना में मांगे गए सभी दस्तावेज बनवाकर तैयार रखे | उसके बाद ही आवेदन करे | यहाँ पर हमारी टीम आपको बिहार कृषि इनपुट योजना में मगे गए दस्तावेजों के बारे में अवगत करवा रही है | आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए |

सरकारी योजना 2020एक क्लिक से देखे Gas Subsidy आपके खाते में जमा हुई या नहीं
एक क्लिक से देखे जन धन खाते की दूसरी किश्त जमा हुई या नहींएक क्लिक से देखे सरकारी योजना के पैसे आपको क्यों नहीं मिले
  • बिहार राज्य का निवासी ही इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है |
  • आवेदन कर्ता के पास खेती करने योग्य भूमि होनी चाहिए |
  • इसके अलावा बटाईदार के पास वास्तविक खेतीहर+स्वयं भू-धरी की स्थिति में भूमि के दस्तावेज के साथ स्व घोषणा पत्र संलग्न करना अनिवार्य है।
  • भूमि के सभी दस्तावेज होने चाहिए |
  • किसान के पास एलपीसी/जमीन रसीद/वंशावली/जमाबंदी/विक्रय पत्र होना चाहिए।
  • किसान की पासपोर्ट साइज फोटो और मोबाइल नंबर होना जरुरी है |

बिहार कृषि इनपुट योजना के लिए आवेदन कैसे करे

अगर आप बिहार कृषि इनपुट योजना के लिए आवेदन करना चाहते हो तो, इसके लिए आपको हमारी टीम कुछ स्टेप्स बता रही है | जिससे आप आसानी से अपना आवेदन कर सकते है |

  1. Visit official website

    सबसे पहले आप प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार की अधिकारिक वेबसाइट को विजिट करे-https://dbtagriculture.bihar.gov.in/

  2. Home page

    विजिट करने के बाद आपको होम पेज पर कृषि इनपुट का ऑप्शन दिखाई देगा |

  3. Open new slide

    उस कृषि इनपुट पर क्लिक करने के बाद में आपके सामने एक नई स्लाइड खुलेगी |

  4. Enter Registration number

    नई स्लाइड में आपको किसान पंजीकरण संख्या भरनी होगी |

  5. Click submit button

    पंजीकरण संख्या भरने के बाद आप सबमिट बटन पर क्लिक करे |

KCC लाभार्थियों की सूची-किसान पोर्टल मेरी फसल मेरा ब्यौरा
एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना-

यहाँ से देखे-बिहार कृषि इनपुट योजना की सम्पूर्ण जानकारी

नोट-अगर आपको बिहार कृषि इनपुट योजना के बारे में कोई जानकारी लेनी हो तो, आप कमेंट कर हमारी टीम से पूछ सकते है -धन्यवाद

follow us for social updates

7 thoughts on “Bihar Krishi Input Yojana 2021- Eligibility & Application Form

  1. Md Yousuf

    I have not kisan registation number… How can I registered

    Reply
  2. Rohit

    Mera 2019july kharif fsl chti ka paisa avi tk nhi aaya hai,sala sb nich log hai,krisi department me

    Reply
  3. आयुष kumar

    हमारी bihar गॉव बहुत poor h.. bihar के खजाना मे पैसा hi नी है जो गरीब kisan. Ko हेल्प कर sake

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *