बिहार के दो बच्चे घर बैठे करोड़पति बने-बैंक खाते में आये 900 करोड़ रूपये |

By | September 17, 2021

बिहार के दो बच्चे घर बैठे करोड़पति बने, बिहार के पस्तिया गाँव के दो बच्चों के खातों में करीब 900 करोड़ रूपये जमा हुए, बच्चों के घरवालों के साथ साथ बैंक कर्मचारी भी हुए हैरान, बैंक की और से पता किया जा रहा है कि यह इतनी बड़ी रकम कैसे जमा हुई, बैंक ने दोनों बच्चों के खातों को फ्रिज कर दिया है |

आपने ऐसा बहुत बार सुना होगा कि कई बार बैंक से भी गलती हो जाती है, जिसके परिणाम स्वरूप खाताधारक के खाते में जितने पैसे डालने होते हैं, वह उससे काफी अधिक पैसे डाल देते हैं | ज्यादा से ज्यादा बैंक वालों से थोड़ी बहुत गलती तो हो सकती है, लेकिन क्या आपने कभी ऐसा सुना है, कि किसी व्यक्ति के Bank Account में गलती से 900 करोड रुपए आ गए हों |

हम बिल्कुल सही बता रहे हैं यह घटना वाकई में ही बिहार के रहने वाले 2 बच्चों के साथ हुई है, जिनके खातों में गलती से बैंक की तरफ से करोड़ों रुपए डाल दिए गए | इतनी रकम को देखकर बच्चों के घरवालों के साथ-साथ बैंक वाले भी काफी परेशान है, कि बच्चों के खातों में इतने अधिक पैसे कैसे आ सकते हैं, मगर अभी इस मामले की जांच चल रही है |

जब यह बात बच्चों के गांव में दूसरे लोगों को पता चली तो वह सब भी भारी संख्या में अपने बैंक खाते चेक करवाने पहुंच गए | सभी अपना Account Balance Check करवाने लगे सभी यह सोच रहे थे, कि क्या पता उनके खाते में भी पैसे आए हो | अब आगे इस पूरे मामले के बारे में हम आपको बताते हैं |

कटिहार जिले के आजमनगर के रहने वाले दोनों बच्चों के खातों में आए 900 करोड़ से भी अधिक रुपए

जिन बच्चों के बारे में हम बात कर रहे हैं, वह दोनों बच्चे बिहार राज्य में कटिहार जिले के आजमनगर के पस्तिया गांव के रहने वाले हैं  | इन बच्चों ने बताया कि यह दोनों ही छठी कक्षा के छात्र हैं और सरकार की तरफ से इनके खाते में स्कूल की पोशाक के लिए कुछ पैसे तथा स्कूल की किताबों के लिए ₹500 आने थे |

इन्हीं पैसों को चेक करने के लिए यह Uttar Bihar Gramin Bank में गए थे | जब इन्होंने अपने खाते में पैसे चेक करवाए तो उस समय यह बिल्कुल ही दंग रह गए | क्योंकि खाताधारक आशीष के बैंक खाते में 6 करोड़ 20 लाख 11 हजार 100 रुपए तथा खाताधारक गुरुचरण के खाते में 900 करोड रुपए से भी ज्यादा की रकम आ गई हैं |

Uttar Bihar Gramin Bank Baccho ke khato me jama huye paise

जब दोनों ही बच्चों ने इतने अधिक पैसे देखें तो यह बिल्कुल दंग ही रह गए, क्योंकि इन्होंने तो सपने में भी नहीं सोचा था, कि उनके बैंक खाते में इतने पैसे भी हो सकते हैं | इस मामले को लेकर बच्चों के साथ-साथ घर वाले और बैंक वाले भी पूरी तरह से हैरान थे, कि इनके खाते में इतने पैसे कौन डलवा सकता हैं | जब इस बात का धीरे-धीरे सभी लोगों को पता चला तो वह भी अपने बच्चों को लेकर बैंक में पहुंचे और खाता चेक कराने लगे | आज तक कई बार ऐसा हुआ है कि बैंक की तरफ से गलती हो जाती है, लेकिन इतनी बड़ी गलती होने पर ग्रामीण बैंक प्रशासन भी हैरान है |

बैंक खाते में इतने पैसे होने के बावजूद भी नहीं निकाल सकते पैसे

जब ग्रामीण बैंक के ब्रांच मैनेजर को बच्चों के खातों में इतने पैसे आने की बात का पता चला तो उन्होंने तुरंत ही बच्चों के bank account को फ्रीज कर दिया | जब तक इस मामले की पूरी तरह से जांच नहीं की जाती तो तब तक बच्चों के बैंक अकाउंट से किसी भी तरह का कोई भुगतान नहीं किया जा सकता | क्योंकि इस बात का पता लगाना  बहुत ही आवश्यक है, कि आखिरकार बच्चों के बैंक खाते में इतनी रकम कैसे आई | बैंक के द्वारा जल्द ही यह पता लगा लिया जाएगा कि यह पैसे किस प्रकार गलती से बच्चों के खाते में आए हैं |

कुछ समय पहले एक दूसरे व्यक्ति के साथ हुई थी ऐसी ही घटना

ऐसा बताया जा रहा है, कि कुछ समय पहले बिहार राज्य के खगड़िया में रहने वाले रंजीत दास नाम के एक व्यक्ति के साथ ऐसी ही घटना घटी थी | उसके बैंक खाते में अचानक से ही ₹550000 आ गए थे और उसने तुरंत ही अपने खाते से पैसे निकाल कर खर्च कर दिए | इसके बाद जब बैंक वालों को इस बात का पता चला और उन्होंने उस व्यक्ति को नोटिस भेजकर अपने पैसे वापस मांगे |

तो उस व्यक्ति ने बैंक के पैसों को लौटाने से मना किया और बैंक वालों को यह कह दिया कि उसने पैसे खर्च कर दिए हैं, क्योंकि उसको यह लगा कि शायद हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा यह रकम उसके बैंक खाते में डाली गई है | इसीलिए उसने सारे पैसे खर्च कर दिए | जब बैंक के बार-बार पैसे मांगने पर भी व्यक्ति के द्वारा पैसे नहीं दिए गए तो फिर बैंक के द्वारा उस युवक के खिलाफ केस दर्ज कराया गया और उसे फिर पुलिस ने हिरासत में ले लिया | इसीलिए जब भी कभी गलती से किसी दूसरे व्यक्ति के खाते में पैसे डाल दिए जाते हैं तो बैंक के द्वारा वह अकाउंट Lock कर दिया जाता है, ताकि कोई दूसरा व्यक्ति इन पैसों को निकाल कर खर्च ना कर दे |

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *