अटल सुरंग रोहतांग का पीएम मोदी ने किया उद्धघाटन-जाने सुरंग से जुड़ी जानकारी|

By | October 3, 2020

Atal Tunnel रोहतांग का उद्धघाटन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने किया, अटल सुरंग लेह और मनाली को जोड़ती है, अटल सुरंग बनाने में लगभग 4000 करोड़ रूपये खर्च होंगे, Atal Tunnel की लम्बाई 8.8 किलोमीटर है |

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में अटल सुरंग रोहतांग से जुड़ी सभी जानकारी बता रही है | देश के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व.अटल बिहारी वाजपेयी की 95वीं जयंती पर 25 दिसम्बर 2019 को उनकी स्मृति में रोहतांग टनल का नामकरण “Atal Tunnel” के रूप में करने की घोषणा की थी |

इससे पहले मनाली और लेह को जोड़ने वाले रस्ते को रोहतांग दर्रे के नाम से जाना जाता था |लेकिन केंद्र सरकार ने इसका नाम बदलकर अब Atal Tunnel कर दिया है | इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने रोहतांग सुरंग के नामकरण की लंबे समय से लंबित मांग को पूरा किया है| उन्होंने यह भी कहा कि यह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी | अटल टनल के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस पेज को आखिर तक पढ़े |

अटल टनल पर 4000 करोड़ की लागत आएगी-

हिमाचल प्रदेश के रोहतांग में मनाली और लेह को जोड़ने वाली अटल सुरंग बनाने में लगभग 4000 हजार रूपये खर्च होंगे | शुरुआत में इस सुरंग के लिए करीब 1400 करोड़ रूपये की लागत आंकी गई थी | लेकिन Atal Tunnel के ठीक ऊपर स्थित सेरी नदी के पानी के रिसाव के कारण अटल सुरंग के निर्माण में लगभग पांच साल की देरी हुई |

अर्द्धसैनिक बलों में 1,11,093 पद भरे जाने बाकि-BSF,CISF, CRPF, SSB,ITBP,Assam Riflesरेवाड़ी आर्मी रैली भर्ती 02 दिसम्बर से 12 दिसम्बर 2020-आयु सीमा और योग्यता की जानकारी देखे
ICFRE में एलडीसी,एमटीएस,स्टेनोग्राफर पदों पर निकली भर्ती-24 नवम्बर 2020 तक आवेदन करे|Rajasthan High Court Clerk 1760 Recruitment 2020 lipik grade II Bharti Online Application form

रोहतांग दर्रे के नीचे रणनीतिक महत्‍व की सुरंग बनाए जाने का फैसला 03 जून 2000 को लिया गया था | यह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल के दौरान तय हुआ था | अटल सुरंग के दक्षिणी भाग को जोड़ने वाली सड़क की आधारशिला 26 मई 2002 को रखी गई थी | अटल बिहारी वाजपेयी ने साल 2003 में रोहतांग टनल का शिलान्यास किया था |

सभी मौसम में खुली रहेगी अटल सुरंग-

लेह और मनाली को जोड़ने वाली अटल सुरंग की खास बता यह भी है कि यह सुरंग सभी मौसम में खुली रहेगी | इससे मनाली और लेह की दूरी भी 46 किलोमीटर कम हो जाएगी | अटल सुरंग का निर्माण कार्य की जिम्मेदारी सीमा सड़क संघठन को दी गई है और इसका निर्माण कार्य वर्ष 2020 तक पूरा होने की संभावना है |

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक यह सुरंग 8.8 किलोमीटर लम्बी होगी | इससे पहले यह दर्रा ठण्ड के मौसम में बंद कर दिया जाता था, जिससे लोगो को काफी परेशानी होती थी | लेकिन अब यह समस्या नहीं होगी | क्योंकि अब अटल सुरंग बनाए जाने के बाद यह सभी मौसम में खुली रहेगी |

अटल बिहारी वाजपेयी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी-

देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने Atal Tunnel का उद्धघाटन करने के बाद कहा कि यह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी | क्योंकि उनके कार्यकाल में यह सुरंग बनाई जाने का फैसला हुआ था |

अटल सुरंग के दक्षिणी भाग को जोड़ने वाली सड़क की आधारशिला 26 मई 2002 को रखी गई थी | रोहतांग दर्रे के नीचे रणनीतिक महत्‍व की सुरंग बनाए जाने का फैसला 03 जून 2000 को लिया गया था | यह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल के दौरान तय हुआ था | अटल सुरंग के दोनों छोर पर सड़क निर्माण 15 अक्टूबर 2017 को पूरा हुआ था |

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *