Sa Re Ga Ma Pa L’il Champs में सीकर के अशम अली बने अली साहब-जानिए कैसे इस मुकाम को हासिल किया |

Sa Re Ga Ma Pa L’il Champs में सीकर के अशम अली बने अली साहब, Saregamapa Little champs 2022,Saregamapa Little champs Show के ऑडिशन में राजस्थान राज्य के सीकर जिले के अली साहब ने मचाया धमाल, स्कूल में म्यूजिक टीचर है अली साहब, अली साहब आकाशदीप पब्लिक स्कूल में छठी क्लास में पढ़ते हैं, अली साहब ने Show में रमता जोगी का गाना गाया l

इन दिनों ज़ी टीवी पर बच्चों का सिंगिंग शो Saregamapa Little champs 2022 चल रहा है। जिसमें एक से एक बच्चे अपनी मधुर आवाज में ऑडिशन दे रहे हैं। अभी सारेगामापा लिटिल चैंप्स के लिए ऑडिशन का एक हफ्ता ही हुआ है। इनमें राजस्थान राज्य के सीकर जिले से असम अली खान का ऑडिशन बहुत शानदार रहा। जिनको प्यार से बच्चे अली साहब बुलाते हैं। अली साहब ने अपनी आवाज से Saregamapa Little Champs के सभी जजों को खड़े होकर अभिवादन करने के लिए मजबूर कर दिया। आइए अली साहब के बारे में आज की पोस्ट में विस्तार से जानते हैं।

अली साहब ने अपने पिताजी से ही संगीत सीखा है।

Saregamapa Little Champs मे धमाकेदार ऑडिशन देने वाले अली साहब राजस्थान राज्य के सीकर जिले से हैं। अली साहब की अभी उम्र 13 साल है और वे सीकर जिले के ही आकाशदीप पब्लिक स्कूल मे छठी क्लास में पढ़ते हैं। असम अली खान उर्फ अली साहब बहुत गरीब परिवार से आते हैं। लेकिन उनकी आवाज बहुत कीमती है। वह कहते हैं ना प्रतिभा किसी चीज की धनी नहीं होती है।यही बात अली साहब के बारे में बिल्कुल सच है।

अली साहब ने अपने पिताजी से ही music की शिक्षा प्राप्त की है। क्योंकि उनकी आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है कि वह किसी संगीत शिक्षक को पैसे दे सकें। इसलिए उन्होंने अपने पिताजी से ही घर में संगीत की शिक्षा प्राप्त की। उनके पिताजी भी संगीत में काफी  अच्छी प्रतिभा रखते हैं। जिनकी वजह से आज अली साहब नाम Rajasthan में रोशन हो रहा है।

Handwritten Notes के लिए फॉर्म भरे

स्कूल में म्यूजिक टीचर है, अली साहब।

जैसा कि बताया गया है कि अली साहब आकाशदीप पब्लिक स्कूल में छठी क्लास में पढ़ते हैं। लेकिन आप यह जानकर हैरान हो जाएंगे, कि अपने स्कूल में ही अली साहब म्यूजिक के टीचर भी हैं। आकाशदीप पब्लिक स्कूल के principal ने बताया, कि अली काफी अच्छी सिंगिंग करता है। यह काफी सारे सिंगिंग कंपटीशन भी जीत चुका है। हमारे स्कूल में music teacher की कमी थी। हमने संगीत टीचर की वैकेंसी भी निकाली थी, लेकिन अली साहब की प्रतिभा के सामने कोई भी टीचर नहीं टिक पाया।

Happy Diwali 2022 Wishes

CLC National Olympiad 2023 Application Form

उसके बाद स्कूल अथॉरिटी द्वारा यही सोचा गया, कि जब असम अली खान म्यूजिक के बारे में इतना ज्ञान रखता है, तो क्यों ना असम अली खान को ही  music teacher बना दिया जाए। और क्योंकि अली साहब के परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है, इसलिए उनकी स्कूल फीस को माफ कर दिया जाए। जिसके बाद School authority ने अली साहब को पूरे स्कूल का म्यूजिक टीचर बना दिया। जिसमें अलग-अलग क्लास के बच्चों को अली साहब म्यूजिक की शिक्षा देते हैं।

अली साहब के मां-बाप क्या कहते हैं?

अली साहब के मां बाप अपने बच्चे की प्रतिभा को देखकर बहुत खुश हैं। उन्होंने बताया कि हमें अपने बच्चे पर बहुत गर्व है। स्कूल से लेकर पूरे शहर तक, असम अली खान को बहुत पसंद किया जाता है। उनकी मधुर आवाज के लिए काफी लोग उनको सुनने के लिए आते हैं। स्कूल में भी उनकी आवाज की वजह से ही बच्चों ने उनको अली साहब कहना शुरू कर दिया है। आज सब उनको Ali Sahab के नाम से जानते हैं। मां बाप होने के नाते हमें अपने बच्चे की कामयाबी पर बहुत अच्छा लगता है।

Asham Ali of Sikar becomes Ali Sahab in Sa Re Ga Ma Pa L'il Champs

सारेगामापा लिटिल चैंप्स 2022 के ऑडिशन में अली साहब ने जजों को किया नतमस्तक।

अभी सारेगामापा लिटिल चैंप्स में देशभर से बच्चों के audition लिए जा रहे हैं। जिसमें उनकी आवाज के आधार पर सारेगामापा लिटिल चैंप्स में उनको चुना जाएगा। जिससे सभी मधुर आवाज वाले बच्चों के बीच एक अच्छी प्रतियोगिता करवाई जा सके। अभी सारेगामापा लिटिल चैंप्स के ऑडिशन का एक हफ्ता ही हुआ है। इसी मे अपना ऑडिशन देने अली साहब आए थे। शुरुआत से बताएं तो, जब जज Anu Malik जी ने कहा कि नए कंटेंस्टेंट्स को बुलाओ। तो एकदम से 20 से 30 बच्चे स्टेज पर आ जाते हैं।

अनु मलिक जी बोलते हैं,कि इतने सारे बच्चे एक साथ ऑडिशन देने। बच्चे बोलते हैं नहीं। ऑडिशन तो हमारे  म्यूजिक टीचर देंगे। ऐसा सुनकर सारे जज चौक जाते हैं। तभी हसमत अली खान उर्फ़ अली साहब आते हैं और उनके साथ स्कूल के प्रिंसिपल भी आते हैं। फिर जज शंकर महादेवन  द्वारा उनसे पूछा जाता है, कि आप कौन सी क्लास में हैं अली साहब बताते हैं मैं छठी क्लास में हूं और अपने स्कूल में म्यूजिक टीचर हूं। इसी तरह के कई सवाल विभिन्न जजों द्वारा अली साहब से पूछे जाते हैं।

जिसके बाद अली साहब को अपना audition देने के लिए कहा जाता है। अली साहब रमता जोगी का गाना सुनाते हैं। जिसको सुनने के बाद सारे जज खड़े होकर ताली बजाने लगते हैं। अनु मलिक जी कहते हैं उम्र बेटा तुम्हारी छोटी है लेकिन कला बहुत बड़ी है। सभी जज उनकी आवाज सुनकर बोलते हैं कि अब हम को यह पता चला कि आपको अली साहब क्यों कहा जाता है।

T20 World Cup 2022 Match Dates & Venue

Check Bounce से संबंधित सरकार लाने जा रही है नया नियम

इसके बाद अनु मलिक जी अली साहब से एक राग सुनने की फरमाइश भी करते हैं। अली साहब अनु मलिक जी के कहने पर राग सुनाने लगते हैं। उनके द्वारा जब राग सुनाया जाता है, तो सारे जज बीच में ही खड़े होकर ताली बजाने लगते हैं। फिर भी अली साहब अपना राग पूरा करते हैं। राग सुनाने के बाद पूरा सारेगामापा लिटिल चैंप्स तालियों की आवाज से गूंज उठता है। जिसके बाद शंकर महादेवन जी द्वारा बोला जाता है इनको तो गोल्ड दिया जाना चाहिए।

तब अली साहब को गोल्ड मेडल पहनाया जाता है।जिसके बाद उन्हें सीधा Top 12 कंटेस्टेंट में भेज दिया जाता है। इतना सब कुछ मिल जाने के बाद अली साहब जमीन को चूम लेते हैं और सभी जज तथा ऑडियंस का शुक्रिया अदा करते हैं।

Leave a Comment