आत्मनिर्भर भारत अभियान: ऑनलाइन आवेदन, लाभ, पात्रता \\ Aatm Nirbhar Yojana

By | April 26, 2021

आत्मनिर्भर भारत अभियान के बारे में सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में – इस Aatm Nirbhar Yojana का आप कैसे लाभ ले सकते है? आत्मनिर्भर भारत अभियान के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे होंगे और पात्रता क्या होगी? किस किस उद्योग और वर्ग को इसका फायदा मिलेगा?

कोरोनावायरस के कारण उत्पन्न हुए आर्थिक संकट से निपटने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 12 मई को अपने भाषण के दौरान 20 लाख करोड रुपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा की है। यह पैकेज देश की आर्थिक स्थिति सुधारने तथा देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रस्तावित किया गया है।

Aatm Nirbhar Abhiyan & Yojana

इसलिए इस योजना को आत्मनिर्भर भारत अभियान नाम दिया गया है। कोरोना वायरस की समस्या को देखते हुए, यह आर्थिक पैकेज छोटे बड़े उद्योगों तथा एमएसएमई को बड़ी राहत पहुँचाएगा। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने राहत पैकेज पर विस्तार से चर्चा करते हुए बताया है, 

KCC लाभार्थियों की सूचीमोबाइल फोन से देखे अपने बैंक खाते में शेष जमा राशि (बैलेंस)
एक क्लिक से देखे जन धन खाते की दूसरी किश्त जमा हुई या नहीं
बिहार आंगनबाड़ी लाभार्थी योजना

कि इस पैकेज के माध्यम से  सूक्ष्म,  लघु तथा मध्यम उद्योगों पर फोकस किया जाएगा । उन्होंने बताया है,  कि प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा प्रस्तावित इस आर्थिक पैकेज से एमएसएमई की परिभाषा बदल जाएगी। इसके तहत 100 करोड़ टर्नओवर वाले उद्योगों को अब लघु उद्योग की श्रेणी में रखा जाएगा। आपको बता दें कि यह आर्थिक पैकेज अभी तक का सबसे बड़ा ऐतिहासिक आर्थिक सहायता पैकेज है,  जो देश की जीडीपी का लगभग 10% है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 12 मई को 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा करके देश को आत्मनिर्भर बनाने का एक अनूठा प्रयास किया है। इसी को आत्मनिर्भर भारत अभियान नाम दिया गया है। विगत कुछ महीनों से कोरोना वायरस के प्रकोप से देश के सूक्ष्म,  लघु तथा मध्यम उद्योगों की स्थिति काफी बिगड़ गई है।

PM Aatm Nirbhar Yojana Online Application
PM Aatm Nirbhar Yojana Online Application

इस स्थिति से इन उद्योगों को उबारने के लिए इस आर्थिक पैकेज को मास्टर स्टॉक बनाकर पेश किया गया है। इस पैकेज से बहुत सारी इंडस्ट्री जैसे होटल, टेक्सटाइल तथा ऑटोमोबाइल आदि को फायदा होगा। साथ ही गरीब मज़दूरों तथा कर्मचारियों को भी लाभ मिलेगा। आत्मनिर्भर भारत अभियान में लैंड,  लेबर,  लिक्विडिटी तथा लॉस पर बल दिया गया है। 

प्रधानमंत्री जनधन योजना का लाभप्रधानमंत्री कौशल विकास योजना
प्रधानमंत्री आवास योजना के आवेदनप्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना

आत्मनिर्भर भारत योजना का उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य समृद्ध और संपन्न भारत का निर्माण करना है । आज हमारा देश कोरोनावायरस जैसी खतरनाक महामारी से संघर्ष कर रहा है । कोरोना महामारी भारत और पूरे विश्व के लिए सिरदर्द बन गई है। इससे हमारी अर्थव्यवस्था को काफी नीचे जा रही है। इस समस्या से उबरने के लिए, यह योजना 12 मई 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा आरंभ की गई है।इस योजना के माध्यम से देश के मज़दूर वर्ग छोटे-छोटे उद्योगों को लाभ होगा। (सभी PM मोदी सरकारी योजना )

जिससे वह देश तथा खुद को आर्थिक संकट से बचा सकेंगे। नरेंद्र मोदी जी के द्वारा राहत पैकेज की राशि 20 लाख करोड़ निर्धारित की गई है,  जो देश की जीडीपी का लगभग 10 % है।  जीडीपी के लिहाज से यह दुनिया का पांचवा सबसे बड़ा राहत पैकेज है । देखा जाए तो आर्थिक पैकेज के मामले में सिर्फ जापान,  अमेरिका, स्वीडन, ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी ही भारत से आगे हैं। सरकार अभी तक 7.79 लाख करोड़ की घोषणा कर चुकी है । यानि आने वाले दिनों में 12.21 लाख करोड़ की घोषणाये होने वाली है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनाप्रधानमंत्री किसान मानधन योजना
सुकन्या समृद्धि योजना प्रधानमंत्री उज्जवला योजना

यह  पैकेज एमएसएमई तथा दिहाड़ी मज़दूरों, मध्यमवर्ग और उद्योग जगत सहित तमाम वर्गों के लिए है। यह राहत पैकेज सूक्ष्म तथा लघु कुटीर उद्योगों को अत्यधिक प्रभावशाली बनाएगा। इस योजना का मुख्य उद्देश्य देशवासियों को आत्मनिर्भर बनाना है। आज हमारा देश कोरोना के कारण आर्थिक संकट से लड़ रहा है। केंद्र सरकार तथा माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा एक योजना की पहल की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने समय-समय पर सही निर्णायक फैसले लिए हैं ।

जो कोरोना जैसे संकट से लड़ने के लिए काफी मददगार साबित हुए हैं। इस योजना के द्वारा भारतीय जनता को आत्मनिर्भर तथा स्वदेशी अपनाने और उन्हें जागृत करने की प्रेरणा दी जा रही है। यह योजना इस समय निश्चित रूप से बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।और इस देश को विकास की ओर ले जाएगी।

ऐसी स्थिति में हमारा लक्ष्य होना चाहिए कि हम सब एक साथ कदम से कदम मिलाकर ऐसे हालातों का सामना करें और इस भारत देश तथा भारतीय नागरिकों को कोरोना जैसी महामारी से मुक्त कराएं। आपदा के अवसर में बदलने का यह हमारे पास सुनहरा अवसर है,जो कि यह नरेंद्र मोदी जी के द्वारा एक सही समय पर लिया गया निर्णायक फैसला है।

 आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प- आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प मोदी जी के द्वारा लिया गया है। जिसे पूरा करना समस्त भारतीय नागरिकों का कर्तव्य है। इसे एक श्लोक के द्वारा मोदी जी ने समझाया है।

  • सर्व परवश दुखम,
  • सर्व आत्मवस सुखं।

अर्थ-जो दूसरों के बस में होता है वह दुखी है। और जो अपने बस में होता है वह सुखी है ।

आत्मनिर्भर बनाने की आवश्यकता-भारत कई बार बहुत बड़ी-बड़ी घातक बीमारियों जैसे टीवी, पोलियो कुपोषण, प्लेग आदि से लड़ा है। इसी प्रकार आज भी हमारा संकल्प कोरोना वायरस आपदा पर विजय प्राप्त करना है। किसी देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए पांच चीजों की आवश्यकता होती है।

  • 1.  अर्थव्यवस्था 
  • 2. आर्थिक संरचना
  • 3.  प्रणाली
  • 4.  जन सांख्यकी
  • 5. मांग और आपूर्ति

आत्मनिर्भर भारत अभियान के लाभार्थी

  • 1. देश का गरीब नागरिक
  • 2. श्रमिक
  • 3. प्रवासी मज़दूर
  • 4. पशु-पालक
  • 5. मछुआरे
  • 6. किसान
  • 7. संगठित क्षेत्र व असंगठित क्षेत्र के व्यक्ति
  • 8. काश्तकार
  • 9. कुटीर उद्योग
  • 10. लघु उद्योग
  • 11. मध्यमवर्गीय उद्योग

आत्मनिर्भर भारत अभियान से होने वाले लाभ- माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने कोरोना महामारी रूपी इस आपदा को राहत पैकेज के जरिए अवसर में बदलने का एक प्रयास किया है। और आत्मनिर्भर भारत योजना का शुभारंभ किया है । यह योजना देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी ।

इस आर्थिक सहायता पैकेज से सभी सेक्टरों में सम्पनता बढ़ेगी और देश की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। इस योजना से देश का प्रत्येक नागरिक लाभान्वित होगा। इस योजना से जुड़ी जानकारी को अपडेट ऑफिशल वेबसाइट  https://www.pmindia.gov.in/en/पर प्राप्त की जा सकती है।

  • 1. 10 करोड़ मज़दूरों को लाभ होगा
  • 2. MSME से जुड़े 11 करोड़ कर्मचारियों को फायदा
  • इंडस्ट्री से जुड़े 3.8 करोड़ लोगों को लाभ पहुँचेगा
  • 3. टेक्सटाइल इंडस्ट्री से जुड़े 4.5 करोड़ कर्मचारियों को लाभ पहुँचेगा |
  • 4. ये आर्थिक पैकेज हमारे कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, हमारे लघु-मंझोले उद्योग,  हमारे MSME के लिए है, जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन है |
  • 5. इस आर्थिक पैकेज से गरीब,मज़दूरों, कर्मचारियों के साथ ही होटल तथा टेक्सटाइल जैसी इंडस्ट्री से जुड़े लोगों को फायदा होगा।
  • 6. 20 लाख करोड़ रुपये का आर्थिक राहत पैकेज से परेशानी में जूझ रहे कई सेक्टर्स और उद्योग, खासकर एमएसएमई को बहुत राहत मिलेगी।
  • 7. ऑटमोबाइल सेक्टर इस राहत पैकेज से एक बार फिर से खड़ा हो जाएगा । यह सेक्टर देश मे रोजगार उपलब्ध कराने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ।

सूक्ष्म उद्योग – पहले सुक्ष्म उद्योग के तहत आने वाले मैन्युफैक्चरिंग एंटरप्राइज के लिए पहले निवेश की सीमा पहले 25 लाख और सर्विस इंटरप्राइज के लिए दस लाख रुपए थी अब निवेश सीमा को बढ़ाकर एक करोड़ कर दिया गया है। इसके अलावा पांच करोड़ रुपए के टर्नओवर तक के उद्योगों को सूक्ष्म उद्योगों में  रखा जाएगा। इन्हें पहले की तरह सारी सुविधाएँ उपलब्ध कराई जाएंगी।

लघु उद्योग – पहले लघु उद्योग मैन्युफैक्चरिंग एंटरप्राइज और सर्विस एंटरप्राइज के लिए निवेश की सीमा क्रमश: पांच करोड़ और दो करोड़ रुपए रखी गयी थी। अब सरकार ने इसे बढ़ाकर दस करोड़ कर दिया गया है। साथ ही 50 करोड़ तक का टर्नओवर होने पर उन्हें लघु उद्योग में रखा गया है तथा सरकार के द्वारा इस श्रेणी की हर सरकारी छूट दी जाएगी।

मध्यम उद्योग -पहले मध्यम उद्योग के तहत  मैन्युफैक्चरिंग एंटरप्राइज और सर्विस एंटरप्राइज के लिए निवेश की सीमा क्रमश: दस करोड़ और पांच करोड़ रुपए रखी गयी थी जो अब सरकार ने बढ़ाकर 20 करोड़ कर दी है। इसके साथ ही 100 करोड़ तक का टर्नओवर होने पर उन्हें लघु उद्योग की श्रेणी की हर सरकारी छूट दी जाएगी।

हाल में ही केंद्र सरकार ने एमएसएमई के लिए 3 लाख करोड़ रुपए के कि बिना गारंटी लोन की घोषणा की है। सरकार के अनुसार इससे 45 लाख एमएसएमई को फायदा मिलेगा, जिसमें 12 करोड़ से अधिक लोग काम कर रहे हैं। यह ऑटोमेटिक लोन होगा। इसकी समय सीमा 4 साल की होगी। साथ ही लोन के  पहले साल में मूलधन चुकाने की आवश्यकता नही पड़ेगी।

एमएसएमई के तहत-घोषणाएँ-

जब आज देश कोरोना के संकट से गुज़र रहा है। देश की अर्थव्यवस्था जर्जर हो चुकी है । ऐसे में देश को इस संकट से उबारने के लिए आर्थिक राहत पैकेज के तहत केंद्र सरकार ने एमएसएमईस सूक्ष्म तथा लघु उद्योगों के लिए कई  घोषणाएं की है। एमएसएमई देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्ड़ी है । यह अकेले ही देश मे 12 हज़ार से अधिक रोज़गार पैदा करता है। 

  • 1. एमएसएमईस सहित व्यापार के लिए 3 लाख करोड रूपए़ ऋण दिया जायेगा।
  • 2.  एमएसएमईस के लिए 20000 करोड़ रु. का अधीनस्थ ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।
  • 3.  एमएसएमईस के फंड के माध्यम से  50000 करोड़ रुपये इक्विटी इन्फ्यूशन के फंड के माध्यम से उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • 4. ग्लोबल टेंडर अब  200 करोड़ रुपये तक का होगा
  • 5.  एमएसएमईस को नए तरीके से परिभाषित किया जाएगा।
  • 6. 3 और महीनों के लिए व्यापार और श्रमिकों के लिए 2500 करोड़ रुपये का ईपीएफ समर्थन दिया जाएगा।
  • 7. ईपीएफ अंशदान 3 महीने के लिए व्यापार और श्रमिकों के लिए कम हो गया है।
  • 8. एनबीएफसीएस / एचसी / एमएफआई के लिए 30000 करोड़ रुपये की तरलता सुविधा प्रदान की जा रही है।
  • 9. एनबीएफसी के लिए 45000 करोड़ रुपये की आंशिक क्रेडिट गारंटी योजना लागू कर दी गयी है।
  • 10. DISCOM के लिए 90000 करोड़ रुपये की तरलता इंजेक्शन प्रदान होगा।
  • 11. टीडीएस / टीसीएस कटौती के माध्यम से 50000 करोड़ रुपये की तरलता दी जाएगी।
  • 12. RERA के तहत रियल एस्टेट परियोजनाओं के पंजीकरण और पूर्णता तिथि का विस्तार किया जाएगा।
  • 13. ठेकेदारों को भी राहत दी जाएगी ।

आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेज के अंतर्गत महत्वपूर्ण एरिया-

  • 1. कृषि प्रणाली 
  • 2. सरल और स्पष्ट नियम कानून 
  • 3. उत्तम आधारिक संरचना 
  • 4. समर्थ और संकल्पित मानवाधिकार 
  • 5. बेहतर वित्तीय सेवा 
  • 6.  नए व्यवसाय को प्रेरित करना 
  • 7. निवेश को प्रेरित करना 
  • 8. मेक इन इंडिया 

इस प्रकार से केंद्र सरकार के द्वारा शुरू की गई आत्मनिर्भर भारत योजना देश के विकास के लिए महत्वपूर्ण साबित होगी । तथा राहत पैकेज से उद्योग जगत में फिर से रौनक आ जायेगी । आर्थिक राहत पैकेज से मज़दूरों से लेकर उद्योगों और आम नागरिकों को लाभ मिलेगा । अंत मे हम यही निष्कर्ष निकाला सकते की यह एक कल्याणकारी योजना साबित होगी ।जिससे देश पहले से अच्छी स्थिति में नज़र आएगा।

follow us for social updates

26 thoughts on “आत्मनिर्भर भारत अभियान: ऑनलाइन आवेदन, लाभ, पात्रता \\ Aatm Nirbhar Yojana

  1. Omdutt Panchal

    Sir me contractor hu mujhe khud ka business karna h mujhe 20,00000 Loan chahiye
    Me Aatmnerbhar Benna chhata hu
    Jai Hind Jai Bhart. 9896216582

    Reply
  2. ABDUL SOBUR SARKAR

    Village-BARAR. Post-BARAR. Police station-MEMARI. District-PURBA BARDDHAMAN – 713146

    Reply
  3. ABHISHEK KUMAR CHOUHAN

    KRIPYA PAATRATA SAMBANDHI JAANKAARI DEEJIYE. OR AAVEDAN FOM ACTIVATE KEEJIYE

    Reply
  4. Dilip Kumar

    Cctv camera and home security system, computer science and sales

    Reply
  5. Swarup dahal

    Modi ji hame v loan chahiye.me chota sa gau ka kisan yojana tahat loan chahiye.me kisan hu

    Reply
  6. Aakash Sharma

    Me but grib hu me bikhlàg h meje peseo ki jrur h tkai me kuch kam kr ke apne bhacho ki khilasku
    Me aakash Sharma ka pita hu

    Reply
  7. Koshal kumar mishra

    Ham bhi majdur aadami hai sar hamare liye bhi koi Yojana hai

    Reply
    1. Dilip Kumar

      Cctv camera and home security system, computer science and sales

      Reply
  8. Ajay chouhan

    I want start trading jwellery so i would required 25 laks loan so pls help to start this busines because my job gone due to covid19

    Reply
  9. Malinder rathore

    Sir ,mujhe 2 lakh rupay ki jarurat
    Me 1 poor farmer
    Mera 1 business karna chahta hu

    Reply
  10. Amit Kumar

    Sir me bhut garib hu mujhe bhut jaurat h lone de dijiye

    Reply
  11. Rakesh Kumar Saini

    मेकेनिक का काम करता हु 9694565758
    मेरे को हेल्फ कि जरूरत है

    Reply
  12. Saroj Varan singh

    Please help me sir. I am want take to lone of business because delhi in job gone. Ab kud apna work karna hi pdega sir . My Contect no.

    Reply
  13. Vijay narayan gautam

    I want 10 lacks loan to grow our business

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *