4 लाख रूपये का मुआवजा योजना को बढ़ाया जाए-कोरोना से मौत होने पर Death Certificate पर मौत का कारण स्पष्ट लिखा जाए |

By | May 26, 2021

4 लाख रूपये का मुआवजा योजना को बढ़ाया जाए,सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि कोरोना से मौत होने पर Death Certificate पर मौत का कारण स्पष्ट लिखा जाए, लोगों ने भी माँग राखी कि 400000 रूपये का मुआवजा दिए जाने वाली योजना की अवधि को भी बढ़ाया जाए |

हम सभी जानते ही हैं, कि आज के समय में अगर सबसे ज्यादा मौत हो रही हैं तो उसका मुख्य कारण कोरोनावायरस है l कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण लोगों में एक डर का माहौल बन चुका है l पहले कोरोनावायरस के कारण लोग संक्रमित हो रहे थे परंतु मौत के आंकड़े कम थे l जब से Corona Virus Second Stage In India आई है, तब से मौत के आंकड़े सब Record तोड़ चुके हैं l

हाल ही में ही रिसर्च के आधार पर यह दावा किया जा रहा है, कि कुछ ही समय बाद कोरोनावायरस की तीसरी लहर भारत में दस्तक दे देगी l यह तीसरी लहर छोटे बच्चों के लिए काफी खतरनाक मानी जा रही है lभारत में ऐसे बहुत सारे परिवार हैं, जिन्होंने Coronavirus के कारण अपने परिवार के सदस्यों को खो दिया है l बहुत परिवार ऐसे हैं जिन्होंने अपने परिवार में से ऐसे लोगों को खो दिया है,

जिसके द्वारा घर का खर्चा चलाया जाता था ऐसे लोगों के पास अब आमदनी का कोई भी साधन नहीं है l ऐसे में अगर सरकार के द्वारा उन लोगों की आर्थिक रूप से मदद की जाए जिनके परिवार के सदस्य कोरोनावायरस के कारण इस दुनिया से चले गए हैं तो यह सरकार के द्वारा बहुत ही अच्छा कदम होगा l

Death Certificate News

अभी हाल ही में ही एक मामला सामने निकल कर आया है, जिसमें परिवार वालों ने कोर्ट में यह शिकायत की है कि कोरोनावायरस से मरने वाले व्यक्ति के Death Certificate पर मौत का कारण कोरोनावायरस क्यों नहीं लिखा जा रहा है l

केंद्र सरकार को 10 दिन का नोटिस देते हुए Court ने यह पूछा है, कि डेथ सर्टिफिकेट पर मौत का कारण कोरोनावायरस क्यों नहीं लिखा जा रहा है l इस मामले की अगली सुनवाई 11 June 2021 को होनी निर्धारित है lपरिवार वालों ने इसलिए शिकायत की है, कि सर्टिफिकेट पर मौत का कारण ना लिखे होने से उन्हें मुआवजा मिलने में बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है l आइए जानते हैं, पूरी खबर के बारे में –

लोगों के द्वारा स्कीम को बढ़ाए जाने की की जा रही है मांग l

मामला यह है, कि 2015 में Central Government  के द्वारा एक योजना की शुरुआत की गई थी l उस योजना के अनुसार कुछ आपदा या बीमारी नोटिफाइड की गई थी l जिसके तहत ऐसा कोई भी व्यक्ति जो योजना में नोटिफाइड बीमारी के तहत मर जाता है, तो उसे सरकार की तरफ से ₹400000 का मुआवजा दिया जाएगा l यह योजना 2015 में शुरू की गई थी l अब यह योजना खत्म हो चुकी है l Corona Virus से मरने वाले लोगों के परिजनों के द्वारा यह अपील की जा रही है, कि इस योजना को और आगे बढ़ाया जाए ताकि लोगों को कुछ आर्थिक सहायता मिल पाए l

यदि Death Certificate  पर मौत का Reason नहीं लिखा होगा, तो मरने वाले के परिजनों को ₹400000 का मुआवजा नहीं मिलेगा l कोरोनावायरस के कारण मरने वाले लोगों के डेथ सर्टिफिकेट पर मौत का कारण कोरोनावायरस ना लिखकर फेफड़े व हृदय कारण लिखा जा रहा है l कारण ना लिखा जाने की वजह से मृतक के परिजनों को मुआवजा नहीं मिल पा रहा है l इसीलिए ही कोर्ट में यह अपील की गई है, कि जब भी कोई कोरोनावायरस के कारण मरीज मरता है तो उसके डेथ सर्टिफिकेट पर मौत का कारण कोरोनावायरस लिखा जाए ताकि मुआवजा मिलने में आसानी हो पाए l

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *