12वीं के बाद क्या करें और जाने आगे की तैयारी कैसे करे|

By | January 27, 2021

12वीं में प्रवेश  लेने के बाद से ही एक विद्यार्थी के जीवन में सबसे महत्वपूर्ण हो जाता है कि उसे 12वीं के बाद क्या करना है? उसे क्या करियर चुनना है? और मुश्किल  तब और बढ़ जाती है जब आप 12वीं पास कर चुके हों और लोग आपसे आगे की रणनीति पूंछ रहे हैं और आप सोच रहे हैं कि ये करूं या वो या कुछ और?सर्वप्रथम पहचानें अपनी क्षमता

नमस्कार दोस्तों-Result Uniraj टीम आपको इस पेज में यह जानकारी देगी की, अगर आपने अभी अभी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण की है, तो अब आप आगे कौनसा कोर्स करे | इसकी जानकारी पाने के लिए आप इस पेज को आखिर तक जरूर पढ़े |

अगर आप यह आलेख पढ़ रहें हैं तो ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इस आलेख में आपको करियर से जुड़ी वो तमाम छोटी-छोटी जानकारियां और उचित मार्गदर्षन देने कीे हमारा पूरा प्रयास है। हमारा उद्देष्य है कि 12वीं पास कर चुके विधार्थी  को अनभिज्ञता के चलते अपने महत्वपूर्ण समय खराब न करना पड़े। ताकि उसमें हीन भावना न पनपे, क्योंकि हर व्यक्ति में कुछ अलग गुण है, अगर वो उस गुण को पहचान कर उस मार्ग पर चलेगा तो प्रतिषत उसका सफल होना तय है।

English Grammar Notes PDFIndian Geography Notes PDF
गणित के नोट्स हिन्दी मेराजस्थान भूगोल महत्वपूर्ण नोट्स

दरअसल पहले एक जमाना था, जब स्टूडेंट्स के सामने ज्यादा विकल्प नहीं होते थे, लेकिन आज करियर का चुनाव इतना कठिन नहीं रह गया है। आज हर क्षेत्र में सैंकड़ों विकल्प है। संचार क्रान्ति ने हर क्षेत्र के परिदृष्य को बदल कर रख दिया है। आज हर क्षेत्र में तकनीकि का बोलबाला है। पहले 12वीं के बाद सभी विद्यार्थियों के मन में दुविधा रहती थी कि क्या करें लेकिन आज तो 10वीं से ही स्टूडेंट्स और उसके परिवारीजन करियर को लेकर सचेत हो जाते हैं।

जाने 12 वी कक्षा के बाद में क्या करे

यदि स्टूडेंटस कन्फ्रूज है कि ग्रेजुएषन करें या फिर कोई प्रोफेषनल या वोकेषनल कोर्स या फिर कौनसी स्ट््रीम को चुनें आदि कन्फ्रूजन में परेषान होना लाजिमी है।

12th ke bad me kya course karna chahiye
12th ke bad me kya course karna chahiye


करियर काउंसलरों के अनुसार, करियर को लेकर परेषान छात्र को सबसे पहले देखना चाहिए कि उसकी योग्यता के अनुसार से आज मार्केट की क्या डिमांड है। वह अपनी रूचि अनुसार उन क्षेत्रों में अपनी स्कील डेवलप कर, अपने आप को और अधिक बेहतर बना सकता है और खुद को बेहतर साबित कर अपनी मार्केट वेल्यू बढ़ा सकता है। साथ ही कोर्स चयन के दौरान लॉन्ग टर्म फायदें को देखना चाहिए ना कि षार्ट टर्म फायदे के चक्कर में स्टूडेंट को अपना भविष्य के साथ खिलवाड़ करना चाहिए।

पढ़ने-पढ़ाने के शौकीन  बने शिक्षक 

शिक्षक  क्षेत्र सदैव ही आदरणीय क्षेत्र रहा है। इस क्षेत्र में आगे बढ़ने वाले लोगों का जीवन दूसरों के जीवन में ज्ञान का प्रकाश लाना रहता है। वहीं आज इस क्षेत्र में समय और वेतन की बात की जाए तो और क्षेत्रों की अपेक्षा बहुत अच्छा है। सरकारी शिक्षक की वेतन और सरकारी अवकाष और समयावधि के अनुसार आज इस क्षेत्र में नौकरी की मारामारी है।

Rajasthan Economy NotesHindi Grammar Notes in PDF
राजस्थान इतिहास महत्वपूर्ण टॉपिक्स एवं नोट्सReasoning Study Material in Hindi

यदि विद्यार्थी को पढ़ने-पढ़ाने का षौक है तो 12वीं में लिए विषयों में से किसी एक विषय पर प्रभुत्ता( पीएचडी) या नेट क्वालिफाई कर वह किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय या कॉलेज में टीचर या प्रोफेसर बन कर अपना षानदार करियर बना सकता है। या फिर बीएड उत्तीर्ण करने के बाद टैट क्वालीफाई करने के बाद गर्वमेंट टीचर बन सकता है।

सरकारी जॉब के लिए कर सकते हैं तैयारी

12वीं पास छात्र के पास अब बहुत ऑप्षन है जिसमें वह सरकारी विभागों में हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट पास के लिए आवेदन करने के लिए तैयारी कर सकते हैं। इसके लिए किसी अच्छी कोचिंग से लगातार एक साल की कड़ी तैयारी के बाद रेलवे, क्लर्क, बाबू आदि पदो के लिए आवेदन कर सकते हैं।
इसके अलावा मर्चेण्ट नेवी, पुलिस फोर्स, इण्डियन रेलवे, फ्रीलांस जॉब, ग्राफिक्स डिजाइनर आदि कई स्ट्रीम्स में आप ट्राई कर सकते हैं।

12वीं आर्ट के बाद क्या करें

अधिकतर छात्रों को आर्ट सब्जेक्ट(कला विषय) मतलब बीए(बैचलर इन आर्टस) में ही सिर्फ स्नातक(बैचलर)डिग्री लेनी होती है ताकि वह तैयारी के साथ अपना व्यवसाय भी देख सकें। आर्ट्स में भी स्पेषीलिटी होती है इनमें बीए इन साइक्लोजी, हिस्ट्री, आर्कलॉजी, इकोनॉमीकस, जर्नलिज्म एडं मास कम्यूनिकेषन, इंग्लिस, हिन्दी, मलयालम, साषोलॉजी, पॉलीटिक्स, जियोग्राफी, इंडीयन कल्चर, सोषल वर्क आदि भी कर सकते हैं।

भारत में प्रथम व्यक्ति (सूची)Free Download Indian GK PDF
सरकारी नौकरी की तैयारी कैसे करे PM Modi सरकारी योजनाओं की पूरी जानकारी

इसके अलावा कई ऐसे कोर्स भी है जिनके एक साल का डिप्लोमा कर आप आसानी से जॉब पा सकते हैं। बीबीए(बैचलर ऑफ बिजनिस एडमिनीस्ट्रेषन), बीएमएस(बैचलर आफ मैनेजमेंट साइंस), बीएफए(बैचलर इन फाइन आर्टस), बीएमएम(बैचलर इन होटल मैनेजमेंट),

बीईएम(बैचलर इन ईवेंट मैनेजमेंट), एलएलबी (लॉ कोर्स), बीएफडी(बैचलर आफ फैषन डिजाइनिंग), बीईएजु(बैचलर आफ ऐलेमेनट्री एजुकेषन), बीएसडब्लयू(बैचलर आफ सोषल वर्क), एनीमेषन एंड मल्टीमीडिया कोर्स, बीआरएम(बैचलर आफ रिटेल मैनेजमंेट), एवीएषन कोर्स(केबिन कू्र), बीटीटीएम(बैचलर आफ ट्रेवल्स एंड टूं्ररिज्म मैनेजमेंट)

प्रोफेषनल कोर्स है सदाबहार

12 वीं के बाद आप किसी प्रोफेषनल कोर्स में भी एडमिषन ले सकते हैं। जिसमें बैचलर ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट(बीबीए), बैचलर ऑॅफ कम्प्यूटर ऐप्लिकेषंस(बीसीए), डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी, बैचलर इन इंफॉर्मेषन टैक्नॉलजी(बीआईटी), रिटेल मैनेजमेंट, बीएससी(कम्प्यूटर स्टडीज),

डिप्लोमा इन एडवर्टाइजिंग, प्रमोषन ऐंड सेल्स मैनेजमेंट, ट्रैवल्स एंड टूरिज्म, फैषन डिजाइनिंग, इवेंट मैनेजमेंट, पब्लिक रिलेषन, बैचलर इन जर्नलिज्म(बीजे) और मास्टर इन जर्नलिज्म(एमजे) आदि कोर्स करने के बाद आसानी से षुरूआत में इंटर्नषीप के बाद उस कंपनी में या फिर अन्य दूसरी कंपनी में जॉब लग जाती है।

साइंस स्ट्रीम के लिए करियर Option

यदि आप के पास इण्टरमीडिएट में साइंस सब्जेक्ट था तो आप का सपना इंजीनियर बनने का अवष्य होगा। क्योंकि इंजीनियर की सैलरी के साथ डिमांड भी बहुत है। इंजीनियरिंग के लिए बीटेक करना पड़ता है, जिसके लिए स्टूडेंट्स के पास भौतिक, रसायन और गणित (फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स) होना जरूरी है।

पीसीएम( फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स ) से आप के पास करीबन आधा दर्जन से अधिक इंजीनियरिंग के ऑप्षन है। जैसे सीविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलैक्ट्रानिक इंजीनियरिंग, इलैक्ट्रानिक एंड कम्यूनिकेषन इंजीनियरिंग, इलैैक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, कम्प्यूटर साइंस, इनफॉरमेषन सिस्टम, इंस्टूमेनषन इंजीनियरिंग और इलैक्ट्रोनिक्स एंड इंस्टू्रमेनटेषन इंजीनियरिंग।

मेडीकल कोर्स

भौतिक, रसायन और जीवविज्ञान(फिजिक्स, कैमिस्ट्री और बॉयोलॉजी) से आपने इण्टरमीडिएट पास की है तो आपके पास मेडीकल फील्ड में जाने का अवसर है। इन विषयों द्वारा छात्र चिकित्सा क्षेत्र में कदम रख सकता है। जैसे एमबीबीएस(बैचलर ऑफ मेडीसीन एंड बैचलर आफ सर्जरी), बीडीएस(बैचलर ऑफ डेन्टल सर्जरी), बीएचएमएस(बैचलर ऑफ होम्योपैैथीक मेडीसिन एंड सर्जरी),

बीएएमएस(बैचलर आफ आयुर्वेदिक मेडीसिन एंड सर्जरी), बीफामा(बैचलर आफ फार्मेर्सी), बीएससी(नर्सिंग), बीपीटी(बैचलर आफ फिजिरियोथेरेपी), बीओटी(बैचलर ऑफ ऑक्यूपेषनल थैरेपी), बीयूएमएस(बैचलर ऑॅफ यूनानी मेडीसिन), डीफार्मा(डिप्लोमा इन फार्मंेसी), बीएमएलटी(बैचलर आफ मेडीकल लैब टैक्निषयन), डीएमएलटी(डिप्लोमा आफ मेडिकल लैब टैक्नीषियन), आदि

कॉमर्स स्ट्रीम के अवसर

कॉमर्स स्ट्रीम फील्ड में सीधे तौर पर छात्र एकाउंटेन्ट(मुंषी) पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकता है। इसके अलावा सीए(चाटर्ट एकाउंटेंट) की पढ़ाई कर एक प्रतिष्ठित नौकरी प्राप्त कर सकता है। सीए का मुख्य कार्य कम्पनी के एकाउंट बनाना, फाइनेंसिय एडवाइस, टैक्स प्लानिंग,

बैंक ऑडिट, बिजनिस एकाउंटेंट आदि काम होता है।
इसके अलावा बीबीए(बैचलर आफ बिजनिस एडमिनीस्ट्रेषन)है, जिसके बाद एमबीए(मास्टर इन बिजनिस एडमिनीस्ट्रेषन) के बाद जॉब ऑप्रेचुनेलिटी बढ़ जाती है। साथ ही बीएमएस(बैचलर डिग्री आफ मैनेजमेंट स्टडीज) भी आपको मल्टीनेषनल कम्पनियों में प्रतिष्ठित जॉब दिलाने में सहायक है।

follow us for social updates

One thought on “12वीं के बाद क्या करें और जाने आगे की तैयारी कैसे करे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *