कोरोना में म्यूकरमाइकोसिस सबसे बड़ा खतरा-जाने किस बीमारी वाले मरीजों को विशेष ध्यान रखना होगा |

By | May 21, 2021

कोरोना की दूसरी लहर में Mucormycosis नामक संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा डायबिटीज और कोविड मरीजों को है, AIIMS दिल्ली में स्थित के डायरेक्टर डॉ गुलेरिया ने Black fungus infection के बारे में विस्तृत जानकारी दी है, Black fungus infection के मामले देश के कई राज्यों में देखने को मिले है |

कोरोना महामारी के कारण देश पूरी तरह परेशान है, क्योंकि कोरोनावायरस के कारण मरने वाले लोगों की संख्या में दिन-प्रतिदिन वृद्धि होती जा रही है। अब यह बीमारी तो ठीक हुई नहीं और देश में एक दूसरी खतरनाक बीमारी का आगमन हो गया है, जोकि इससे भी ज्यादा खतरनाक है l उस बीमारी के कारण मरने वाले लोगों की संख्या भी काफी ज्यादा है l

Black Fungus News 21 May 2021
Cowin Covid-19 Vaccine Online Registration Form

इस बीमारी का नाम Mucormycosis है। जिसे Black fungus के नाम से भी जाना जाता है। हाल ही में Director of AIIMS Delhi डॉ रणदीप गुलेरिया ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर के बीच चल रहे ब्लैक फंगस कि स्थिति पर बात की है।

Mucormycosis को लेकर हुई चर्चा ?

दिल्ली में स्थित ऐम्स के डायरेक्टर डॉ गुलेरिया ने यह कहा है, की म्यूकरमाइकोसिस के बीजाणु मिट्टी, हवा तथा भोजन में भी पाए जा सकते हैं l मगर यें काफी कमजोर होते हैं और आमतौर पर संक्रमण का कारण नहीं बन सकते। लेकिन अब कोरोनावायरस के संक्रमण के कारण इस बीमारी के बहुत से मामले सामने आ रहे हैं l इसका कारण यह है, कि कोरोनावायरस के कारण व्यक्ति की Immunity का स्तर काफी घट जाता है जिसके कारण इस बीमारी के बीजाणु व्यक्ति पर असर करते हैं।

Mucormycosis Disease News

भारत के कई राज्यों में ब्लैक फंगस के 500 से भी अधिक मामले सामने आए

डॉ रणदीप गुलेरिया ने यह बताया है, कि अब तक इस Black fungus infection से संक्रमित 23 मरीजों का AIIMS Hospital में इलाज चल रहा है। इनमें से कुल 20 मरीज अभी भी कोरोनावायरस से संक्रमित है और बाकी के लोग कोरोनावायरस के संक्रमण से ठीक हो चुके हैं। डॉ रणदीप गुलेरिया ने यह भी बताया है, कि भारत में बहुत से राज्यों में Mucormycosis Disease के 500 से भी अधिक मामले सामने आ चुके हैं।

म्यूकरमाइकोसिस का सबसे बड़ा कारण है स्टेरॉइड 

एम्स हॉस्पिटल के निदेशक ने यह कहा है, कि यह बीमारी व्यक्ति के चेहरे, नाक, आंख की ऑर्बिट तथा दिमाग को भी प्रभावित कर सकती है जिससे कि आपकी देखने की क्षमता भी खत्म हो सकती है। Doctors का कहना है, कि यह बीमारी फेफड़ों तक भी फैल सकती है l लेकिन उन्होंने इन सब के पीछे का कारण Steroids बताया है,

क्योंकि लंबे समय तक स्टेरॉयड का सेवन भी व्यक्ति के शरीर को अंदर से खोखला बना देता है। इसके अतिरिक्त Diabetes व Coronavirus से पीड़ित व्यक्ति इस बीमारी की चपेट में इसलिए आ रहे हैं, क्योंकि इन दोनों बीमारियों के कारण ही व्यक्ति के शरीर की Immunity घट जाती है l जिसके कारण Black fungus infection के बीजाणु नाक के माध्यम से व्यक्ति के शरीर में प्रवेश करके उसे हानि पहुंचाते हैं।

सभी अस्पतालों में प्रोटोकॉल का पालन करना है जरूरी

डॉ रणदीप गुलेरिया ने यह भी बताया है, कि कोरोनावायरस के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं l अब ऐसे में सबसे ज्यादा जरूरी यह है ,कि हम सभी अस्पतालों में संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए सभी Protocols का पूरी तरह से पालन करें। सभी Protocols का पालन करने से ही अब इस बीमारी के कारण मरने वाले लोगों की संख्या को कम किया जा सकता है l इसी के साथ- साथ Director of AIIMS Hospital ने यह भी बताया कि, अब Black Fungus Infection भी दूसरा सबसे बड़ा अधिक मृत्यु दर का कारण बन रहा है।

follow us for social updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *